विश्व मौसम विज्ञान दिवस World meteorological day in hindi

World meteorological day in hindi

World meteorological day – दोस्तों आज हम आपको इस बेहतरीन आर्टिकल के माध्यम से विश्व मौसम विज्ञान दिवस के बारे में बताने जा रहे हैं । तो चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और इस आर्टिकल को पढ़कर विश्व मौसम विज्ञान दिवस के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं ।

World meteorological day in hindi
World meteorological day in hindi

विश्व मौसम विज्ञान दिवस के बारे में –  विश्व मौसम विज्ञान दिवस पूरी दुनिया में बड़े ही धूमधाम से हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है । 23 मार्च को प्रतिवर्ष विश्व मौसम विज्ञान दिवस दिवस मनाया जाता है । आज हम देख रहे हैं कि मौसम किस तरह से  बदलता जा रहा है । पूरी दुनिया के मौसम को जानने के लिए और किस समय किस तरह का मौसम आने की संभावना है इसके लिए विश्व स्तर पर 30 मार्च 1950 को विश्व मौसम संगठन संयुक्त राष्ट्र विभाग की स्थापना की गई थी जिसका उद्देश्य पूरी दुनिया के मौसम से संबंधित जानकारी एकत्रित करना था ।

जब 30 मार्च 1950 को विश्व मौसम संगठन संयुक्त राष्ट्र विभाग की स्थापना की गई तब विश्व मौसम संगठन संयुक्त राष्ट्र विभाग का मुख्यालय जेनेवा में बनाया गया था । विश्व स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक विश्व मौसम विभाग के द्वारा मौसम विज्ञान विभाग की स्थापना की गई है । प्रकृति किस तरह से रंग बदलती है , मौसम कब बदलने वाला है , बरसात कब होने वाली है इस तरह की जानकारी एकत्रित करने के उद्देश्य से मौसम विभाग की स्थापना की गई है ।

जब 1950 में मौसम संगठन संयुक्त राष्ट्र विभाग की स्थापना की गई थी  तब इस संगठन विभाग में जाने-माने वैज्ञानिकों के द्वारा कार्य किया जा रहा था जिन वैज्ञानिकों के माध्यम से मौसम की पूरी जानकारी एकत्रित की गई थी । इसके बाद विश्व मौसम संगठन संयुक्त राष्ट्र विभाग के द्वारा 23 मार्च को विश्व मौसम विज्ञान दिवस मनाए जाने की घोषणा की गई थी । जब 23 मार्च को विश्व मौसम विज्ञान दिवस मनाया जाता है तब उस कार्यक्रम में जाने-माने वैज्ञानिक , मौसम विभाग के अधिकारी उपस्थित होते हैं । कई तरह के कार्यक्रम वहां पर किए जाते हैं ।

एक दूसरे से मौसम के बारे में बातचीत करना मौसम विभाग की योजनाओं के बारे में बात करना बहुत ही लाभदायक साबित हुआ है । मौसम विभाग में कार्यरत अधिकारियों को भी इस कार्यक्रम में पुरस्कृत किया जाता है । जिन अधिकारियों के द्वारा मौसम विभाग के कार्यों में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया गया है विश्व मौसम विज्ञान दिवस के शुभ अवसर पर मौसम विभाग के अधिकारियों को प्रोफेसर डॉक्टर विल्हो  वाईसाईला पुरस्कार देकर सम्मानित किया जाता है ।

विश्व मौसम विज्ञान दिवस के शुभ अवसर पर मौसम विभाग के उन अधिकारियों को पुरस्कार दिया जाता है जिन अधिकारियों के द्वारा मौसम की जानकारी  एकत्रित करने में मेहनत की गई हो और उन अधिकारियों को इंटरनेशनल मेट्रोलॉजिकल ऑर्गनाइजेशन प्राइस पुरस्कार देकर सम्मानित किया जाता है । इस दिवस पर द नोवर्ट गेरबीयर मुम्म इंटरनेशनल अवॉर्ड देकर भी सम्मानित किया जाता है । विश्व स्तर पर मौसम विज्ञान संगठन के द्वारा मौसम जल संसाधन जलवायुु इत्यादि केे कार्य किए जाते हैं जिन कार्यों को करना कोई आसान बात नहीं होती है ।

मौसम विभाग के अधिकारियों के द्वारा मौसम विज्ञान के बारे में , मौसम के बारे में जानकारी एकत्रित करने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ती है । मौसम विभाग के अधिकारियों के द्वारा आने वाले मौसम के बारे में पता लगाया जाता है ।विज्ञान के क्षेत्र में कई ऐसे संसाधन वैज्ञानिकों के द्वारा बनाए जा चुके हैं जिन संसाधनों के माध्यम से आने वाले मौसम का पता लगाया जा सकता है । विश्व मौसम विज्ञान संगठन संयुक्त राष्ट्र की एक विशेष एजेंसी के रूप में कार्य करती है । जिस एजेंसी में तकरीबन 191 सदस्य होते हैं ।

विश्व मौसम विज्ञान संगठन की शुरुआत अंतरराष्ट्रीय मौसम विज्ञान संगठन के रूप में 1873 में की गई थी ।इसके बाद जब अंतरराष्ट्रीय मौसम विज्ञान संगठन के कार्यों को सफलता प्राप्त हुई तब 23 मार्च 1950 को इसकी स्थापना  मौसम विज्ञान संगठन के रूप में कर दी गई थी और इसी के द्वारा यह घोषणा की गई थी कि पूरे विश्व में 23 मार्च को विश्व मौसम विज्ञान दिवस का आयोजन किया जाएगा जिस आयोजन में विज्ञान से संबंधित चर्चा होगी ।  विश्व मौसम विज्ञान दिवस के शुभ अवसर पर विज्ञान के माध्यम से मौसम के क्षेत्र में जो उन्नति हुई है उस उन्नति के बारे में भी चर्चाएं की जाती हैं ।

भारत देश में  भी 23 मार्च को प्रतिवर्ष मौसम विभाग की ओर से विश्व मौसम विज्ञान दिवस बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है । मौसम विभाग के साथ-साथ स्कूलों कॉलेजों में भी विश्व मौसम विज्ञान दिवस के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं । स्कूलों और कॉलेजों में विद्यार्थियों को मौसम से संबंधित जानकारियां प्रदान की जाती हैं । कॉलेजों में मौसम से संबंधित नाटकों का आयोजन भी किया जाता है ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह बेहतरीन लेख विश्व मौसम विज्ञान दिवस पर निबंध World meteorological day in hindi यदि आपको पसंद आए तो आप हमें सब्सक्राइब अवश्य करें इसके बाद अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों में शेयर करना ना भूले । दोस्तों यदि आपको इस आर्टिकल में किसी भी तरह की कोई त्रुटि दिखे तो आप हमें उस त्रुटि के बारे में अवगत कराएं जिससे कि हम उस त्रुटि को पूरी करने की कोशिश करें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *