यमुना नदी पर निबंध व कविता Yamuna river essay & poem in hindi

Yamuna river essay in hindi

दोस्तों कैसे हैं आप सभी, दोस्तों आज हम आपके लिए लाए हैं हमारे देश की यमुना नदी के बारे में लिखित निबंध तो चलिए पढ़ते हैं यमुना नदी पर लिखित निबंध को

यमुना नदी हमारे देश की नदी है यह एक विशाल नदी है यह यमुनोत्री से निकलती है और इलाहाबाद में गंगा नदी से संगम करती है। यमुना नदी की लंबाई 1376 किलोमीटर है यह नदी बहुत सारे शहरों को जोड़कर रखती है इस नदी के किनारे पर ही आगरा का ताजमहल स्थित है इसके अलावा बहुत सारे धार्मिक स्थल भी इस यमुना नदी पर भी हैं इसकी गंगा नदी सबसे बड़ी सहायक नदी है इसके अलावा बेतवा नदी,चंबल नदी भी इसकी सहायक नदियों में से हैं।

यह जिस स्थान यानी यमुनोत्री से निकलती है वह स्थान एक पहाड़ी इलाका है यह यमुना नदी वहां से निकलते हुए कई तरह की पहाड़ियों और घाटियों से गुजरती है यह नदी कई जगह पर अधिक गहरी है तो कहीं जगह पर कम गहरी है

Yamuna river essay in hindi
Yamuna river essay in hindi

इलाहाबाद, मथुरा जैसे धार्मिक स्थल हैं जहां से यमुना नदी गुजरती है लोग यहां पर दर्शन करने के लिए आते हैं, स्नान आदि करते हैं। मथुरा जो की श्री कृष्ण भगवान के लिए प्रसिद्ध है वहीं इलाहाबाद में भी कई देवी-देवताओं के देव स्थल हैंधार्मिक ग्रंथों के अनुसार कहा जाता है कि यमुना के पिता सूर्य देवता और यमुना के भाई मृत्यु के देवता यमराज हैं. हमें इनके बारे में कुछ कहानियां भी ग्रंथों में मिलती हैं। कहते हैं जब मां सती की मृत्यु हो गई थी तब शिव शंकर जी काफी दुखी हुए थे और वह यमुना नदी में गए तो यमुना नदी ने उनका सारा दुख अपने में समा लिया इसी वजह से यमुना नदी का रंग भी काला हो गया था तभी से यमुना नदी का रंग काला है।

यमुना नदी काफी प्रसिद्ध नदी है यह धार्मिक रीति रिवाज से भी पूजनीय है लेकिन फिर भी आजकल यमुना प्रदूषण से नहीं बची है। दिल्ली,मथुरा, आगरा जैसे शहरों में यमुना नदी काफी प्रदूषित है आज के जमाने में लोग कहीं तरह के अपने फायदे के लिए उद्योग धंधे चलाते हैं उनसे निकलने वाले हानिकारक पदार्थ और वहां के आसपास के गांव के लोगों के द्वारा त्यागे जाने वाले मल-मूत्र से यमुना नदी निरंतर प्रदूषित हो रही है यह सब इस नदी में मिल जाते हैं और यमुना नदी को प्रदूषित करते हैं।

एक और जहां हम देखें तो दिल्ली, मथुरा जैसे शहरों के लिए ये नदी बहुत ही हेल्पफुल है लेकिन लगातार प्रदूषण भी वहीं पर बढ़ता जा रहा है जिस वजह से सरकार भी कई तरह के प्रयत्न करती है जिससे यमुना प्रदूषण से बच सकें। यमुना हमारे देश की पवित्र नदी है यह धार्मिक नदी है हमें चाहिए कि हम इसको प्रदूषित ना करें। सरकार भी इसको स्वच्छ रखने के लिए कहती है इसके लिए वह कई तरह के प्लान तैयार भी करती है लेकिन आज भी यमुना नदी प्रदूषण से नहीं बची है। हमारा कर्तव्य है कि हम सब मिलकर इस यमुना नदी को प्रदूषण से बचाये।

यमुना नदी को प्रदूषण से बचाए How to save yamuna river from pollution in hindi

यमुना नदी हमारे देश की एक धार्मिक नदी है यह एक पवित्र नदी मानी जाती है लेकिन लगातार प्रदूषण से इसका जल प्रदूषित हो रहा है। यमुना नदी को प्रदूषण से बचाए रखने के लिए सरकार द्वारा भी कई निर्देश दिए जाते हैं कई करोड़ों रुपया यमुना नदी को स्वच्छ रखने के लिए खर्च किए जाते हैं और और कोर्ट भी कई तरह के निर्देश देता है जिससे ये नदी स्वच्छ रह सके लेकिन जब तक लोग यमुना नदी के बारे में नहीं सोचेंगे तब तक कुछ नहीं हो सकता

जिन लोगों को यमुना नदी साफ करने का कार्य दिया जाता है वह लोग जागरुक नहीं होते और अपने काम को सही ढंग से नहीं करते। जो भी इस कार्य में ढीलढाल देता है सरकार को चाहिए कि उसके खिलाफ एक्शन ले इसके अलावा सरकार और कई संगठनों को इसकी निगरानी करना चाहिए।

अगर यमुना नदी को स्वच्छ रखने के ऊपर स्कूलों में भी पाठ पढ़ाया जाए तो वास्तव में हर कोई इस और जागरुक हो सकेगा और प्रदूषण से हम अपनी यमुना नदी को बचा सकेंगे। दिल्ली, मथुरा जैसे बड़े-बड़े शहरों के कारखानों से निकलने वाला हानिकारक पदार्थ और यमुना नदी के किनारे पर बसे हुए लोगों का मल-मूत्र यमुना नदी में बहता है तो यमुना नदी प्रदूषित हो जाती है। सभी को समझने की जरूरत है और पहल करने की जरूरत है वास्तव में हमें जागरुक होने की जरूरत है कि यमुना नदी को हम प्रदूषित ना करें।

कुछ खबरों के मुताबिक जिन एमसीडी गाड़ियों को गलियों का कचरा फेंकने का काम दिया जाता है जिससे वह नदी नालों से होते हुए यमुना नदी में ना मिले वही एमसीडी की गाड़ियां यमुना नदी में घरों का कचरा फेंक देती हैं जिससे यमुना प्रदूषित हो रही है। सरकार को इस ओर विशेष ध्यान देने की जरूरत है और लोगों के साथ यमुना नदी को प्रदूषित होने से बचाने की जरूरत है क्योंकि यमुना नदी एक पवित्र नदी है।

यमुना नदी पर कविता poem on yamuna river in hindi

यमुनोत्री से निकलती है
खुशियों में ये झूमती है
ना कुछ ये हमसे लेती है
अपना जल हमको देती है

यमुना नदी को न प्रदूषित कीजिए
पवित्र नदी को स्वच्छ तुम कीजिए
यमुना की पवित्रता ना भूलिए
अपने जीवन में खुशी फिर लीजिए

यमुना है यमराज की बहना
यमराज को रुष्ट ना कीजिये
यमुना नदी को न प्रदूषित कीजिए
इसको स्वच्छ तुम कीजिए

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल poem on yamuna river in hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल Yamuna river essay in hindi कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *