हिमाचल प्रदेश के त्यौहार पर निबंध Himachal ke tyohar essay in hindi

Himachal ke tyohar essay in hindi

Himachal ke tyohar – दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से हिमाचल प्रदेश के त्यौहार के बारे में बताने जा रहे हैं । तो चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और इस आर्टिकल को पढ़कर हिमाचल प्रदेश के त्यौहारो पर लिखे निबंध के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करते हैं ।

Himachal ke tyohar essay in hindi
Himachal ke tyohar essay in hindi

हिमाचल प्रदेश के त्यौहारो के बारे में – हिमाचल प्रदेश भारत का सबसे सुंदर और अद्भुत राज्य है । भारत देश का सुंदर प्रदेश हिमाचल प्रदेश के कई  सुंदर त्यौहार है ।हिमाचल प्रदेश में साजो त्यौहार सबसे अधिक मनाया जाने वाला त्यौहार है । यह त्यौहार ग्राम देवताओं को  विदाई देने के उद्देश्य से मनाया जाता है । भारत देश के हिमाचल प्रदेश में यह त्यौहार व्यापार , धर्म , मौसम एवं खेल के उद्देश्य से मनाया जाता है । इसके बाद हिमाचल प्रदेश में हसर त्यौहार बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है ।

यह त्यौहार लाहौल जिले में सबसे अधिक मनाया जाता है । हसर त्यौहार हिमाचल प्रदेश में तिब्बती नव वर्ष के रूप मे हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है । इस त्यौहार के बारे में ऐसा कहा जाता है कि यह त्यौहार सर्दियों के मौसम का स्वागत करने के लिए भी मनाया जाता है । इस त्यौहार पर हिमाचल प्रदेश की संस्कृति दिखाई देती है । इस त्यौहार पर नृत्य का आयोजन भी किया जाता है । इसके बाद हिमाचल प्रदेश का सबसे ज्यादा मनाया जाने वाला त्यौहार हल्दा त्यौहार है । जिस त्यौहार को बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है ।

यह त्यौहार हिमाचल प्रदेश में अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार जनवरी के महीने में मनाया जाने वाला त्यौहार है । दोस्तों इस त्यौहार की तारीख लामास तय करता है । इसके बाद हिमाचल प्रदेश में मनाया जाने वाला त्यौहार फुलिच त्यौहार है । इस त्यौहार को अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार सितंबर महीने में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है । यह त्यौहार हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में मनाया जाता है । जिस त्यौहार पर सभी लोग नए कपड़े पहनते हैं और सभी एकत्रित होकर भगवान की पूजा अर्चना करते हैं । इस त्यौहार को फूलों का त्यौहार भी कहा जाता है ।

यह त्यौहार हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में तकरीबन 8 दिनों तक मनाया जाता है । इस त्यौहार पर किन्नौर जिले के रहवासी भगवान को रंगीन कपड़ों से सजाते हैं और भगवान को गहनों से भी सजाया जाता है । इस त्यौहार पर वहां के लोग बकरी की बलि भी देते हैं । इसके बाद हिमाचल प्रदेश का सबसे ज्यादा मनाया जाने वाला त्यौहार डूंगरी महोत्सव है । डूंगरी उत्सव हडिंबा देवी के जन्मदिन के उपलक्ष में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है । जिस त्यौहार में कई कलाकारों को बुलाया जाता है और उन कलाकारों के द्वारा नृत्य और संगीत का प्रदर्शन किया जाता है ।

जिस प्रदर्शन को देखने के लिए लोग एकत्रित होते हैं जिससे इस महोत्सव में चार चांद लग जाते हैं । इसके बाद हिमाचल प्रदेश का कुल्लू दशहरा सबसे ज्यादा प्रसिद्ध त्यौहार है । यह त्यौहार अक्टूबर के महीने में आयोजित किया जाता है । कुल्लू दशहरा भारत देश में , भारत देश के सभी राज्यों में मनाया जाने वाला दशहरा जैसा नहीं मनाया जाता है । कुल्लू दशहरा के पर्व पर ना तो रावण का पुतला दहन किया जाता है और ना ही कुंभकरण का । यह उत्सव हर्षोल्लास के साथ वहां के लोगों के द्वारा मनाया जाता है और कुल्लू दशहरा पर भगवान रघुनाथ जी की पूजा अर्चना की जाती है ।

इसके बाद हिमाचल प्रदेश का सबसे ज्यादा मनाया जाने वाला त्यौहार लोहड़ी का त्यौहार है । जिस त्यौहार को माघी के नाम से भी जाना जाता है । यह त्यौहार हिमाचल प्रदेश के कुल्लू क्षेत्र में मनाया जाता है । यह त्यौहार कुल्लू क्षेत्र में जनवरी महीने में मनाया जाता है । इसके बाद हिमाचल प्रदेश में सबसे ज्यादा मनाया जाने वाला त्यौहार नवाला त्यौहार है । जिस त्यौहार को हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है और यह त्यौहार भगवान शिवजी की उपासना करने के लिए मनाया जाता है । इसके बाद हिमाचल प्रदेश में सबसे ज्यादा मनाया जाने वाला त्यौहार जागरा त्यौहार है जिस त्यौहार को सितंबर के चौथे दिन में आयोजित किया जाता है ।

इस त्यौहार पर हिमाचल प्रदेश के सभी रहवासी भगवान की पूजा करते हैं और नाचते , गाते हैं ।इस त्यौहार पर महासू देवता की पूजा , अर्चना की जाती है । इसके बाद हिमाचल प्रदेश में सबसे ज्यादा मनाया जाने वाला त्यौहार हरियाली त्यौहार है । यह त्यौहार हिमाचल प्रदेश के रहवासी हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं । इस तरह से हिमाचल प्रदेश में यह सभी त्यौहार हर्षोल्लास के साथ सभी लोग मनाते हैं ।

 दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह बेहतरीन लेख हिमाचल प्रदेश के त्यौहार पर निबंध Himachal ke tyohar essay in hindi यदि आपको पसंद आए तो सबसे पहले आप सब्सक्राइब करें । इसके बाद अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों में शेयर करना ना भूलें । दोस्तों यदि आपको इस लेख में कुछ कमी नजर आए तो आप हमें उस कमी के बारे में हमारी ईमेल आईडी पर अवश्य बताएं जिससे कि हम उस कमी को दूर करके यह आर्टिकल आपके समक्ष पुनः प्रस्तुत कर सकें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *