स्वतंत्रता दिवस पर निबंध Swatantrata diwas essay in hindi

Swatantrata diwas essay in hindi

दोस्तों आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं दोस्तों आज हम आपके लिए लाए हैं 15 अगस्त यानी स्वतंत्रता दिवस पर निबंध। यह निबंध आप सभी को इस विषय की विस्तृत जानकारी देगा साथ में स्कूल, कॉलेज की परीक्षा में निबंध लिखने के लिए आपकी मदद भी करेगा तो चलिए पढ़ते हैं हमारे आज के इस निबंध को

Swatantrata diwas essay in hindi
Swatantrata diwas essay in hindi

हम सभी के लिए 15 अगस्त का दिन बहुत ही खास होता है क्योंकि यह दिन हमारी आजादी का दिन है हमारा भारत देश 15 अगस्त सन 1947 को स्वतंत्र हुआ था इसलिए 15 अगस्त को हम स्वतंत्रता दिवस के रूप में जानते हैं और हर साल इस दिवस को मनाते हैं। हमारे भारत देश में अंग्रेजों ने लगभग 200 साल तक राज्य किया इन 200 सालों में उन्होंने भारतवासियों पर कई तरह के अत्याचार किये,इस वजह से कई तरह के नुकसान भारतवासियों को हुए।

एक तरह से भारतवासी अपने जीवन में बिल्कुल भी स्वतंत्र नहीं थे वह अपनी आजादी के साथ कुछ भी नहीं कर पाते थे अंग्रेज उन पर कई तरह के अत्याचार करते थे। अंग्रेज महिलाओं के साथ, बुजुर्गों के साथ सभी के साथ अत्याचार किया करते थे इसी वजह से इस अत्याचार को खत्म करने के लिए और भारत देश को स्वतंत्रता दिलवाने के लिए हमारे देश के कुछ महान स्वतंत्रता सेनानियों ने अपनी जान की कुर्बानी दी और कुछ ने अपनी जान की फिक्र किए बिना ही देश के लिए कई आंदोलन किये।

स्वतंत्रता सेनानी या देशभक्तों में महात्मा गांधी, लाला लाजपत राय, भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद जैसे महान देशभक्त थे इसके अलावा भी कई महिलाएं भी ऐसी हैं जिन्होंने अपना घर का कामकाज छोड़कर देश के लिए, देश की स्वतंत्रता के लिए कई आंदोलन किए और अंग्रेजो को इस देश से भगाने में मदद की इन महिलाओं में कमला नेहरू, विजयलक्ष्मी, झांसी की रानी लक्ष्मीबाई जैसी महान नारियां हैं .  हमेशा इतिहास के पन्नों में इनका नाम दर्ज रहेगा।

15 अगस्त 1947 के दिन जब हमारा भारत देश आजाद हुआ तो भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने दिल्ली के लाल किले में राष्ट्रीय ध्वज फहराया और देश के लिए, देश के नौजवानों के लिए एक प्रेरणादायक भाषण भी दिया तभी से हर साल 15 अगस्त के दिन वर्तमान प्रधानमंत्री दिल्ली के लाल किले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं। 15 अगस्त का यह दिन देश में कई तरह से मनाया जाता है स्कूलों में कई तरह के प्रोग्राम आयोजित किए जाते हैं बच्चों, शिक्षको आदि के द्वारा खुशी जाहिर की जाती है कई रैलियां निकाली जाती हैं बच्चे तिरंगें झंडे को लेते हुए अपने घरों में, मोहल्लों में देखे जाते हैं।

बहुत से लोग अपने घर की छतों पर झंडा लगा देते हैं, कुछ लोग इस स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देशभक्ति के ऊपर फिल्में देखने जाते हैं तो कुछ लोग प्रधानमंत्री जी का भाषण सुनते हुए देखे जाते हैं इस 15 अगस्त के दिन कई जगह tv पर राष्ट्रगान चल रहा होता है तो रेडियो पर खुशी मनाई जाती है हर जगह वातावरण खुशी का होता है। बच्चों और नौजवानों के चेहरे पर मुस्कान होती है बहुत से लोग अपने घर पर ही बैठकर TV में राष्ट्रगान या प्रधानमंत्री जी का भाषण सुन रहे होते हैं .

स्कूल और कॉलेजों में कई तरह की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है और विभिन्न प्रकार से खुशियां जताई जाती हैं स्कूल-कॉलेजों में मिठाई बांटी जाती हैं और हर खुशी मनाई जाती है। जो बच्चे सुबह जल्दी नहीं जागते वह 15 अगस्त के दिन सुबह जल्दी जागकर स्कूल जाना पसंद करते हैं क्योंकि वास्तव में यह खुशी का दिन हर किसी को जागरुक करता है, हर कोई इस दिन का बहुत ही बेसब्री से इंतजार करता है।

बच्चों,बूढो, नौजवान हर किसी के चेहरे पर मुस्कान होती है क्योंकि 15 अगस्त का दिन हम सभी के स्वतंत्रता का दिन है। पहले अंग्रेजी शासनकाल में हमको कोई भी विशेष अधिकार नहीं थे लेकिन आज हम स्वतंत्र हैं हम हमारी इच्छा से कुछ भी कर सकते हैं, जीवन अपने हिसाब से जी सकते हैं आज हर भारतीय स्वतंत्र है। वास्तव में 15 अगस्त का दिन हम सभी भारतीयों के लिए सबसे महत्वपूर्ण दिवसों में से एक है।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल Swatantrata diwas essay in hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल Swatantrata diwas essay in hindi कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *