वर्तमान राजनीति पर निबंध vartman rajniti essay in hindi

vartman rajniti essay in hindi

दोस्तों कैसे हैं आप सभी, आज हम आपके साथ वर्तमान राजनीति के विषय पर चर्चा करने वाले हैं। हमारे भारत देश में आजकल राजनीति का दृश्य वाकई में देखने योग्य है आज की राजनीति ऐसी मालूम पड़ती है कि यह देश के लिए कम अपने खुद के स्वार्थ के लिए ज्यादा है। आज के सभी नेता तो नहीं लेकिन ज्यादातर नेता राजनीति में ऐसे हैं जो अपनी कुर्सी बचाने के लिए कुछ भी करने को तैयार रहते हैं उनके लिए कुर्सी से बढ़कर कुछ नहीं है, उनके लिए देश से बढ़कर कुर्सी हो गई है वास्तव में जब ये राजनीतिक दृश्य हम देखते हैं तो हमें काफी दुख होता है।

vartman rajniti essay in hindi
vartman rajniti essay in hindi

राजनीति जिसे आज के कुछ लोग दलदल या फिर गंदगी भी कहते हैं वास्तव में यह शब्द गलत है लेकिन कुछ हद तक बुरे लोगों यानी बुरे राजनेताओं की वजह से हम इसे गलत भी नहीं कह सकते यानी बुरे राजनेताओं ने इस राजनीति को वास्तव में गंदी बना दिया है जो सिर्फ अपने स्वार्थ के लिए राजनीति करते हैं देश से उनका कोई मतलब ही नहीं होता। आज कल के कलयुग में कई ऐसे नेता हैं जो जनता से बड़े-बड़े वादे करके चुनाव जीतने के बाद भूल जाते हैं। कई ऐसे नेता हैं जिन पर कई अपराधों के केस चल रहे हैं जो अपराध गंभीर हैं फिर भी वह आज राजनीति में बड़े-बड़े पदपर आश्रित हैं यह सही नहीं है। हमारा भारत देश अगर हमें आगे बढ़ाना है यानी देश को विकास के पथ पर पहुँचाना है तो राजनीति अच्छी होनी चाहिए। राजनीति देश के लिए, देश के हित के लिए, देश की जनता के लिए होनी चाहिए ना कि खुद के स्वार्थ के लिए। राजनीति अगर अच्छी हो तो वास्तव में हमारे देश में काफी बदलाव देखने को मिल सकता है। देश के राजनेताओं को सोचने समझने की जरूरत है उन्हें समझना चाहिए की ईश्वर ने उन्हें जिस पद पर पहुंचाया है उस पद पर वह अच्छी तरह से कार्य करके देश को तरक्की की राह पर बढ़ा सकते हैं। हर किसी को एक ना एक दिन इस दुनिया से जाना ही है फिर क्यों ना ऐसे राजनेता एक अच्छा कार्य करके देश के हित में, देश की आर्थिक स्थिति मजबूत करके देश को एक मजबूत देश, शक्तिशाली देश बनाकर इस दुनिया से जाएं।

राजनीति में नेता अपने विपक्ष के नेताओं पर आरोप लगाते हैं यह सही है लेकिन किसी विपक्ष के नेता के द्वारा यदि कोई अच्छा कार्य किया जाए फिर भी यदि विपक्ष के नेता उस कार्य को गलत बताएं या फिर उसका विरोध करें तो यह सही नहीं है क्योंकि हमें सिर्फ अपनी कुर्सी नहीं बचाना है हमको हमारे देश को बचाना है, हमें हमारे देश को तरक्की की राह पर आगे बढ़ाना है, देश का विकास करना है चाहे वह अपनी पार्टी का नेता करें या विपक्ष की पार्टी का नेता। हमको तो बस देश के लिए सोचना है, देश के लिए ही जीवन जीना है, देश के लिए ही जीवन कुर्बान कर देना है इसी सोच के साथ हमें राजनीति करना चाहिए। किसी के द्वारा किए गए अच्छे कार्य का विरोध नहीं करना चाहिए, कुर्सी बचाने के लिए नहीं बल्कि देश को बचाने के लिए लड़ना चाहिए और विरोध करना चाहिए। यदि कोई राजनेता लंबे समय तक राजनीति में रहता है, देश का कुछ अच्छा करना चाहता है तो विपक्ष तो उसका ऐसे पीछा करते हैं जैसे वो उसका दुश्मन हो। राजनीति में ऐसा नहीं करना चाहिए एक अच्छे नेता के साथ ऐसा करना सही नहीं है।

हमें देश का विकास करने की सोचना चाहिए, देश के भविष्य के बारे में सोचना चाहिए यदि वास्तव में कोई नेता अच्छा और सच्चा हो तो मेरे ख्याल से विपक्ष को भी उसकी तारीफ में दो शब्द जरूर कहना चाहिए लेकिन आजकल की राजनीति ऐसी देखने को नहीं मिलती वर्तमान राजनीति में ज्यादातर नेता ऐसे ही हैं जो अपनी कुर्सी को बचाने के लिए कार्य करते हैं, देश से ज्यादा अपने बारे में सोचते हैं, अपने परिवार वालों के बारे में सोचते हैं और अपने बैंक अकाउंट को भरने के बारे में सोचते हैं। वह कभी भी नहीं सोचते कि ऊपर जाकर हम क्या ऊपर वाले को जवाब देंगे वह तो बस खुद के स्वार्थ के बारे में सोचकर राजनीति में कार्य करते जाते है वास्तव में ऐसे नेता खुद का विनाश तो करते हैं साथ मे वह देश का भी काफी आहत करते जाते हैं। हमें वर्तमान राजनीति में सुधार लाने की जरूरत है और खुद से ज्यादा देश के भविष्य के बारे में सोचने की जरूरत है तभी हमारा देश आगे बढ़ेगा।

हमे बताये की ये आर्टिकल vartman rajniti essay in hindi आपको कैसा लगा.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *