भगत सिंह के नारे “shaheed bhagat singh slogan hindi”

shaheed bhagat singh slogan hindi

दोस्तों आज हम shaheed bhagat singh slogan hindi शेयर करने वाले है.शहीद भगत सिंह जी हमारे देश के महान क्रांतिकारियों में से एक है,इन्होने बचपन से ही देखा की अंग्रेज भारतीयों पर अत्याचार करते थे इसलिए इनका शुरू से ही विचार था की अंग्रेजो को इस देश के बहार निकालना है,ये महान सेनानी २३ साल की उम्र में शहीद हो गए थे लेकिन इनकी ये कुर्वानी बेकार नहीं गयी बल्कि हमारे देश को आजाद कराकर ही रही,भगत सिंह जी ने अंग्रेजो से लड़ते वक़्त जो नारे लगाए उनके बारे में हम नीचे जानने वाले है तोह चलिए पढ़ते है इनके नारे जो आपको इनकी याद दिलाकर,आपके रगों में भी जोश पैदा कर देंगे.

पहला नारा-इन्कलाब जिंदाबाद

इन्कलाब जिंदाबाद का नारा उस समय दिया गया था जब हमारा भारत अंग्रेजो की कैद में था,इस नारे का प्रमुख उद्धेश्य ये था की भारत के हर एक नागरिक में क्रान्ति की भावना आये और क्रान्ति हमेशा जिन्दा रह सके.जिससे हर एक को आजादी मिल सके,भगत सिंह जी ने दिल्ली में धमाका करते वक्त इस नारे को दोहराया था,तब से ये हर एक की जुवान पर है.

दूसरा नारा-साम्राज्यवाद का नाश हो

इस नारे को कहने का प्रमुख उद्देश्य उस समय के साम्राज्यवाद का नाश करना था,ये नारा शहीद भगत सिंह ने सेन्ट्रल असेबलि में बम फेकने के बाद किया था,वोह साम्राज्यवाद को अपने देश से समाप्त करना चाहते थे और अपने देश को आजादी दिलाने के साथ ही उन्होंने अपने इस नारे को भी हमेशा हमेशा के लिए लोगो की जुबान पर रख दिया.भलेही भगत सिंह जी शहीद हो गए लेकिन उनकी कुर्वानी बेकार नहीं गयी,वोह हम सभी को उपहार में आजादी दे गए.

शहीद भगत सिंह जी के ये नारे लोगो को हमेशा हमेशा के लिए याद रह गए क्योकि ये नारे हम सभी को आजादी दिलाते वक़्त कहे गए थे.

इन्हें भी पढें-लाला लाजपत राय के प्रमुख नारे  Sardar Bhagat Singh Life History in Hindi”

अगर आपको हमारी ये पोस्ट shaheed bhagat singh slogan hindi पसंद आई हो तोह इसे शेयर जरुर करे और हमारी अगली पोस्ट सीधे अपनी email id पर पाने के लिए हमे subscribe करे और हमें comments करना ना भूले.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *