रक्षाबंधन पर निबंध व कविता Raksha Bandhan Essay, Poem in Hindi

Raksha Bandhan Essay in Hindi

हमारे भारत देश में कई तरह के धार्मिक त्यौहार मनाए जाते हैं हम यह त्यौहार बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मिलजुलकर मनाते हैं इन सभी त्योहारों में रक्षाबंधन का त्यौहार भी आता है यह त्यौहार हम सभी के जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है क्योंकि यह भाई बहन के बंधन का एक त्यौहार होता है यह जुलाई और अगस्त महीने में पड़ता है इस त्योहार के आने से कुछ समय पहले से ही तैयारियां शुरू हो जाती है।

Raksha Bandhan Essay, Poem in Hindi
Raksha Bandhan Essay, Poem in Hindi

रक्षाबंधन के कुछ दिनों पहले से ही बाजार में दुकानें लगना शुरू हो जाती हैं गांव से भी बहुत सारे लोग राखियां खरीदने के लिए और सामान खरीदने के लिए आते हैं। गांव और शहर सभी जगह हर्षोल्लास का माहौल होता है बाजार में भीड़ होती है दुकानों के बाहर भी राखी की दुकानें सजाई जाती हैं। औरतें अपने भाइयों के लिए राखियां खरीदती हैं शादीशुदा औरतें कुछ दिन पहले से ही अपने मायके यानी भाई के यहां पर जाने की तैयारी करती हैं।

यह त्योहार काफी पहले समय से ही मनाया जाता है यह रक्षाबंधन का त्यौहार भाई-बहन के प्रेम का भी प्रतीक होता है इस रक्षाबंधन के त्यौहार के दिन बहने अपने भाई के हाथों में राखी बांधने के लिए खुशी में झूम जाती हैं वह थाली सजाकर उसमें रोली, चावल आदि रखकर दीपक जलाकर अपने अपने भाई की आरती उतारती हैं और तिलक लगाकर चावल भी लगाती हैं और अपने भाई के दाएं हाथ में राखी बांधती हैं और अपने हाथों से मिठाई खिलाती हैं.

भाई भी अपनी बहन को राखी बांधने के बदले में कुछ उपहार या पैसे आदि देता है। बहन इस दिन अपने भाई की खुशहाली की कामना करती है और भाई अपनी बहन की रक्षा का वचन देता है जिन भाइयों के बहने नहीं होती वह इस रक्षाबंधन के दिन अफ़सोस करते हैं कि काश हमारी बहन होती जिससे वह राखी बंधा पाते।

रक्षाबंधन का त्यौहार भाई बहन के प्रेम को दर्शाता है यह त्यौहार भारतीयों का एक प्रसिद्ध त्योहार है प्राचीन काल में कुछ रानियों ने अपने राज्य की रक्षा के लिए भी राखी बांधी थी और अपने राज्य को बचाया था। यह भी कहते हैं कि एक बार श्री कृष्ण सक्रांति की तैयारी के लिए कुछ काट रहे थे तभी उनके हाथ में चोट लग गई.

वहां पर रुकमणी और द्रोपदी थी तभी रुकमणी ने अपने सेवक को आदेश दिया कि वह कोई सा कपड़ा श्री कृष्ण के हाथ को साफ करने के लिए लाए लेकिन तभी द्रौपदी ने अपनी साड़ी का पल्लू फाड़कर भगवान श्री कृष्ण के हाथ में बांधकर उनका बहता हुआ खून रोका था तब श्री कृष्ण ने द्रौपदी की रक्षा का वचन दिया था तभी से यह रक्षाबंधन का त्यौहार मनाया जाता है। वैसे रक्षाबंधन के त्यौहार से संबंधित कई धार्मिक कथाएं भी हैं रक्षाबंधन के त्यौहार का एक अलग ही महत्व है।

लड़कियां जब बड़ी होती हैं तो उनकी शादी होती है और वह अपने माता-पिता, भाइयों से दूर हो जाती हैं राखी के त्यौहार के दिन वह अपने भाइयों से राखी बांधने के उद्देश्य से उनके पास आती हैं जिससे रिश्ते भी मजबूत होते हैं और एक दूसरे में प्रेमभाव भी आता है। इस त्योहार की वजह से भाई को अपनी बहन के प्रति कर्तव्य का एहसास भी होता है। आज हम देखें तो हमारे देश में लड़कियों, औरतों पर कई तरह के अत्याचार हो रहे हैं रक्षा बंधन के त्यौहार के दिन एक भाई अपनी बहन की रक्षा का वचन लेता है.

इस वजह से भाई अपनी बहनों की रक्षा करने के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं जिससे औरतों की स्थिति भी मजबूत होती हैं इसलिए वास्तव में रक्षाबंधन का त्यौहार बहुत ही महत्वपूर्ण होता है इसका हमारे जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका होती है हमें बहुत ही हर्षोल्लास के साथ इस रक्षाबंधन के त्यौहार को मनाना चाहिए।

रक्षाबंधन पर कविता Raksha Bandhan Poem in Hindi

आया है रक्षाबंधन

भाई बहनों के प्रेम का बंधन

मिल जुलकर बहनों के संग मनाएंगे

रक्षाबंधन हम मनाएंगे

 

राखी के दिन बहने थाली सजाती

राखी बांधकर प्रेम जताती

चेहरे पर खुशी का भाव होता

हाथों में भाई के लिए मिष्ठान होता

 

बहन की रक्षा के लिए भाई वचन देता

खुशी में वह बहन को उपहार देता

भाई बहन की खुशी का ना ठिकाना होता

प्रेम और खुशी का यह रक्षाबंधन होता

 

भाई बहन के लिए खुशी लाया है

भाई बहनों को मिलाने का एक मौका लाया है

आया है रक्षाबंधन

भाई बहनों के प्रेम का बंधन

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल Raksha Bandhan Essay in Hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल Raksha Bandhan Poem in Hindi कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *