गीता गोपीनाथ की जीवनी Gita gopinath biography in hindi

Gita gopinath biography in hindi

Gita gopinath – दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से गीता गोपीनाथ के जीवन परिचय के बारे में बताने जा रहे हैं । तो चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और इस आर्टिकल को पढ़कर गीता गोपीनाथ के जीवन परिचय के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करते हैं ।

Gita gopinath biography in hindi
Gita gopinath biography in hindi

Image source – https://commons.m.wikimedia.org/wiki/File:Gita_Gopin

गीता गोपीनाथ के जन्म स्थान व् परिवार के बारे में – गीता गोपीनाथ अर्थशास्त्र के प्राध्यापक और हाल ही की स्थिति में मुद्रा कोष की मुख्य अर्थशास्त्री हैं । गीता गोपीनाथ का जन्म 8 दिसंबर 1971 को भारत देश के मैसूर में हुआ था  जो कर्नाटक राज्य मे है । इनके पिता का नाम टी. वी. गोपीनाथ है । जो केरल राज्य के कन्नूर जिले के निवासी हैं । गीता गोपीनाथ के पिता एक किसान हैं । जो खेती करके अपना और अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं । गीता गोपीनाथ के पिता उनको बचपन से ही शिक्षा की ओर बढ़ा कर देश के विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए  कहते थे ।

गीता गोपीनाथ का यह कहना है कि उनके पिता उनको बचपन से ही पढ़ने लिखने के महत्व के बारे में बताया करते थे ।

गीता गोपीनाथ की शिक्षा के बारे में – गीता गोपीनाथ के पिता उनको बचपन से ही शिक्षा की ओर अपने कदम बढ़ाने के लिए कहा करते थे और गीता गोपीनाथ को प्रारंभिक शिक्षा उनके माता-पिता के द्वारा घर पर ही  मिली थी । जब उनकी उम्र पढ़ने-लिखने की हुई तब उनको उनके माता-पिता के द्वारा पास ही के एक स्कूल में भर्ती करा दिया गया था । जहां से उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त की थी । वह अपना ध्यान स्कूल शिक्षा मे लगाने लगी थी । अपनी स्कूली शिक्षा प्राप्त करने के बाद वह आगे की पढ़ाई करने के लिए दिल्ली आ गई और उन्होंने दिल्ली के लेडी श्री राम कॉलेज विश्वविद्यालय में एडमिशन ले लिया था ।

जहां से वह अपनी कॉलेज की पढ़ाई करने लगी थी और इसी कॉलेज से गीता गोपीनाथ ने 1992 में स्नातक की डिग्री प्राप्त की थी । गीता गोपीनाथ ने लेडी श्री राम कॉलेज दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री प्राप्त कर ली थी । इसके बाद वह और भी आगे की शिक्षा प्राप्त करना चाहती थी जिसके लिए उन्होंने वाशिंगटन विश्वविद्यालय मे अपना एडमिशन करवा लिया था । वाशिंगटन विश्वविद्यालय में अपना एडमिशन करा लेने के बाद वह यहां से m.a. की पढ़ाई करने लगी थी ।

1993 में उन्होंने वाशिंगटन विश्वविद्यालय से एम ए की पढ़ाई पूरी की थी । जब गीता गोपीनाथ ने m.a. की पढ़ाई पूरी कर ली थी तब उन्होंने पीएचडी करने का फैसला किया था जिसके लिए वह प्रिंसटन विश्वविद्यालय से पढ़ाई करने लगी थी और सन 2001 में उन्होंने प्रिंसटन विश्वविद्यालय से पीएचडी की डिग्री प्राप्त की थी ।

गीता गोपीनाथ के कैरियर के बारे में – जब गीता गोपीनाथ ने पीएचडी की डिग्री प्राप्त कर ली थी तब वह हावर्ड विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र  विषय को एक प्राध्यापक के रूप में पढ़ाने लगी थी । इसके साथ-साथ गीता गोपीनाथ केरल के मुख्यमंत्री की वित्तीय सलाहकार भी रह चुकी हैं  । गीता गोपीनाथ की शिक्षा और अर्थशास्त्र में संपूर्ण ज्ञान को देखते हुए 2018 में उनको आईएमएफ अनुसंधान विभाग का निदेशक बनाने की घोषणा की गई थी । इसके बाद 2019 में उनको आईएमएफ की मुख्य अर्थशास्त्री के रूप में चुन लिया गया था ।

जब यह कार्यभार गीता गोपीनाथ को दिया गया तब वह अपनी सभी जिम्मेदारियां ईमानदारी से निभा रही हैं । आईएमएफ की मुख्य अर्थशास्त्री के रूप में इनको इसलिए चुना गया था क्योंकि यह पद खाली था ।  जैसे ही यह पद खाली हुआ इस पद को भरने के लिए इनको चुना गया था । आईएमएफ की मुख्य अर्थशास्त्री के रूप में जब इनको चुना गया तब यह देश की पहली महिला थी जो इस पद को संभाल रही है ।गीता गोपीनाथ को वित्तीय संगठन के मुख्य आर्थिक सलाहकार की जिम्मेदारी दी गई है और वह इस जिम्मेदारी को बखूबी निभा रही हैं ।

गीता गोपीनाथ पहली महिला  जो मुद्रा कोष की 11वीं मुख्य अर्थशास्त्री बनी है । गीता गोपीनाथ एक अनुभवी अर्थशास्त्री हैं जिनके पास अर्थशास्त्र में काफी ज्ञान है । उनके ज्ञान को देखते हुए  भारत सरकार के द्वारा गीता गोपीनाथ को मुद्रा कोष के अर्थशास्त्री चुनी गई हैं । गीता गोपीनाथ को जब यह पद दिया गया तब यह कहा जा सकता है कि गीता गोपीनाथ इस पद पर रहकर अपनी सभी जिम्मेदारियां इमानदारी और पूरी जिम्मेदारी से निभाएंगी क्योंकि गीता गोपीनाथ के द्वारा जो भी कार्य प्राध्यापक रहकर किए गए हैं वह सभी कार्य पूरी जिम्मेदारी के साथ उन्होंने पूरे किए गए हैं ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह बेहतरीन आर्टिकल गीता गोपीनाथ का जीवन परिचय Gita gopinath biography in hindi यदि आपको पसंद आए तो सबसे पहले आप सब्सक्राइब अवश्य करें । उसके बाद अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों में शेयर करना ना भूले । दोस्तों यदि आपको इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद कुछ कमी या गलती नजर आए तो आप हमें कृपया कर उस गलती के बारे में हमारी ईमेल आईडी पर  अवश्य बताएं जिससे कि हम उस गलती को सुधार कर यह आर्टिकल आपके समक्ष पुनः प्रस्तुत कर सकें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *