साक्षरता अभियान पर निबंध saksharta abhiyan essay in hindi

saksharta abhiyan essay in hindi

दोस्तों आज हम आपके लिए लाए हैं साक्षरता अभियान पर निबंध । इस निबंध को पढ़कर आप ज्ञान प्राप्त करेंगे की हम सभी को पढ़ना लिखना कितना आवश्यक है । बिना साक्षरता प्राप्त किए कोई भी व्यक्ति सफलता प्राप्त नहीं कर सकता है। चलिए अब हम पढ़ेंगे साक्षरता अभियान के निबंध को।

साक्षरता का अर्थ है शिक्षा प्राप्त करना । जो व्यक्ति शिक्षा प्राप्त करता है वह अपने जीवन को सही ढंग से जीता है । शिक्षा प्राप्त करने के बाद उसके जीवन में ज्ञान का उजाला होता है । वह किस तरह से अपने जीवन को आनंद एवं खुशी दे सकता है इसका ज्ञान उसको शिक्षा प्राप्त करने के बाद होता है । यदि कोई व्यक्ति शिक्षा प्राप्त करता है तो वह किसी भी क्षेत्र में सफल व्यक्ति बन जाता है । जो व्यक्ति शिक्षा से दूर भागता है उसके जीवन में अंधकार ही अंधकार होता है । वह किसी भी क्षेत्र में सफलता प्राप्त नहीं कर पाता है क्योंकि उस व्यक्ति को किसी तरह का कोई भी ज्ञान नहीं होता है । पूरे विश्व में साक्षरता को प्रधानता दी गई है ।

saksharta abhiyan essay in hindi
saksharta abhiyan essay in hindi

image source –https://www.asklaila.com/

जिस देश के लोग सबसे ज्यदा पढ़े लिखे होते हैं उस देश में सबसे अधिक विकास होता है । वहां के लोग सफलता की ऊंचाइयों पर पहुंचते है । साक्षरता दिवस पूरे विश्व में हर साल मनाया जाता है । साक्षरता दिवस 8 सितंबर को मनाया जाता है । इस दिवस को मनाने का सबसे बड़ा उद्देश्य यह है कि विश्व के सभी लोग शिक्षा प्राप्त करें । कोई भी व्यक्ति अनपढ़ ना रहे। उनके जीवन में जो अंधकार है उस अंधकार को ज्ञान के द्वारा दूर किया जाए । इस आंदोलन की शुरुआत सर्वप्रथम यूनेस्को के द्वारा 1966 में की गई थी और यह अभियान चलाया गया था की हम सभी को अपने देश में साक्षरता को बढ़ावा देना चाहिए । इस अभियान के तहत यह टारगेट रखा गया की 1990 तक पूरे विश्व में कोई भी अनपढ़ नहीं रहेगा ।

इस अभियान को सबसे ज्यादा उन देशों में चलाया गया जहां के लोग पढ़ाई में विश्वास नहीं रखते थे जिससे उनका जीवन अंधकार से भरा रहता था । 1995 तक यह अभियान ऐसे देशों में चलाया गया जहां के लोग पढ़ते नहीं थे । जब हमारा देश अंग्रेजों का गुलाम था तब हमारे देश में भी शिक्षा को बढ़ावा नहीं दिया जाता था । हमारे देश के कम लोग पढ़ाई करते थे । सबसे ज्यादा लोग अनपढ़ रहते थे । हमारे देश को आजादी मिलने के बाद देश में शिक्षा स्तर बढ़ा है । आज देश के सभी लोग पढ़ाई करने में लगे हुए हैं जिससे हमारा देश विकास कर रहा है । देश का शिक्षा स्तर को बढ़ाने के लिए देश की सरकार भी तरह तरह के कार्यक्रम चला रही है ।

कई तरह के अभियान सरकार के द्वारा चलाया जा रहा है जैसे कि प्रोड शिक्षा अभियान, सर्व शिक्षा अभियान, राजीव गांधी साक्षरता मिशन, मिड डे मील योजना आदि । साक्षरता अभियान के तहत हमारे देश में अभियान चलाया जा रहा है । इस अभियान को दो भागों में बांटा गया है । पहले भाग में वह व्यक्ति आते हैं जो स्कूल जाकर शिक्षा प्राप्त नहीं कर पा रहे हैं। उनको अनौपचारिक शिक्षा में रखा गया है । जो स्कूल में जाकर शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं उनको औपचारिक शिक्षा में रखा गया है ।

हमारे देश में जिस व्यक्ति की उम्र 15 से 35 वर्ष की है उसको प्रोड शिक्षा के दायरे में रखा है । जो व्यक्ति 15 वर्ष से कम उम्र का है उसे अनौपचारिक शिक्षा के तहत रखा गया है । हमारे देश में शिक्षा का स्तर बहुत बढ़ा है जिससे भारत देश के लोग सफल हुए हैं । साक्षरता अभियान चलाकर लोगों के जीवन में जो अज्ञान का अंधेरा था वह दूर किया गया था इस अभियान के द्वारा ही उनके जीवन में ज्ञान का उजाला हुआ था । साक्षरता अभियान सफल भी रहा है । इस अभियान के बाद हमारे देश के लड़की ,लड़का शिक्षा की ओर बढ़े हैं । पहले लड़कियों को पढ़ाया नहीं जाता था लेकिन आज देश की लड़कियां भी शिक्षा प्राप्त करने के लिए आगे बढ़ी हैं ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख साक्षरता अभियान पर निबंध saksharta abhiyan essay in hindi आपको पसंद आए तो सब्सक्राइब जरूर करें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *