पुस्तकालय का महत्व पर निबंध Hindi essay pustakalaya ka mahatva

Hindi essay pustakalaya ka mahatva

दोस्तों कैसे हैं आप सब,दोस्तों आज का हमारा आर्टिकल पुस्तकालय का महत्व आप सभी के लिए बड़ा ही हेल्पफुल है हमारे आज के इस आर्टिकल से कोई भी विद्यार्थी अपने स्कूल,कॉलेज की परीक्षा में निबंध लिखने के लिए यहां से जानकारी ले सकता है साथ में आज हम देखें तो पुस्तकालय बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है इस आर्टिकल को पढ़कर आप पुस्तकालय के महत्व को समझ सकेंगे तो चलिए पढ़ते हैं आज के हमारे इस आर्टिकल को

Hindi essay pustakalaya ka mahatva
Hindi essay pustakalaya ka mahatva

पुस्तकालय यह शब्द दो शब्दों से मिलकर बना होता है पुस्तक यानी वह किताब जिसमें बहुत सारी शिक्षाप्रद ज्ञान की बाते लिखी होती हैं और आलय यानी स्थान.कहने का तात्पर्य यह है कि वह स्थान जहां पर बहुत सारी पुस्तकें होती है पुस्तकालय कहलाता है आज हम देखें तो हमारे जीवन में पुस्तकें बड़ी ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं पुस्तकें हमें ज्ञानवान बनाती हैं हमें जीवन में समझने की क्षमता प्रदान करती हैं साथ में हमें नैतिक ज्ञान कराकर समाज में रहने योग्य बनाती हैं.

हमारे जीवन में पुस्तकों का बड़ा ही महत्व है आज के युग में लोगों के पास समय नहीं है लेकिन जब भी वह फ्री रहते हैं तो पुस्तकें उनके साथ एक अच्छे मित्र तरह रहकर उनका साथ देती हैं और हर समस्या का हल उन्हें प्रदान करती है.पुस्तकें कुछ ना बोले ही बहुत कुछ बोल जाती हैं और कभी-कभी दिल पर छा जाती है हमारे जीवन में जिस तरह से इन पुस्तकों का महत्व है उसी तरह पुस्तकालयों का भी महत्व बहुत है.

पुस्तकालय यहां पर बहुत सारी पुस्तकें हमें एक साथी उपलब्ध हो जाती है पुस्तकालय के दो भाग होते हैं एक भाग में बहुत सारी पुस्तकें रखी होती हैं और दूसरे भाग में उन पुस्तकों तक पहुंचने के लिए कुछ लोग बैठे होते हैं जहां पर वह अंदर आने जाने वालों के नाम की एंट्री करते हैं पुस्तकालय का हमारे जीवन में बड़ा ही महत्व है है.

आज हम देखे हैं तो बहुत सारी ऐसी किताबें मार्केट में आ चुकी हैं जिनसे हमें बहुत लाभ होता है एक ही विषय पर हम बहुत सारी पुस्तकें पढ़ने के लिए मार्केट से खरीद सकते हैं लेकिन उनको खरीदना बहुत महंगा पड़ सकता है. पुस्तकालय से हम आराम से वह पुस्तके पढ़ सकते हैं जिससे हम एक ही विषय की विभिन्न प्रकार की जानकारियां विभिन्न प्रकार के लोगों द्वारा प्रदान की जाने वाली जानकारियां आसानी से ले सकते हैं.

पुस्तकालय में प्रवेश करने वालों के साथ कोई भेदभाव नहीं होता पुस्तकालय में प्रवेश कोई बच्चा,बूढ़ा,नौजवान,स्त्री कोई भी हो सकते हैं कोई भी अपने ज्ञान को बढ़ाने के लिए पुस्तकालय में प्रवेश कर सकता है आज हम देखें तो शिक्षा के मामले में सभी तरह के भेदभाव खत्म हो चुके हैं कोई भी अपने ज्ञान को बढ़ाने के लिए पुस्तकालय जाकर अच्छी तरह ज्ञान प्राप्त कर सकता है.

पुस्तकालय का एक और महत्व है हमारे देश में बहुत सारे ऐसे गरीब लोग भी हैं जिनके पास बहुत सारी पुस्तके खरीदने के लिए पैसे नहीं है वह बुक पढ़ना चाहते हैं आगे बढ़ना चाहते हैं और जीवन में खुश रहना चाहते हैं वह अपने मां बाप का नाम रोशन करना चाहते हैं लेकिन अधिक पैसा ना होने के कारण बहुत सी किताबें नहीं ले सकते और पुस्तकालय ऐसे ही लोगों की मदद करता है.बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं जो अपने जीवन में बोरिंग महसूस करते हैं अकेले रहते रहते उनको जीवन अच्छा नहीं लगता उनका कोई मित्र भी नहीं होता तो पुस्तकें उनकी सबसे अच्छी मित्र हो सकती हैं ऐसे लोग पुस्तकालय में जाकर अपनी पुस्तक मित्रों के साथ कुछ समय गुजार कर अपने जीवन को खुशहाल रख सकते हैं.

आजकल हम देखे हैं तो मार्केट में बहुत सारी किताबें उपलब्ध हैं हम अगर ज्ञान प्राप्त करना चाहते हैं तो इतनी सारी किताबें लेना किसी के लिए भी नामुमकिन होता है तो हम पुस्तकालय में जा कर पुस्तकों को पढ़कर ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं. पुस्तकों का एक और महत्व भी है कि बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो सिर्फ एक बार बुक पढ़ना चाहते हैं और वापस करना चाहते हैं यानी महंगी किताबों को खरीद कर पैसे इन्वेस्ट नहीं करना चाहते वह सिर्फ कुछ समय तक उस पुस्तक को बस पढ़ना चाहते हैं पुस्तकालय ऐसे लोगों की मदद करता है हम पुस्तकालय में जाकर कुछ समय तक अपनी रुचि के अनुसार पुस्तकें पढ़कर वापस रख सकते हैं.

बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं जो विभिन्न विषयों पर मनोरंजन,विज्ञान इत्यादि पर अपनी शिक्षा करना चाहते हैं लेकिन महंगी महंगी किताबों को खरीदना उनके बस की बात नहीं होती ऐसे बच्चे,बूढ़े,नौजवान पुस्तकालय का उपयोग करके अपने ज्ञान को बढ़ा सकते हैं. हमारे जीवन में वास्तव में पुस्तकालयों का बहुत महत्व है देश में ज्यादा पुस्तकालय तो नहीं है उम्मीद करते हैं कि आने वाले समय में बहुत सारे पुस्तकालय हो और हर किसी को ज्ञान प्राप्त करने का मौका मिले इससे हमारा देश आगे बढ़े.

हम सभी को पुस्तकालय के महत्व को समझना चाहिए और हमारे आस-पास या स्कूल के पुस्तकालय में हमें नियमित जाना चाहिए क्योंकि पुस्तकें हमारी दोस्त भी हैं और हमारे गुरु भी हैं पुस्तके हमारा मार्गदर्शन करती हैं हमें ज्ञानवान बनाती हैं और विकट परिस्थिति में हमें सामना करना सिखाती है.यह सभी पुस्तकें हमें मार्गदर्शन देती हैं हमें पुस्तक और पुस्तकालय का महत्व समझकर उनका उपयोग करना चाहिए.

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह आर्टिकल Hindi essay pustakalaya ka mahatva पसंद आया हो तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा इसी तरह के नए नए आर्टिकल पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें.

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *