तात्या टोपे पर निबंध tatya tope essay in hindi

tatya tope essay in hindi

दोस्तों आज हम आपको बताने वाले हैं एक ऐसे महान शख्स के बारे में जिन्होंने देश को आजादी दिलाने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी, वह शुरू से ही देश को अंग्रेजों से आजाद कराने के लिए तैयार थे उन्होंने अंग्रेजों से कई बार युद्ध किया और आखिर में इनके इस पराक्रम की वजह से आने वाले समय में यह क्रांति का रूप ले गया और हमारा भारत देश आजाद हो गया तो दोस्तों हम जानने वाले हैं एक स्वतंत्रता सेनानी तात्या तोपे के पूरे जीवन के बारे में तो चलिए पढ़ते हैं आज के हमारे इस आर्टिकल को

tatya tope essay in hindi
tatya tope essay in hindi

जन्म और परिवार – तात्या टोपे का जन्म पाटोदा जिले में हुआ था जो कि नासिक के पास स्थित है इनका जन्म सन 1814 में हुआ था इनके पिता का नाम पांडुरंग एवं माता का नाम रुकमणीबाई था इनके पिताजी पेशवा बाजीराव के राज्य में कार्य करते थे. तात्या तोपे जी अपने भाई-बहनों में सबसे बड़े थे, शुरू से ही उनमें देश प्रेम था वह अंग्रेजों को देश से भगाना चाहते थे.

अंग्रेजों का भारत पर आक्रमण – कुछ समय बाद जब अंग्रेज भारत में आए तब अंग्रेजों ने पेशवा बाजीराव के राज्य पर हमला बोल दिया. पेशवा बाजीराव ने अंग्रेजो के साथ युद्ध किया लेकिन आखिर में अंग्रेजों से उनकी हार हुई और बाजीराव को अपने राज्य से दूर जाना पड़ा, अंग्रेजों ने बाजीराव को पेंशन बांध दी थी.

1857 का युद्ध- दरअसल कुछ समय बाद बाजीराव को मिलने वाली पेंशन अंग्रेजों ने बंद कर दी तब बाजीराव के बेटे नाना साहब और तात्या तोपे काफी क्रोधित हुए और उन्होंने अंग्रेजों से लड़ने का फैसला ले लिया और फिर 1857 में युद्ध हुआ इस युद्ध में उन दोनों की हार हुई. कुछ समय बाद ही तात्या टोपे ने और भी कई युद्ध अंग्रेजो के साथ किए.

कुछ ही समय बाद तात्या टोपे को महारानी लक्ष्मी बाई के बारे में पता लगा तो तात्या टोपे ने महारानी लक्ष्मी बाई के साथ मिलकर अंग्रेजों के साथ लड़ने का फैसला किया. दोनों ने अंग्रेजों से युद्ध किए लेकिन लक्ष्मीबाई वीरगति को प्राप्त हुई आगे चलकर भी तात्या टोपे ने अंग्रेजों से युद्ध किए लेकिन आखिर में तात्या टोपे को अंग्रेजों ने पकड़ लिया और उन्हें फांसी की सजा दी लेकिन फांसी की सजा देने के बाद हमारे देश में एक क्रांति की ज्वाला भड़क उठी और कई क्रांतिकारी आगे बढ़े और आगे चलकर हमें अंग्रेजों से आजादी मिल गई.

तात्या टोपे का सम्मान- तात्या तोपे जी वास्तव में हमारे देश के एक ऐसे स्वतंत्रता सेनानी थे जिन्होंने देश के लिए अपने जीवन को कुर्बान कर दिया था वास्तव में वह महान थे देश प्रेमी थे. हमारे भारत देश में तात्या तोपे के सम्मान के लिए एक डाक टिकट जारी किया गया है.

दोस्तों हमें बताएं कि हमारा यह लेख tatya tope essay in hindi आपको कैसा लगा इसी तरह के नए नए आर्टिकल सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें, आप सभी का धन्यवाद.

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *