यदि मै पक्षी होता “Paragraph on yadi main pakshi hota in hindi”

Paragraph on yadi main pakshi hota in hindi

हेलो माय डिअर फ्रेंड कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज का हमारा ये आर्टिकल यदि मैं पक्षी होता आप सभी को बहुत ही अच्छा लगेगा.
दोस्तों मैं आप सभी के लिए आपकी मदद के लिए बहुत से आर्टिकल आपके समक्ष प्रस्तुत कर चुका हूं आज का हमारा आर्टिकल भी आपकी हेल्प के लिए लिखा गया है दरअसल यह आर्टिकल हमारी एक सोच है,हमारी एक कल्पना है अक्सर स्कूलों में इस तरह के पैराग्राफ लिखने के लिए स्टूडेंट्स से कहा जाता है हम उनकी हेल्प के लिए ये आर्टिकल आपके लिए प्रस्तुत करने जा रहे हैं चलिए पढ़ते हैं हमारे आज के इस आर्टिकल को

Paragraph on yadi main pakshi hota in hindi

हम जब भी आसमान की ओर देखते हैं तो हमें आसमान में बहुत से पक्षी उड़ते हुए दिखाई देते हैं हम सोचते हैं कि काश मैं भी पक्षी होता तो कितना अच्छा होता.पक्षी आसमान में उड़ कर वातावरण का आनंद लेते हैं और चारों ओर चहचाह करते रहते हैं.पक्षी बच्चों को बहुत ही पसंद होते हैं दोस्तों अगर मैं भी पक्षी होता तो मैं भी आसमान में उड़कर ऊंचाइयों को छू सकता था जहां पर पहुंचने के अक्सर लोग सपने देखा करते हैं.

मैं ठंडी ठंडी हवा का आनंद ले रहा होता पक्षी हवा में उड़कर एक जगह से दूसरी जगह पर बहुत ही तीव्र गति से आसानी से पहुंच जाते हैं लेकिन इंसान को चलकर जाने में काफी समय लगता है अगर मैं पक्षी होता तो अपने किसी भी रिश्तेदार से आसानी से मिल सकता था अगर मैं पक्षी होता तो किसी भी ऐसे स्थान पर आसानी से पहुंच सकता था जहां पर पहुंचना मुझे बहुत अच्छा लगता है.पक्षी अक्सर पहाड़ों की चोटी पर बैठे रहते हैं पक्षी पेड़ों की डालियों पर बैठे-बैठे अपनी मधुर धुन में गाते रहते हैं जो हर किसी को भाता है.

अगर मैं भी पक्षी होता तो मैं भी पेड़ों पर बैठकर चिल्लाता और अपने मधुर गान से हर किसी को मोहित कर देता.एक इंसान सिर्फ चल सकता है दौड़ सकता है लेकिन वह उड़ नहीं सकता क्योंकि भगवान ने उसे उड़ने के लिए पंख नहीं दिए हैं पक्षी उड़ कर कहीं भी आ जा सकते हैं अगर मैं पक्षी होता तो किसी भी अपने करीबी रिश्तेदार से आसानी से मिल सकता था.

दोस्तों पक्षियों की चिल्लाने की आवाज,पक्षियों का हवा में उड़ना,एक दूसरे के पीछे भागना,पेड़ों पर बैठकर चहचहाना,हर किसी को पसंद है अगर मैं पक्षी होता तो मुझे बहुत ही खुशी मिलती,मैं हमेशा खुश रहता. बचपन में जब भी मैं आसमान की ओर देखता था तो मुझे पक्षियों को आकाश में उड़ते हुए देखते हुए काफी खुशी महसूस होती थी जब मैं पतंग उड़ाता था तो सोचता की काश में उड़ सकूं.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल Paragraph on yadi main pakshi hota in hindi पसंद आए तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा फेसबुक पेज लाइक करना न भूले और हमें कमेंट्स के जरिए बताएं कि आपको हमारा ये आर्टिकल कैसा लगा.अगर आप हमारी अगली पोस्ट सीधे अपने ईमेल पर पाना चाहें तो हमें सब्सक्राइब जरूर करें.

6 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *