सुकन्या समृद्धि योजना की जानकारी sukanya samriddhi yojana detail in hindi

sukanya samriddhi yojana detail in hindi

सुकन्या समृद्धि योजना भारत सरकार के द्वारा प्रारंभ की गई थी . यह योजना लड़की की शिक्षा और शादी को बेहतर बनाने के लिए प्रारंभ की गई थी . 4 दिसंबर 2014 को भारत के प्रधानमंत्री के द्वारा इस योजना की घोषणा की गई थी . यह योजना बच्चियों के उज्जवल भविष्य को बेहतर बनाने के लिए प्रारंभ की गई थी .जो भी व्यक्ति इस योजना का लाभ लेने के लिए अपनी बच्ची का खाता खुलवाना चाहता है तो वह पोस्ट ऑफिस या बैंक के माध्यम से खाता खुलवा सकता है .

जिस बच्ची का आप खाता खुलवा रहे हो उसकी उम्र 10 साल से कम होना चाहिए . जब आप बैंक या पोस्ट ऑफिस में अपनी बच्ची का खाता खुलवाने के लिए जाते हो तब आपको बच्ची का जन्म प्रमाण पत्र साथ में ले जाना होगा . जन्म प्रमाण पत्र के साथ साथ माता पिता के आधार कार्ड और वोटर कार्ड भी साथ में ले जाना पड़ता है .

sukanya samriddhi yojana detail in hindi
sukanya samriddhi yojana detail in hindi

image source –https://economictimes.indiatimes.com/hindi

सुकन्या योजना के तहत आप 250 रुपए की राशि से खाता  खुलवा सकते हो . इस खाते में डेढ़ लाख रुपए से ज्यादा की राशि जमा नहीं कराई जा सकती है . सुकन्या योजना के द्वारा बच्चियों के खाते कहीं पर भी बैंक या पोस्ट ऑफिस में खुलवा सकते है . यह खाता बच्ची की 18 साल की उम्र से 21 साल की उम्र तक या शादी होने तक चलाया जाता है . जब बच्ची की उम्र 18 साल की हो जाती है तब इस खाते से  जमा राशि का 50 फीसदी पैसा निकाला जाता है . सुकन्या समृद्धि योजना के तहत एक लड़की का खाता एक ही बार खोला जाता है . यदि लड़की के माता-पिता शहर छोड़कर दूसरे शहर जाते हैं तो वह अपनी लड़की का खाता ट्रांसफर करा  सकते हैं .

खाता ट्रांसफर कराने के लिए लड़की के माता-पिता को बाहर जाने का कारण बताना होगा , बाहर जाने का सबूत देना होगा . यदि लड़की के माता-पिता बाहर जाने का सबूत नहीं दे पाते हैं तो  वह बैंक या पोस्ट ऑफिस में  जाकर सो रुपए जमा कराकर अपनी लड़की का खाता ट्रांसफर करा सकता है . इस खाते में लड़की के माता-पिता ऑनलाइन के द्वारा पैसा जमा करा सकते हैं . इस योजना से मध्यम वर्ग के परिवार वालों को बहुत लाभ पहुंचेगा . इस योजना से काफी लोगों ने अपनी बच्चियों का खाता खुलवाया है . मध्यम वर्ग के परिवार बालों को अपनी बेटी की शादी की चिंता रहती थी . कैसे अपनी लड़की का विवाह करेंगे लेकिन इस योजना ने  उनकी चिंता को खत्म कर दिया  है .

अब लड़की के मां-बाप को ना तो शादी की चिंता होगी और ना ही पढ़ाई की क्योंकि पढ़ाई के समय  खाते से 50 फ़ीसदी पैसा लड़की को मिल जाता है . शादी के समय बचा हुआ 50 फीसदी पैसा लड़की को मिल जाता है और उस पैसे से लड़की की शादी बड़ी धूमधाम से हो जाती है . इस योजना के द्वारा खुले हुए खातों में 9% ब्याज सरकार के द्वारा दिया जाता है . जब लड़की के माता-पिता लड़की की 18 साल की उम्र पूरी होने के बाद सुकन्या समृद्धि योजना के खाते से शिक्षा के लिए पैसा निकालते हैं तब लड़की के माता-पिता को स्कूल में  एडमिशन कराने की सबूत देने पड़ते हैं . ऐडमिशन पर्ची बैंक क्या पोस्ट ऑफिस में देनी पड़ती है .

इसके बाद बैंक या  पोस्ट ऑफिस में पर्ची की जांच की जाती है . जांच करने के बाद लड़की के खाते में से 50 फीसदी पैसा लड़की को दे दिया जाता है जिससे वह अच्छे स्तर की पढ़ाई कर सकती है . यह योजना बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ को बढ़ावा देने के लिए प्रारंभ की गई थी . जब इस योजना को प्रारंभ किया गया था तब इस योजना से काफी मध्यमवर्गीय परिवार के लोगों ने अपनी बेटी का खाता सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खुलवाया था .

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह जबरदस्त आर्टिकल सुकन्या समृद्धि योजना की जानकारी sukanya samriddhi yojana detail in hindi आपको पसंद आए तो शेयर अवश्य करें धन्यवाद .

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *