बातचीत का महत्व पर निबंध Short essay on bathcheeth ka mahatva in hindi

Short essay on bathcheeth ka mahatva in hindi

Bathcheeth ka mahatva – दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बातचीत के महत्व पर लिखे निबंध के बारे में बताने जा रहे हैं । तो चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और इस आर्टिकल को पढ़कर बातचीत के महत्व के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करते हैं ।

Short essay on bathcheeth ka mahatva in hindi
Short essay on bathcheeth ka mahatva in hindi

बातचीत के महत्व के बारे में – बातचीत का मनुष्य के जीवन में एक बहुत बड़ा महत्व है क्योंकि बातचीत के माध्यम से बड़ी से बड़ी , छोटी से छोटी समस्याओं का निराकरण किया जा सकता है । बातचीत  करने से ही  किसी व्यक्ति के  रूप का साक्षात्कार होता है ।  बातचीत किसी भी मुद्दे पर की जा सकती है । जब किसी सभा का आयोजन किया जाता है और उस सभा में जिस विषय पर बातचीत करना होता है उस बातचीत को करने के लिए किसी विशेष व्यक्ति को आमंत्रित किया जाता है और वह व्यक्ति उसी विषय पर बातचीत करता है और सभी लोग उसकी बातों को ध्यान से सुनते हैं ।

बातचीत सिर्फ मंच पर ही नहीं की जाती है बल्कि बातचीत किसी एक व्यक्ति से भी की जा सकती है । जैसे कि यदि कोई मित्र हमसे मिलने आया है तो अपने मित्र से हम बातचीत करना प्रारंभ करते हैं । सबसे पहले अपने मित्र के परिवार की जानकारी लेते हैं और उसके स्वास्थ्य की भी जानकारी हम लेते हैं । उसके बाद हम आगे की चर्चा प्रारंभ करते हैं ।बातचीत कभी भी खत्म नहीं होती है सिर्फ मुद्दे बदल जाते हैं । जब व्यक्ति 8 से 10 लोगों के बीच में खड़ा होकर बातचीत करता है तब वह बातचीत समूह में की जाती है और वह व्यक्ति सभी के हित में बातचीत करता है ।

बातचीत के माध्यम से ही मनुष्य अपने अकेलेपन को दूर करता है । यदि बोलने की शक्ति भगवान ने नहीं दी होती तो यह दुनिया काफी अधूरी अधूरी सी नजर आती । भगवान ने मनुष्य को बोलने की शक्ति दी है जिस शक्ति का उपयोग मनुष्य बातचीत करने में करता है । बातचीत करने के तरीके व्यक्तियों के हिसाब से बदल जाते हैं । जैसे कि जब कोई व्यक्ति अपने माता-पिता से बातचीत करता है तब उसकी बातचीत करने का तरीका अलग होता है ।जब कोई व्यक्ति अपने टीचर , अध्यापक से बातचीत करता है तब उसके बातचीत करने का तरीका कुछ अलग होता है ।

जब व्यक्ति अपने मित्र , अपने सखा से बातचीत करता है तब वह खुलकर बातचीत करता है । किसी व्यक्ति की समस्या के निवारण के लिए भी बातचीत का सहारा लिया जाता है । बातचीत के माध्यम से ही व्यक्ति की समस्याओं का निराकरण किया जाता है । यदि किसी व्यक्ति को किसी विषय की जानकारी लेना हो तो उसे कई लोगों से बातचीत करने की आवश्यकता होती है । जब वह सभी लोगों से बातचीत करते करते उस व्यक्ति के पास पहुंच जाता है जिस व्यक्ति के पास उस व्यक्ति के सवालों के जवाब होते हैं तब वह उस व्यक्ति से  अपने सवालों का  आंसर ले लेता है ।

भगवान ने मनुष्य को बोलने की शक्ति इसीलिए दी है जिससे कि मनुष्य बातचीत कर सके , लोगों के साथ बैठकर सुख-दुख के निवारण की बातचीत कर सकें , समस्याओं के निवारण की बातचीत कर सकें । हम सभी जानते हैं कि किसी व्यक्ति की समस्या बड़ी हो या छोटी सभी तरह की समस्याओं का निवारण बातचीत के माध्यम से ही किया जा सकता है क्योंकि एक अकेला व्यक्ति बड़ी से बड़ी छोटी-छोटी समस्याओं का निवारण नहीं कर सकता है । उसे सहयोग की आवश्यकता होती है और सहयोग उसे तब प्राप्त होता है जब वह लोगों से बातचीत करेगा , अपनी समस्याओं को बताएगा ।

देश के विकास के मुद्दे की बात हो या किसी राज्य के विकास के मुद्दे की बात हो सरकार जनता की भलाई के लिए जनता के सहयोग की कामना के लिए जनता से मंच पर बातचीत करती है । जब किसी व्यक्ति के घर के सदस्यों में आपसी विवाद , मतभेद हो तो उस मतभेद को खत्म करने के लिए किसी दूसरे व्यक्ति का वहां पर जाना  आवश्यक होता है , घर के सदस्यों से बातचीत करना बहुत ही आवश्यक होता है क्योंकि जब वह दूसरा व्यक्ति घर के सदस्यों से बातचीत करेगा तो उनकी समस्याएं सामने आएंगी । जब समस्याएं सामने आएंगी तब उनका आपसी मतभेद खत्म होगा और सभी सुखी जीवन जिएंगे ।

बातचीत करने से मनुष्य का अकेलापन दूर हो जाता है । जब किसी दो व्यक्तियों की आपस में लड़ाई झगड़ा हो जाता है तब उस लड़ाई झगड़े को खत्म करने के लिए बातचीत का सहारा लिया जाता है और बातचीत के माध्यम से दोनों के झगड़े को खत्म किया जाता है ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह बेहतरीन आर्टिकल बातचीत का महत्व पर निबंध Short essay on bathcheeth ka mahatva in hindi यदि आपको पसंद आए तो सबसे पहले आप सब्सक्राइब करें । इसके बाद अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों में शेयर करना ना भूलें । दोस्तों यदि आपको इस आर्टिकल में कुछ गलतियां , कमी नजर आती है तो आप हमें कृपया कर उस गलती या कमी के बारे में हमारी ईमेल आईडी पर अवश्य बताएं जिससे कि हम उस गलती को सुधार कर यह आर्टिकल आपके समक्ष पुनः प्रस्तुत कर सकें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *