विश्व रेडक्रॉस दिवस पर निबंध World red cross day essay in hindi

World red cross day essay in hindi

World red cross day – दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से विश्व रेडक्रॉस दिवस पर लिखे निबंध के बारे में बताने जा रहे हैं । तो चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और इस आर्टिकल को पढ़कर विश्व रेडक्रॉस दिवस पर लिखे निबंध के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं ।

World red cross day essay in hindi
World red cross day essay in hindi

विश्व रेडक्रॉस दिवस के बारे में – विश्व रेडक्रॉस दिवस पूरी दुनिया में बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाने वाला दिवस है । जब रेड क्रॉस सोसाइटी के द्वारा किए गए कार्यों की जानकारी हम लोगों को पता चलेगी तब रेड क्रॉस सोसाइटी के द्वारा किए गए कार्यों की प्रशंसा करने में हम जरा भी संकोच नहीं करेंगे । दुनिया में मानवता की यदि मिसाल लोगों तक पहुंचाई गई है तो वह मिसाइल रेड क्रॉस सोसाइटी के द्वारा पहुंचाई गई है । रेड क्रॉस सोसाइटी से जुड़े हुए लोग मानवता को ही अपना धर्म मानते हैं । पूरी दुनिया में विश्व रेडक्रॉस दिवस 8 मई को प्रतिवर्ष मनाया जाता है ।

जब पूरी दुनिया में 8 मई को रेड क्रॉस दिवस मनाया जाता है तब कार्यक्रमों के माध्यम से रेड क्रॉस के द्वारा किए गए निस्वार्थ  कार्य के बारे में लोगों को बताया जाता है । रेड क्रॉस सोसाइटी के द्वारा जो उपलब्धियां हासिल की गई हैं उन उपलब्धियों के बारे में कार्यक्रम के माध्यम से लोगों को बताया जाता है । विश्व रेडक्रॉस दिवस 8 मई को ही इसलिए मनाया जाता है क्योंकि रेड क्रॉस सोसाइटी की स्थापना में जीन हेनरी डयूनेन्ट का महत्वपूर्ण योगदान था और जीन हेनरी डयूनेन्ट का जन्म 8 मई 1828 को हुआ था । जीन हेनरी डयूनेन्ट के जन्म शुभ अवसर पर जीन हेनरी डयूनेन्ट को याद करने के उद्देश्य से पूरी दुनिया में 8 मई को विश्व रेडक्रॉस दिवस मनाया जाता है ।

रेड क्रॉस सोसाइटी के द्वारा पूरी दुनिया में ब्लड बैंक भी स्थापित किए गए हैं । जब रेड क्रॉस सोसाइटी के द्वारा पहली बार ब्लड बैंक की स्थापना 1937 में अमेरिका में की गई थी तब ब्लड बैंक से ब्लड लेकर अपनी जान बचाने में कई मरीज कामयाब हुए थे । इसके बाद रेड क्रॉस सोसाइटी के द्वारा पूरी दुनिया में ब्लड बैंक की स्थापना की गई थी । रेड क्रॉस सोसाइटी के द्वारा जब कई देशों में ब्लड बैंक की स्थापना की गई तब रेड क्रॉस सोसाइटी की इस उपलब्धि की प्रशंसा की गई थी ।

हमारे भारत देश में रेड क्रॉस सोसाइटी की स्थापना 1920 में की गई थी और भारत देश के कई लोग रेड क्रॉस सोसाइटी से जुड़कर भलाई के कार्य मे अपना महत्वपूर्ण योगदान देने लगे थे । जब कहीं पर कोई दुर्घटना घट जाती है और उस दुर्घटना में कई लोग घायल हो जाते हैं तब  रेड क्रॉस सोसाइटी टीम के द्वारा दुर्घटना में घायल लोगों को अस्पताल पहुंचाया जाता है और उनका इलाज सही समय पर हो सके इसके लिए रेड क्रॉस सोसाइटी के द्वारा प्रयास किए जाते हैं । जब 9 फरवरी 1863 को जेनेवा में जीन हेनरी डयूनेन्ट के  द्वारा एक कमेटी का गठन किया गया तब कमेटी के माध्यम से मानवता की भलाई के लिए कार्य किए गए थे ।

इसके बाद रेड क्रॉस सोसाइटी का गठन विश्व स्तर पर करनेे के उद्देश्य सेे एक विश्व मीटिंग का आयोजन किया गया था जिस मीटिंग में  यह प्रस्ताव रखा गया की रेड क्रॉस सोसाइटी का गठन लोगों की भलाई के लिए विश्व स्तर पर किया जाना चाहिए । इसके बाद सफेद पट्टी पर लाल रंग के क्रोस चिन्ह को  रेडक्रॉस चिन्ह माना गया था । पूरी दुनिया में 8 मई को विश्व रेडक्रॉस दिवस को अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस के रूप में भी मनाया जाता है ।अंतरराष्ट्रीय रेड क्रॉस दिवस भारत देश के स्कूल , कॉलेजों में मनाया जाता है इस दिवस के शुभ अवसर पर कई सांस्कृतिक कार्यक्रम भी विद्यार्थियों के द्वारा किए जाते हैं ।

रेड क्रॉस सोसाइटी के द्वारा 8 मई को अंतरराष्ट्रीय रेड क्रॉस दिवस का आयोजन किया जाता है जिस कार्यक्रम में कई गणमान्य अधिकारियों को बुलाया जाता है । रेड क्रॉस सोसाइटी के द्वारा  रेड क्रॉस दिवस पर रक्तदान शिविर भी लगाया जाता है जिस शिविर में कई लोग आते हैं और रक्तदान करते हैं । रक्तदान करना मानवता को बढ़ावा देना है । जब हम रक्तदान करते हैं तब उस रक्त से ऐसे व्यक्ति की जान बचाई जाती है जो व्यक्ति मौत की कगार पर खड़ा रहता है । जब मरीज को रक्त की अति आवश्यकता होती है तब ब्लड बैंक के द्वारा , रेड क्रॉस सोसाइटी के द्वारा उस मरीज को रक्त उपलब्ध कराकर उस मरीज की जान बचाई जाती है ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह बेहतरीन आर्टिकल विश्व रेडक्रॉस दिवस पर निबंध World red cross day essay in hindi यदि आपको पसंद आए तो सबसे पहले आप सब्सक्राइब करें इसके बाद अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों में शेयर करना ना भूले । दोस्तों यदि आपको इस लेख में कुछ कमी नजर आए तो आप हमें कुछ कमी के बारे में अवश्य बताएं जिससे कि हम उस कमी को पूरा कर सकें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *