ग्रामीण जीवन पर निबंध Village life essay in hindi

Village life essay in hindi

Gramin jeevan essay in hindi language-हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज का हमारा आर्टिकल Village life essay in hindi आप सभी के लिए बडा ही शिक्षाप्रद है हमारे द्वारा लिखे गए इस निबंध का उपयोग आप अपने स्कूल,कॉलेज की परीक्षा में लिखने के लिए यहां से जानकारी ले सकते हैं साथ में अपनी जानकारी को बढ़ाने के लिए भी इस आर्टिकल को आप पढ़ सकते हैं तो चलिए पढ़ते हैं आज के हमारे निबंध को.

Village life essay in hindi
Village life essay in hindi

भारतीय ग्रामीण जीवन हमारे देश का एक प्रमुख हिस्सा है हमारे भारत देश में गांव की संख्या बहुत ज्यादा है जहां पर लोग प्रमुख रूप से कृषि पर निर्भर है ये गांव की स्थिति भी बदली है.पहले किसान सिर्फ खेती पर निर्भर होते थे लेकिन आज के आधुनिक युग में बहुत से किसान खेती के अलावा भी अपने बच्चों को शहरों में और कुछ करने के लिए प्रेरित करते हैं.शहर वासियों के लिए गांव में घूमने जाना बहुत ही रोचक होता है. गांव के जीवन में चारों ओर हरियाली ही हरियाली होती है खेत-खलिहानों में घूमने में बड़ा ही अच्छा महसूस होता है साथ में बहुत सारे पेड़ पौधे देखने को मिलते हैं जो हर एक ग्रामीण व्यक्ति का मन मोह लेते हैं.गांव में ठंडी ठंडी शुद्ध हवा हमें मिलती है जो शहर में नहीं मिलती.

शहर के लोग जहां शाम को अपने घर में tV आदि देखते हैं जिससे उनका मनोरंजन होता है वही गांव के लोग दिनभर अपने खेती-किसानी का काम निपटाकर शाम को गांव के चबूतरे पर बैठकर वार्तालाप करते हैं ठंड के मौसम में आग जलाकर एक घेरा बनाकर तपते हुए बातचीत करते हैं यह दृश्य वाकई में देखने लायक होता है गांव के लोग मिल जुल कर रहते हैं और तरह-तरह की बातें करते हैं.गांव के लोग सुबह उठकर अपने खेत खलिहानों की ओर चले जाते हैं. शहर की औरतें जहां अपने पति के साथ कदम से कदम मिलाकर नौकरी करती हैं वही गांव की औरतें गांव में रहकर सिर्फ अपने घर का कामकाज करती हैं या फिर अपने खेतों का कार्य करने में मदद करती हैं.

आज के इस आधुनिक युग में ज्यादातर लोग स्कूल कॉलेज से शिक्षा प्राप्त करते हैं गांव के लोग भी इस ओर आगे बढ़े हैं लेकिन फिर भी गांव के कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो या तो अनपढ़ होते हैं या फिर ज्यादा नहीं पढ़ पाते और अपना पूरा जीवन खेती किसानी करके बिताते हैं.गांव के लोग सीधे और सरल स्वभाव वाले होते हैं वह ज्यादातर छल कपट आदि से दूर रहते हैं वह एक साथ मिलकर रहते हैं.

कोई समस्या आने पर एक दूसरे की मदद भी करते हैं और सभी तरह के त्योहारों को मिलजुल कर मनाते है ज्यादातर गांव के लोग अपनी प्राचीन सभ्यता,संस्कृति आदि को बनाए रखते हैं लेकिन शहर की अपेक्षा गांव के लोग बहुत सी ऐसी बातों से दूर रहते हैं जिन्हें उनको जानना बहुत ही जरूरी है गांव के बहुत से लोगों को आधुनिक जानकारी ना होने के कारण वह आगे नहीं बढ़ पाते लेकिन इसके लिए देश की सरकार भी गांव के लोगों को जागरुक करने के लिए तरह-तरह के अभियान चलाती हैं जिससे गांव के लोग भी निरंतर आगे बढ़ते चले जा रहे हैं वह भी अपने जीवन में कुछ अच्छा कुछ बड़ा करके बहुत आगे बढ़ते जा रहे हैं.

गांव के लोग पहले शिक्षा का महत्व ना समझकर अपने बेटे बेटियों को शिक्षा प्रदान नहीं करते थे लेकिन आज के इस आधुनिक युग में गांव के लोग ही अपने लड़के लड़कियों को उचित शिक्षा दिलाने के लिए गांव से शहर भेजते हैं और उनको आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हैं.
गांव का जीवन एक हिसाब से देखा जाए तो बहुत अच्छा भी है गांव के लोग ज्यादातर गाय,भेंसो पर निर्भर रहते हैं उनसे उन्हें शुद्ध दूध और घी की प्राप्ति होती हैं और वो अपना भरण पोषण करते हैं वही शहरों में मिलने वाला दूध मिलावटी होता है जिस वजह से शहरवासियों को शुद्ध घी,दूध भी नहीं मिल पाता और बहुत सी समस्याओं का सामना शहरवासियों को करना होता है.

Related- गांव का बाजार पर निबंध Essay on village market in hindi language

Gramin jeevan ki samasya in hindi

हमारे देश के गांव के जीवन में पहले के मुकाबले अभी तक बहुत सारे बदलाव देखने को मिले हैं पहले मध्यकाल के युग में जमींदारों के कारण किसानों की स्थिति बहुत खराब हो गई थी.आजादी से पहले अंग्रेजों की वजह से भी गांव के लोगों की स्थिति बहुत ही खराब थी लेकिन आजादी के बाद किसानों की स्थिति में काफी सुधार देखने को मिला है.एक तरफ जहां देखा जाए तो गांव का जीवन बहुत अच्छा है लेकिन गांव के जीवन में बहुत सी बुराइयां भी हैं जैसे की कुप्रथाएं.बहुत सी ऐसी प्रथाएं हैं जो पुराने समय से अभी तक चली आ रही हैं गाँव के लोग उन कुप्रथाओं को मानते हैं और अपने जीवन में कुछ भी बदलाव नहीं कर पाते.

इन कुप्रथाओं को दूर करने के लिए सरकार बहुत से अभियान चला रही है जिस वजह से आज कल गांव वाले भी धीरे-धीरे इनसे दूर होते चले जा रहे हैं और गांव विकास करता चला जा रहा है.गांव के ज्यादातर लोग खेती किसानी पर निर्भर होते हैं जिस वजह से कभी कभार फसलों के नुकसान होने की वजह से किसानों को बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ता है लेकिन भारत सरकार द्वारा बहुत सारे गांव वासियों के लिए किसानों के लिए योजनाएं बनाई जा रही हैं जिससे गांववासी अपनी फसलों का बीमा करा सकते हैं और आने वाली मुसीबतों से बच सकते हैं.

गांव में समय-समय पर मेला होता है जिसमे आस पास के गांव वासी भी उस मेले में शामिल होते हैं और दिन भर दुकाने लगती हैं बच्चे,बूढ़े,नौजवान,महिलाएं सभी खुशी-खुशी उस मेले में शामिल होकर अपनी जरूरतों की चीजें खरीदते हैं.देखा जाए तो भारतीय ग्रामीण जीवन बहुत ही अच्छा है गांव के लोग भी दिनादिन तरक्की करते जा रहे हैं वह भी आगे बढ़ते जा रहे हैं.

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह आर्टिकल Village life essay in hindi पसंद आए तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूले हैं और हमें कमेंट के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल Gramin jeevan essay in hindi language कैसा लगा अगर आप चाहे हमारे अगले आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाना तो हमें सब्सक्राइब जरूर करे.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *