साहित्य और संस्कृति पर निबंध sahitya aur sanskriti essay in hindi

sahitya aur sanskriti essay in hindi

आज साहित्य और संस्कृति हमारे जीवन के दो सुंदर पहलू हैं जिनको हम सभी को अपने जीवन में अपनाना चाहिए. साहित्य और संस्कृति का भारत में बड़ा ही महत्व है । आज हम सभी संस्कृति में बंधे हुए हैं और साहित्य हमारे जीवन में रंग भरता है संस्कृति से हमारा देश जगमगाता है यानी देश में बहुत कुछ अच्छा देखने को मिलता है। हमारे देश की संस्कृति में साहित्य का बड़ा ही योगदान रहा है साहित्य मानव की जिंदगी को दर्शाता है , साहित्य हमारी संस्कृति को दर्शाता है साहित्य हमको अच्छा बुरा, पाप पुण्य आदि समझाता है ।

साहित्य के माध्यम से हमारे देश की संस्कृति को पहचाना जा सकता है. पुराने समय में हमारे देश में किस तरह की संस्कृति थी यहां के लोग किस तरह से रहते थे, किस तरह से लोक नृत्य आदि करते थे यह सब हम साहित्य के माध्यम से जान सकते हैं और अपने देश की संस्कृति को अपनाकर इस देश को महान देश का दर्जा दिला सकते हैं । साहित्य , संगीत और संस्कृति का हमारे जीवन में बड़ा महत्व है और हम सभी को यह कोशिश करना चाहिए कि हमारे भारत की संस्कृति को अपनाकर इस बदलती हुई दुनिया में हमारी संस्कृति को हम बचा सकें ।

sahitya aur sanskriti essay in hindi
sahitya aur sanskriti essay in hindi

https://hi.wikipedia.org/wiki/

हमारे देश के साहित्यकारों के द्वारा लिखे गए साहित्य को जानकर हम हमारे पुराने पूर्वजों के बारे में पता कर सकते हैं कि वह किस तरह से लोक कथा , लोक नृत्य , लोकनाट्य , लोक संगीत , लोक कथाएं करते थे और अपनी इस जिंदगी को खुशनुमा जिंदगी बना कर जीते थे । जब लोग पुराने समय में शास्त्रीय संगीत गाते थे तो भारत के लोग उस संगीत का लुफ्त उठाते थे.

नाटक की झांकियों में सुंदर सुंदर वस्त्र पहनकर नाटक करते थे तब उस नाटक का जो आनंद आता था उस आनंद के जरिए हमारे जीवन में उत्साह का रंग भर जाता था अब वह आनंद आज हमारे जीवन में बचा ही नहीं है क्योंकि हम इस बदलती दुनिया के साथ बदलते जा रहे हैं और हमारी देश की संस्कृति पीछे जाती जा रही है । आज साहित्य का हमारे जीवन में बड़ा ही महत्व है जिसके जरिए हम पुरानी संस्कृति को देख सकते हैं यह उन साहित्यकारों की ही देन है जिन्होंने अपने द्वारा इस संस्कृति के बारे में लिखा है ।

आज हम हमारे पुराने भारत को देख सकते हैं साहित्यकारों ने अपनी कविताओं के माध्यम से देश की संस्कृति को बताने की और समझाने की भी कोशिश की है कि आज हम सभी को समझना है और भारत की संस्कृति को अपने जीवन में उतारना है जिससे कि हम हमारे देश की संस्कृति को बचा सकें और हमारे जीवन में उस संस्कृति का जो उमंग है उसको वापस ला सकें. हम सभी जानते हैं कि हमारे देश की जो संस्कृति है वह हम भारतवासियो की आत्मा है ।

जब हम किसी साहित्य को पढ़ते हैं तो उसके माध्यम से हमको पता चलता है कि हमारे पुराने समय के जो व्यक्ति हैं किस तरह से अपना जीवन यापन करते थे, किस तरह से वह त्यौहारों को मनाते थे । देश की संस्कृति ने आज हम सभी भारतवासियों को एक दूसरे से बांधकर रखा हुआ है जब हम सभी मिलकर राष्ट्रीय त्योहार मनाते है तब हमको हमारे देश की संस्कृति के विषय में मालूम पड़ता है की हमारे देश की संस्कृति कितनी अच्छी है ।

हमारे देश में कई धर्म के लोग रहते है इसके बावजूद भी बहुत से लोग हमारे भारत की संस्कृति की कदर करते हैं और हमारे देश की संस्कृति को बचाने का प्रयास करने में भी पीछे नहीं हटते.

ये लेख sahitya aur sanskriti essay in hindi आपको कैसा लगा हमें जरुर बताये.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *