वर्किंग वूमन पर कविता working woman poem in hindi

वर्किंग वूमन पर कविता

दोस्तों कामकाजी महिलाएं यानी ऐसी महिलाएं जो घर से बाहर कामकाज करती हैं और अपने परिवार की जीविका चलाने के लिए महत्वपूर्ण योगदान देती हैं। कामकाजी महिलाएं आजकल के इस आधुनिक दौर में अधिकतर देखी जाती हैं क्योंकि महंगाई के इस दौर में ज्यादातर देखा जाता है कि कई सारे लोगों के परिवार में पति-पत्नी दोनों ही घर से बाहर कामकाज करते हैं।

कामकाजी महिलाओं को जीवन में कई परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है। कामकाजी महिलाओं का जीवन किस तरह से व्यतीत होता है यह सब हम इस कविता के जरिए जानेंगे तो चलिए पढ़ते हैं हमारी आज की इस कविता को

कामकाजी महिलाओं पर कविता

आज के इस दौर में बहुत कुछ बदल गया

कामकाजी महिलाओं का दौर शुरू हो गया

थोड़ी परेशानी और थोड़ा सा डर उन्हें सताता है

कामकाजी महिलाओं के बारे में कमलेश बताता है

 

महंगाई के इस दौर का सामना करना जानती है

कामकाजी महिलाएं खुद को बदलना जानती हैं

फिर भी कलयुग में एक डर सताता है

जीवन में यह मुश्किल बढ़ाता है

 

घर की और ऑफिस की जिम्मेदारी उन पर होती है

कामकाजी महिलाओं पर जिम्मेदारी बड़ी होती है

देर शाम घर लौटने में डर बड़ा लगता है

दूसरों पर भरोसा करने पर डर लगता है

 

बच्चों की और परिवार की चिंता उन्हें सताती है

कभी कभी जीवन में ये मुश्किलें बढ़ाती हैं

थोड़ी परेशानी और थोड़ा सा डर उन्हें सताता है

कामकाजी महिलाओं के बारे में कमलेश बताता है

दोस्तों मेरे द्वारा लिखी कामकाजी महिलाओं पर कविता यदि आपको पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूलें।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *