कुत्ते की आत्मकथा निबंध kutte ki atmakatha essay in hindi

kutte ki atmakatha essay in hindi

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से कुत्ते की आत्मकथा पर लिखें इस निबंध के बारे में बताने जा रहे हैं । चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और कुत्ते की आत्मकथा पर लिखें इस काल्पनिक निबंध को गहराई से पढ़ते हैं ।

kutte ki atmakatha essay in hindi
kutte ki atmakatha essay in hindi

image source –https://www.dailymotion.com/video/x4x3vgp

मैं कुत्ता बोल रहा हूं , मैं घरों की चौकीदारी करने के काम में आता हूं । मुझे लोग सुबह के समय मॉर्निंग वॉक के लिए ले जाते हैं । मैं बहुत ही अच्छा दिखाई देता हूं । मुझे लोग अपने घरों में पालते हैं । मेरे साथ सुबह उठकर मॉर्निंग वॉक के लिए जाते हैं । पुलिस वालों से लेकर मिलिट्री के लोग मेरा उपयोग करते हैं । मैं किसी भी चीज को एक बार यदि सूंघ लू  उसकी सुगंध को मैं कभी भूलता नहीं हूं । मेरा उपयोग पुलिस वाले चोर को ढूंढने में करते हैं । मैं किसी भी चीज को सूंघ कर वहां पर पहुंचने में समर्थ हूं ।

मुझे लोग अपने मेन गेट पर बांधकर रखते हैं और गेट के बाहर यह लिखवा देते है की अंदर एक खतरनाक कुत्ता बंधा हुआ है । जब कोई चोर घर के अंदर  घुसने की कोशिश करता है तब मैं भोकने लगता हूं और मेरी आवाज सुनकर  घर के सभी लोग सचेत हो जाते हैं । यदि कोई अनजाना व्यक्ति घर के अंदर बिना अनुमति के प्रवेश करता है तो मैं उसे काट लेता हूं । जब मैंं किसी को काट लेता हूं तब उसको इंजेक्शन लगवाने पड़ते हैं ।

मैं बहुत ही खतरनाक जानवर हूं । मैं अपने मालिक का वफादार नौकर हूं । मेरे मालिक मुझे अच्छा भोजन देते हैं । मैं बहुुत तेजी से दौड़ सकता हूं । मैं हर वक्त घर की चौकीदारी करने में लगा रहता हूं । मेरे कारण ही चोर को चोरी करने में बहुत परेशानी होती हैै । यदि मैं नहींं होता तो चोर किसी केे भी घर पर आसानी सेे चोरी कर लेता । मेरे मालिक मुझे ग्राउंड में भी ले जातेे हैं और गेंद से खिलातेे हैं । सुबह के समय मेरे मालिक के द्वारा मुझेेेे दूध रोटी दी जाती है ।

मेरे कई रंग होतेे हैं । व्यक्तियों की पहचान करनेेे में भी मेरा उपयोग किया जाता है । यदि मैं किसी के पीछे भागता हूं तो  मेरे डर से लोग अपनी जान बचाने के लिए भागते हैं क्योंकि मुझसे लोग डरते हैं । वह यह जानते हैं कि यदि मैंनेे किसी को काट लिया  तो  इंजेक्शन  लगवाने पड़ेंगे ।बहुत लोग मुझे पालने का शौक रखते हैं । बैंकों में भी मेरा उपयोग किया जाता है । मुझे दौड़ लगानेे में आनंद आता है । मैं बहुत ही सुंदर और अच्छा जानवर हूं । मैं कभी भी अपने मालिक केे साथ गद्दारी नहींं करता हूं ।

कुछ लोग मुझे कमरेेेे के बेड पर अपने साथ सुलाते हैं । मुझे मेरे मालिक के द्वारा प्रातः काल में नहलाया जाता है । मेरे साथ बच्चे खेलतेे हैं और मुझे बहुत प्रेेम करते हैं । मैं शाकाहारी भोजन भी कर सकता हूं और मांसाहारी भोजन भी कर सकता हूं । मेरी आंखें बहुत तेज होती हैं । मैं एक बार किसी को देख लूं तो कभी उसे भूलता नहीं हूं । मेरी याददाश्त बहुत तेज है । यदि कोई व्यक्ति मुझे परेशान करता है तो मैंं उसे काट लेता हूं । जो मुझसेे दोस्ती करता है उसकेेेे साथ में मैंं अच्छा व्यवहार रखता हूं ।

मैंं हमेशा शान से जीता हूं । मैं अपनी नाक केे द्वारा किसी भी चीज को सूंघकर उसके पास पहुंंच जाता हूं । मैं लोगों को प्यारा लगता हूं  । मुझे लोग कई नामोंं से पुकारते हैं । मेरा असली नाम कुत्ता है । जब मैं किसी की चौकीदारी करने के लिए जाता हूं तब मेरा नाम रख दिया जाता है । कोई मुझे टोनी कहता हैै तो कोई मुझे अन्य नाम से पुकारता है । जब कोई मेरा नाम लेकर मुझे बुलाता है तब मैंं दौड़ लगाकर उसके पास पहुंच जाता हूं ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह जबरदस्त लेख कुत्ते की आत्मकथा निबंध kutte ki atmakatha essay in hindi यदि पसंद आए तो शेयर अवश्य करें धन्यवाद ।

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *