अगर परीक्षा न होती पर निबंध Agar pariksha na hoti essay in hindi

Agar pariksha na hoti essay in hindi

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज का हमारा ये आर्टिकल Agar pariksha na hoti essay in hindi आप सभी के लिए बहुत ही हेल्पफुल है. दोस्तों जैसे की हम सभी जानते हैं कि हमारे देश में विद्यार्थियों के लिए समय-समय पर परीक्षा का आयोजन किया जाता है इसमें स्टूडेंट से लिखित में परीक्षा ली जाती है इस परीक्षा के जरिए अध्यापक ये अंदाजा लगाते हैं की स्टूडेंट पढ़ने में कितना इंटेलिजेंट है

Agar pariksha na hoti essay in hindi
Agar pariksha na hoti essay in hindi

परीक्षा का हमारे देश में आयोजन शुरु से ही होता हुआ आ रहा है. बच्चे परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए साल भर तैयारी करते हैं और कॉलेज स्टूडेंट सेमेस्टर प्रणाली के तहत हर 6 महीने में अपनी परीक्षा देते हैं और कुछ समय बाद उसका परिणाम घोषित किया जाता है वाकई में परीक्षा हर स्टूडेंट के लिए बडी ही लाभप्रद साबित होती है.

हर स्टूडेंट सालभर यह सोचकर तैयारी करता है कि मुझे परीक्षा में उत्तीर्ण होना है अगर उसको अपनी परीक्षा की तैयारी करने के लिए स्कूल के अलावा कोचिंग की जरूरत पड़ती है तो वह अलग से कोचिंग लगवाता है और अपनी परीक्षा की तैयारी और भी बेहतर करने की कोशिश करता है क्योंकि वह हर हालत में उत्तीर्ण होना चाहता है यह सब काफी समय पहले से चला रहा है आज के हमारे इस आर्टिकल में आप पढ़ेंगे कि यदि परीक्षा ना होती पर निबंध

यदि परीक्षा ना होती तो हमें कोई भी भय नहीं होता हर एक विद्यार्थी यह सोच कर पढ़ाई करता है कि आने वाले समय में उसकी परीक्षा हो और वह उतीर्ण हो लेकिन अगर परीक्षा ही ना होती तो उसे किसी भी तरह का भय नहीं होता और वह परीक्षा की तैयारी नहीं करता वाकई में परीक्षा का भय ही एक स्टूडेंट के लिए लाभप्रद साबित होता है.

यदि परीक्षा ना होती तो स्टूडेंट पढ़ाई नहीं करते और हमारा देश पिछड़ता जाता बच्चों को तरह तरह के खेल खेलने में बहुत ही अच्छा लगता है. वह क्रिकेट,कबड्डी इस तरह के तरह तरह के खेल खेलते रहते हैं इनमें उनकी बहुत ही रुचि होती है यदि परीक्षा ना होती तो बच्चे दिन दिन भर खेलते रहते और इस वजह से ज्ञान प्राप्त करने के लिए वह ज्यादा समय नहीं लगाते और उनका भविष्य अंधकारमय हो सकता था इसलिए परीक्षा हर एक बच्चे स्टूडेंट्स के लिए बड़ी ही लाभदायक साबित होती है.

परीक्षा के डर से बहुत से स्टूडेंट्स रात-रात भर भी पढ़ाई करते हुए देखे जाते हैं वह सुबह जल्दी जागते हैं और पढ़ाई करते हैं लेकिन अगर परीक्षा ना होती तो इस तरह का पढ़ाई करने का मन ना होता और वह जिंदगी में पीछे रह जाते,जिंदगी में कुछ भी खास नहीं कर पाते.

Related-यदि वर्षा न होती तो पर निबंध Yadi varsha na hoti essay in hindi

इसके तहत हम सभी जानते हैं कि हमारे भारत देश का विकास बच्चों पर ही निर्भर करता है बच्चे हमारे देश के आने वाले भविष्य होते हैं, अगर परीक्षा ना होती तो बच्चों की स्थिति खराब होती जिस वजह से हमारे भारत देश में कोई भी बच्चा कुछ खास नहीं करता,कोई उपलब्धि नहीं पाता और हमारा भारत देश पीछे रह जाता क्योंकि बच्चों के दम पर ही हमारे आने वाले भारत देश का भविष्य निर्भर करता है और इसके अलावा जब परीक्षा होती है तो एक अध्यापक को,स्टूडेंट्स को और मां-बाप को छात्र कितना योग्य पता चलता लेकिन  अगर परीक्षा ना होती तो यह पता लगाना संभव नहीं होता.

परीक्षा होने के कारण हर मां बाप अपने बच्चों को उसकी योग्यता के अनुसार आगे की पढ़ाई करवाते हैं साथ में परीक्षा होने से हर स्टूडेंट्स को भी पता लगता है कि वह कितने काबिल है जिस वजह से वह अपनी आगे की पढ़ाई जारी रखता है वास्तव में परीक्षा होना हर एक स्टूडेंट के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है अगर समय-समय पर परीक्षा होती है तो हर एक स्टूडेंट अपना समय पढ़ाई करने में लगाता क्योंकि उसे परीक्षा के परिणामों का भय होता जिस वजह से वह अपने आपको इधर-उधर नहीं भटकने देता.

बच्चे बहुत ही नाजुक होते हैं अगर उनके पास ज्यादा समय हो यानी वह अपनी पढ़ाई पर कोई ध्यान ना दें तो उनके पास बहुत समय होगा जिस वजह से वह समाज की कुछ बुराइयों के घेरे में आ सकते हैं क्योंकि बुरी संगत बहुत ही जल्दी लग जाती है जिस वजह से हमारे देश के बच्चों की स्थिति खराब होती और हमारे देश को विकास करने में अवरुद्ध पैदा होता इसलिए परीक्षा का होना हर तरह से हर एक इंसान के लिए फायदेमंद होता है.

अक्सर देखा जाता है कि बच्चे परीक्षा में पास होने के लिए नकल का सहारा लेते हैं और कभी कभी तो इनका सहयोग करते हैं लेकिन इसमें हमारे बच्चों का भी नुकसान होता है क्योंकि बच्चे हमारे और हमारे देश का भविष्य होते हैं अगर बच्चे परीक्षा में नकल करेंगे तो वह सही से पढ़ाई करने की ओर विशेष ध्यान नहीं दे पाएंगे जिस वजह से वह भले ही पास हो जाएं लेकिन जिंदगी में प्रगति नहीं कर पाएंगे इससे हमारा ही नहीं हमारे देश के भविष्य को भी नुकसान होगा.

परीक्षा होने के कारण हर एक अध्यापक या मां बाप को पता लगता है कि इस स्टूडेंट की किस विषय में क्या कमजोरी है वह उस कमजोरी को समझकर उसको दूर करने का प्रयास करते हैं लेकिन अगर परीक्षा ना होती तो वह उस कमजोरी को पहचान नहीं पाते और ना ही बच्चों की कमजोरी को दूर करते जिस वजह से यह उनकी थोड़ी सी कमजोरी आगे आने वाले समय में उनके भविष्य में परेशानी पैदा करती इसलिए परीक्षा होना बहुत ही जरूरी है इससे हमें बहुत ही लाभ हैं.

दोस्तों अगर आपको हमारा यह आर्टिकल Agar pariksha na hoti essay in hindi पसंद आए तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंट के जरिए बताएं कि आपको हमारा ये आर्टिकल Agar pariksha na hoti essay in hindi कैसा लगा.अगर आप चाहे हमारे अगले आर्टिकल को सीधे अपनी ईमेल पर पाना तो हमें सब्सक्राइब जरूर करें.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *