अंग तस्करी पर भाषण Speech on organ trafficking in hindi

Speech on organ trafficking in hindi

मेरे प्रिय साथियों कैसे हैं आप सभी, दोस्तों आज के समारोह में मैं आप सभी का स्वागत करता हूं दोस्तों आज मैं अंग तस्करी के विषय पर बात करने वाला हूं अंग तस्करी यानी अवैध तरीके से अंगों को बेचना, खरीदना यह अंग तस्करी है। यह अंग तस्करी हमारे भारत देश में तेजी से बढ़ती जा रही है अंग तस्करी कि इस समस्या को खत्म करना बेहद जरूरी है क्योंकि अंग तस्करी की समस्या की वजह से ही आज मानव मानव नहीं रहा वह मानव मानव का ही धंधा करने लगा है और उसके अंगों को बेचने का काम करने लगा है।

Speech on organ trafficking in hindi
Speech on organ trafficking in hindi

आज हम देखें तो हमारे देश में गरीबी, भुखमरी, बेरोजगारी, अशिक्षा जैसी कई समस्याएं हैं इन समस्याओं की वजह से भी अंग तस्करी को हवा मिलती है और वह और तेजी से फैलती जाती है। अंग तस्करी होने का एक और कारण है वह कारण है अज्ञानता। लोगों को उचित ज्ञान ना होने के कारण भी अंग तस्करी होती है आज हम देखें तो अंग तस्करी गैरकानूनी है अंग तस्करी करते हुए पाए जाने पर आपको उचित दंड भी मिलेगा लेकिन फिर भी इस अंग तस्करी जैसे व्यापार को आज हम पूरी तरह से नहीं रोक पाए हैं।

जिस डॉक्टर को हम भगवान कहते हैं उनमे से कुछ डॉक्टर आज लोगों के अंगों का व्यापार करते है वह अंगों को निकालकर किसी दूसरे के शरीर में डालता है और अपने फायदे के लिए किसी मासूम की जिंदगी बर्बाद करता है। ऐसे डॉक्टर हमारे समाज के लिए, हमारे देश के लिए किसी कलंक से बढ़कर नहीं है। वह कलंक ही हैं चाहे डॉक्टर हो चाहे कोई बिजनेसमैन हो कोई भी हो ये अंग तस्करी जैसे अपराधों में उचित से उचित दंड इन लोगों को मिलना चाहिए। आज लोगों की सबसे बड़ी जरूरत है पैसा।

लोग पैसे के लालच में अंग तस्करी करने से पीछे नहीं हटते। अंग तस्करी की वजह से आज हम देखें तो लोग कई हॉस्पिटलों में जाने से भी डरते हैं क्योंकि वह डॉक्टर रूपी भगवान पर भी पूरी तरह से विश्वास नहीं कर पाते। अंग तस्करी की वजह से ही लोगों की स्थिति गंभीर हो जाती है कुछ लोग तो समय से पहले ही अपने जीवन से हाथ धो बैठते हैं, कुछ लोगों के भाई-बहन, मां-बाप उनसे दूर हो जाते हैं यह अंग तस्करी की समस्या देश दुनिया में बहुत ही तेजी से फैल रही है।

आज इस अंग तस्करी पर दिए जा रहे इस भाषण का मेरा मकसद यही है कि हम मानव हैं और मानवता को समझें। हम लोगों के साथ अच्छी तरह पेश आएं, लोगों का व्यापार ना करें, लोगों के अंगों का व्यापार न करे और जीवन में मिलजुलकर रहे। हमें चाहिए कि हम देश में प्रदूषण ना फैलाएं, देश को स्वच्छ रखें और वस्तुओ का दुरूपयोग ना करें क्योंकि अंगों की गंभीर बीमारियां भी हो जाती हैं जिस वजह से अंगो की मांग बढ़ती है और अंग तस्करी जैसा व्यापार होता है। हमें चाहिए कि हम स्वस्थ रहें और अपने परिवार को भी स्वस्थ रखें और प्रदूषण से अपने वातावरण को बचाएं और अंगदान करें तो जरूर ही हम अंग तस्करी जैसे अपराधों को दूर कर सकते हैं धन्यवाद।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल  Speech on organ trafficking in hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *