समाज सुधारक पर निबंध samaj sudharak essay in hindi

samaj sudharak essay in hindi

दोस्तों हमारा भारत देश एक विशालकाय देश है इस भारत देश में अनेक जाति, धर्म के लोग एक साथ मिलजुल कर रहते हैं लेकिन कुछ लोगों की वजह से जाति धर्म के लोगों में कई बार विवाद खड़े होते हुए भी देखे जाते हैं और कई अमीर गरीबों का शोषण करते हैं तो कुछ उच्च जाति के लोग निम्न वर्ग के लोगों का भी शोषण करते हुए देखे जाते हैं वही हिंदू, मुस्लिम, सिख, इसाई जैसे धर्मों के बीच भी कई बार दंगे होते हुए भी देखे जाते हैं यह सब उन लोगों के द्वारा किया जाता है जो देश में हिंसक प्रवृत्ति अपनाकर देश को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं।

samaj sudharak essay in hindi
samaj sudharak essay in hindi

हमारे भारत देश में विभिन्न जाति, धर्म, गरीबी, अमीरी, रंगभेद, लिंगभेद आदि के भेदभाव की वजह से अनेक कुप्रथाओ, बुराइयों ने भी जन्म लिया है जैसे कि सती प्रथा, बाल विवाह प्रथा, पुनर्विवाह प्रथा, दहेज प्रथा इन बुराइयों की वजह से हमारे समाज को काफी नुकसान हुआ है लेकिन समाज सुधारकों की वजह से इन बुराइयों को दूर करने में काफी हद तक मदद मिली है।

समाज सुधारकों ने अपना पूरा जीवन समाज को सुधारने में लगा दिया है समाज की इन बुराईयों जैसे सती प्रथा, बाल विवाह प्रथा, दहेज प्रथा, छुआछूत आदि को दूर करने के लिए समाज सुधारकों ने काफी प्रयत्न किया है जिनकी वजह से आज हमारे इस आधुनिक युग का निर्माण हुआ है. समाज सुधारको ने निम्न वर्ग के लोगों को आरक्षण दिलवाया और उनकी काफी मदद की. जिन लोगों के साथ छुआछूत जैसा बर्ताव किया जाता था समाज सुधारको ने उन्हें समाज में एक स्थान दिलवाया और लड़कियों, बच्चों आदि पर हो रहे अत्याचारों के खिलाफ भी समाज सुधारको ने आवाज उठाई।

कई समाज सुधारकों ने देश और विदेशों में भी अपने सच्चे धर्म की स्थापना की और ज्ञान का प्रसार चारों और किया. बहुत से समाज सुधारक ऐसे भी थे जिन्होंने अपना सारा जीवन गरीबों की सेवा करने में लगा दिया वास्तव में हमें हमारे भारत देश पर गर्व करना चाहिए कि भारत देश में इस तरह के कई समाज सुधारक हैं जिन्होंने अपना सारा जीवन समाज को सुधारने में लगा दिया।

bharat ke samaj sudharak in hindi

भारत के समाज सुधारको में कई महान लोग हैं जैसे कि स्वामी विवेकानंद जी जिन्होंने अपने ज्ञान का प्रसार देश ही नहीं विदेशों तक किया वास्तव में ऐसे समाज सुधारक धरती पर कभी कंवार ही जन्म लेते हैं। डॉक्टर भीमराव अंबेडकर जिन्होंने अपना सारा जीवन निम्न वर्ग यानी अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के भले के लिए लगा दिया उन्होंने इन वर्गों के लोगों के लिए आरक्षण की व्यवस्था की और छुआछूत से उन्हें मुक्ति दिलवाई उन्हें समाज में उच्च स्थान दिलवाया।

मदर टेरेसा ने अपना सारा जीवन जरूरतमंद लोगों और गरीब लोगों के लिए समर्पित कर दिया था वास्तव में ये एक ऐसी समाजसेविका थी जिन्हें हर कोई हमेशा के लिए याद रखेगा ऐसे और भी कई समाज सुधारक हैं जैसे कि महात्मा गांधी जी, राजा राममोहन राय, श्रीराम शर्मा आचार्य इन सभी समाज सुधारकों ने समाज का मार्गदर्शन किया।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल samaj sudharak essay in hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *