स्वच्छता ही सेवा है पर निबंध swachhata hi seva hai essay in hindi

swachhata hi seva hai essay in hindi

दोस्तों कैसे हैं आप सभी, दोस्तों हम विद्यार्थियों के लिए रोज नए-नए विषय पर निबंध लाते रहते हैं आज भी हम आपके लिए स्वच्छता ही सेवा है पर निबंध लेकर आए हैं आप इसे जरूर पढ़ें तो चलिए पढ़ते हैं आज के इस आर्टिकल को।

swachhata hi seva hai essay in hindi
swachhata hi seva hai essay in hindi

हमारे देश में स्वच्छता बनाए रखने के लिए भारत सरकार कई तरह के अभियान चलाती हैं अभी हाल ही में स्वच्छता ही सेवा है अभियान चलाया गया इससे पहले भी प्रधानमंत्री जी द्वारा स्वच्छता अभियान शुरू किया गया था. यह स्वच्छता ही सेवा अभियान सितंबर से शुरू किया गया और यह 2 अक्टूबर 2018 यानी गांधी जयंती तक चलेगा। स्वच्छता ही सेवा है अभियान का मकसद भारत को स्वच्छ बनाना है लोगों को बताना है कि स्वच्छता ही सेवा है।

वास्तव में अगर हम अपने घरों को अपने आसपास के वातावरण को स्वच्छ रखें, कूड़ा करकट इधर उधर ना फेंके कचरे दान में ही फेंके, इधर-उधर ना थूके और अपने वातावरण को अपने आसपास की जगह को स्वच्छ रखना अपना कर्तव्य समझे तो वास्तव में यह एक सेवा की तरह ही होगा क्योंकि सेवा हम किसी को लाभ पहुंचाने के लिए या किसी के फायदे के लिए करते हैं वहीं अगर हम अपने आसपास के वातावरण को जगहों को स्वच्छ रखेंगे तो यह एक सेवा की तरह ही कार्य करेगा क्योंकि अस्वस्थ वातावरण से कई तरह की बीमारियां होती हैं, अस्वस्थ वातावरण से हमें ना तो शारीरिक सुख मिल पाता है ना ही मानसिक शांति मिलती है .

अस्वच्छ वातावरण से कई तरह की बीमारियां भी हो जाती हैं जिनकी वजह से लोगों को बहुत सारा पैसा और अपना कीमती समय बर्बाद करना पड़ता है इसलिए हमें स्वच्छता के बारे में सोचना चाहिए। हमे अपने आसपास के वातावरण, अपने घरो, अपने कपड़े, अपने ऑफिस और दुकानों सभी में स्वच्छता रखनी चाहिए क्योंकि स्वच्छता रखना वास्तव में एक सेवा की तरह होता है। हमारे आसपास के लोग, हमारे रिश्तेदार, आस पड़ोस वाले दोस्त स्वस्थ रहेंगे तो वास्तव में इससे बड़ी खुशी और कुछ भी नहीं हो सकती।

स्वच्छता ही अपने आप में एक सेवा है आप आज से अभी से अपने आसपास के वातावरण को स्वच्छ रखने की कोशिश करें स्वच्छता रखना अपना कर्तव्य समझे क्योंकि स्वच्छता ही सेवा है। यदि आपके पास किसी की सेवा करने के लिए समय नहीं है या आपके पास किसी की सेवा करने के लिए पर्याप्त धन दौलत नहीं है तो आप स्वच्छता की सेवा कीजिए यानी आप अपने वातावरण को स्वच्छ रखें यदि आप ऐसा करते हैं तो वास्तव में आप बहुत सारे लोगों की सेवा करते हैं क्योंकि आप वास्तव में अपने आसपास के लोगों अपने परिवार वालों को कई खतरों से बाहर निकाल देते हैं और वह आपको धन्यवाद देते हैं।

कई तरह के हानिकारक कीटाणु, जीवाणु, विषाणु हमारे वातावरण में नहीं रहते मच्छर मक्खी दूर हो जाते हैं जिससे कई समस्याएं आने से पहले ही रुक जाती हैं और हम अपने जीवन को खुश होकर जीते हैं। हमें अपने घरों, आसपास के वातावरण को स्वच्छ रखना चाहिए इसमें किसी भी तरह की शर्म या झिझक नहीं करनी चाहिए, कभी भी इधर-उधर कचरा नहीं फेंकना चाहिए, कचरे को कूड़ेदान में ही फेंकना चाहिए, यदि कोई अस्वच्छता फैलाता है तो उसे जागरूक करना चाहिए कि अस्वच्छता से कई तरह के दुष्परिणाम होते हैं.

हमें अपने देश को स्वच्छ बनाना चाहिए वास्तव में अगर आप ऐसा करते हैं तो आप सेवा करते हैं आपको इसका पुण्य मिलता है वास्तव में स्वच्छता ही सेवा है।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल swachhata hi seva hai essay in hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *