हंस पक्षी पर निबंध Essay on Swan Bird in Hindi Language

Essay on Swan Bird in Hindi Language

दोस्तों अक्सर स्कूल की परीक्षाओं में विद्यार्थियों से कई विषय पर निबंध पूछे जाते हैं आज का हमारा निबंध भी स्कूलों की परीक्षा में विद्यार्थियों से पूछा जा सकता है इससे बच्चे अच्छी तैयारी कर सकते हैं साथ में हंस के बारे में भी यहां से आप अच्छी जानकारी ले सकते हैं तो चलिए पढ़ते हैं हमारे आज के इस निबंध को

Essay on Swan Bird in Hindi Language
Essay on Swan Bird in Hindi Language

हंस एक बहुत ही अच्छा पक्षी होता है इसकी कई प्रजातियां भी होती हैं हंस सफेद रंग का होता है लेकिन यह अन्य देशों में अलग रंग का भी होता है। हंस की लाल चोंच होती है उसका सफेद रंग होता है और बड़े-बड़े पंख होते हैं। वह ज्यादातर तालाब, नदी, सरोवरों में रहना पसंद करते हैं। हंस को प्यार और पवित्रता का प्रतीक भी माना जाता है हिंदू धर्म में हंस को मारना बुरा माना जाता है।

हंस बीज, छोटे-मोटे कीड़े मकोड़े आदि खाना पसंद करता है हंस और हंसिनी साथ में जब विचरण करते हैं तो लोगों को बहुत भाता है जब हंस और हंसिनी एक साथ विचरण करते हैं तो वह बहुत ही अच्छे लगते हैं। कई कथाओं में भी हंस के बारे में बताया जाता है। हंस माता सरस्वती का वाहन होता है हंस को पानी में रहना बहुत ही भाता है।

कहते हैं कि अगर हंस और हंसिनी में से अगर किसी की मृत्यु हो जाए तो हंस या हंसिनी अपना पूरा जीवन अकेले ही बिता देते है वह जीवन भर सिर्फ एक ही साथी बनाता है। कहते हैं कि इस पक्षी में दूध और पानी को अलग करने की भी क्षमता होती है यह बहुत ही शांत किस्म का पक्षी होता है या पक्षियों में सर्वश्रेष्ठ है इसका मूल निवास स्थान कैलाश पर्वत के पास स्थित मानसरोवर है वास्तव में हंस एक बहुत ही अच्छा पक्षी होता है।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल Essay on Swan Bird in Hindi Language पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *