पुलिस समाज के रक्षक पर निबंध Police samaj ke rakshak essay in hindi

police samaj ke rakshak essay in hindi

police samaj ke rakshak-दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से पुलिस समाज के रक्षक पर निबंध के बारे में बताने जा रहे हैं । चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और पुलिस एक समाज के रक्षक पर लिखे निबंध को पढ़ते हैं ।

Police samaj ke rakshak essay in hindi
Police samaj ke rakshak essay in hindi

पुलिस के बारे में – पुलिस समाज के लिए एवं सभी नागरिकों के लिए बनाई गई है । पुलिस सभी नागरिकों की रक्षा , सुरक्षा करती है । यदि पुलिस नहीं होती तो कोई भी नियम और कानून को नहीं मानते । पुलिस के कारण ही सभी लोग नियम , कानून के दायरे में रहकर काम करते हैं । पुलिस के बिना समाज सुरक्षित नहीं रह सकता है । पुलिस देश की रीड की हड्डी होती है । पुलिस देश के विकास के हर कार्यों में अपना योगदान देती है । पुलिस हर क्षेत्र में अपना योगदान देती है ।

जब देश को विकास की ओर ले जाने के लिए चुनाव होते हैं तब पूरे देश की रक्षा , सुरक्षा का जिम्मा पुलिस के ऊपर ही होता है और पुलिस अपनी पूरी जिम्मेदारी ईमानदारी से निभाती हैं ।पुलिस का काम बहुत ही गर्व महसूस करने वाला होता है । पुलिस की वर्दी की ताकत बहुत अधिक होती है क्योंकि उनके पास मुजरिमों को पकड़कर न्यायालय में पेश करने का अधिकार होता है ।

पुलिस के डर के कारण ही मुजरिम भागते भागते फिरते हैं । यदि पुलिस नहीं होती तो खून , खराबा , चोरी , डकैती की वारदातें बहुत अधिक बढ़ जाती और इन सब का मुआवजा गरीब परिवार एवं सीधे नागरिकों को भुगतना पड़ता । पुलिस सभी नागरिकों की सुरक्षा के लिए बनाई गई है । पुलिस के ऊपर देश की संपत्ति की सुरक्षा करना , देश के नागरिकों की सुरक्षा करने की जिम्मेदारी होती हैं । पुलिस का काम भारतीय संविधान के हिसाब से नियम , कानून पर चलना उनका कर्तव्य होता है । पुलिस बहुत साहसी होती है ।

पुलिस अपनी जान पर खेलकर हम सभी लोगों की सुरक्षा करती है । कई बार पुलिस सर्च ऑपरेशन में अपनी जान जोखम में डाल देती हैं । पुलिस का काम करना आसान नहीं होता है । वह खतरों से खेलते रहते हैं । पुलिस की ड्यूटी 24 घंटे की होती है । जब कोई बड़ा केस उनके हाथ में होता है तब कई दिनों तक अपने घर पर नहीं जा पाते हैं और कड़ी मेहनत करके उस केस को सुलझाते  हैं । यदि पुलिस नहीं होती तो कोई भी व्यक्ति किसी पर भी हमला करके उसे लूट लेता या फिर जान से उसे मार देता ।

इसलिए पुलिस का होना बहुत ही आवश्यक है । पुलिस कभी भी अपने फर्ज से पीछे नहीं हटती है । पुलिस एक मां की तरह अपने देश के नागरिकों की रक्षा करती हैं । पुलिस अपने देश के नागरिकों से प्यार करती है । पुलिस एक पिता की तरह अपने नागरिकों को सुधार कर सही रास्ता दिखा कर अपना कर्तव्य पूरा करती है । इसलिए देश में पुलिस का होना बहुत ही आवश्यक है । पुलिस को हमें सलाम करना चाहिए । क्योंकि वह 24 घंटे अपनी जान जोखिम में डालकर हम सभी लोगों की रक्षा करती हैं ।

पुलिस की नौकरी अन्य नौकरियों से अलग होती है । पुलिस को मुजरिम पर कार्यवाही करने का अधिकार प्राप्त होता है ।पुलिस जब किसी मुजरिम को पकड़ कर न्यायालय में पेश करती है तब उसका फर्ज पूरा होता है । देश में कोई भी यदि गलत काम हो रहा है तो उस काम को पुलिस के द्वारा रोका जाता है ।

यातायात ट्राफिक में पुलिस का योगदान – आज यातायात के साधनों की संख्या बहुत अधिक हो गई है । जब ट्राफिक जाम हो जाता है तब काफी भीड़ इकट्ठी हो जाती है और कई तरह की समस्या नागरिकों को होती है । इस तरह की समस्या को सुलझाने के लिए  ट्राफिक पुलिस रखी गई है । ट्राफिक पुलिस के माध्यम से ट्राफिक को कम किया जाता है जिससे कि जाम ना लगे । सिग्नल पर वह अपनी ड्यूटी बड़ी ईमानदारी से निभाते हैं । दोनों तरफ से आने एवं जाने वाले वाहनों को ट्राफिक सिग्नल के हिसाब से ट्राफिक पुलिस के द्वारा छोड़ा जाता है । जिससे कि एक्सीडेंट की समस्या ना हो ।

ट्राफिक पुलिस उन सभी वाहनों की जांच करती है जो चोरी के होते हैं । यदि कोई चोरी किया हुआ वाहन चलाता है तो ट्राफिक पुलिस उस वाहन को पकड़ लेती है । जब कोई यातायात नियमों का उल्लंघन करता है तब उसके खिलाफ यातायात पुलिस के द्वारा कार्यवाही की जाती है । लोगों की सुरक्षा के लिए ट्राफिक पुलिस को रखा गया है । नागरिकों की सुरक्षा के लिए नियम , कानून भी बनाए गए हैं । नागरिकों को हेलमेट लगाने का भी नियम सरकार के द्वारा बनाया गया है जिससे कि एक्सीडेंट के समय सिर पर गहरी चोट ना लगे । परंतु कोई भी नियमों का पालन नहीं करता है ।

वाहन चलाने बाला नागरिक अपनी जान जोखम में डाल देता है । कुछ गाड़ी चालक गाड़ी चलाते समय सीट बेल्ट का उपयोग नहीं करते हैं । यदि यातायात नियम तोड़ते हुए कोई पकड़ा जाता है तो उस पर यातायात पुलिस के द्वारा कठोर कार्रवाई की जाती है और उसको दंड दिया जाता है ।

लूट डकैती एवं गैरकनूनी काम को रोकने में पुलिस का महत्वपूर्ण योगदान – देश में चोरी , लूट मारी जैसी घटनाओं को रोकने के लिए पुलिस निरंतर तत्पर रहती है । जब किसी के घर में कोई चोर घुस जाता हैं और उसके घर का सारा सामान चोरी कर ले जाता हैं तब पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई जाती है और पुलिस उस रिपोर्ट के हिसाब से कार्यवाही करती है । पुलिस भारतीय नागरिकों को यह विश्वास दिलाती है कि वह कार्यवाही करके चोर को पकड़ने में अवश्य कामयाब होंगे । पुलिस अपने दिमाग से कार्यवाही करती है । उन सभी लोगों को गिरफ्तार करती है जो पहले चोरी के मामले में पकड़े गए थे ।

पुराने रिकॉर्ड के हिसाब से सभी को पुलिस थाने में पकड़ कर लाती है और उनसे पूछताछ करती है । एक बार जब पुलिस किसी केस पर कार्यवाही करने के लिए निकलती है पुलिस तब तक चैन नहीं लेती है जब तक मुजरिम को सलाखों के पीछे तक नहीं भेज देती हैं । पुलिस एक बार जब किसी केस को सुलझाने के कमर कसके तैयार हो जाती है तो वह तब तक चैन की सांस नहीं लेती है जब तक की मुजरिम को न्यायाधीश के सामने पेश ना कर दें । पुलिस के डर के कारण ही चोरी , डकैती के मामले कम सामने आते हैं  क्योंकि मुजरिम पुलिस के नाम से डरते हैं ।

चोरी करने वाले , डकैती करने वाले यह जानते हैं कि यदि पुलिस ने उनको पकड़ लिया तो उनको जेल में बंद कर दिया जाएगा , उन पर लाठी से मार दी जाएगी । इसलिए डर के कारण वह चोरी , डकैती करने से घबराते हैं ।

दंगे , हड़ताल , धरना , मेला , जुलूस में पुलिस की महत्वपूर्ण भूमिका – जब कहीं पर दंगे फसाद होते हैं तब पुलिस वहां पर जाकर नागरिको को शांति बनाए रखने की अपील करती है । जो दंगे फसाद कर रहा है उसको यह सूचना देती है कि यदि दंगे फसाद करना बंद नहीं किया तो उसको पुलिस के द्वारा सजा दी जाएगी । जब दंगे फसाद ज्यादा हो जाते हैं तब पुलिस लाठी चार्ज करके वहां से उपद्रवियों को भगाती  है और वहां पर शांति कायम करती है । पुलिस अपनी जान पर खेलकर वहां पर दंगे फसाद होने से रोकती है ।

जब कोई मेला लगता है तब वहां पर लाखों की संख्या में लोग पहुंचते हैं तब उनकी हिफाजत के लिए पुलिस वहां पर जाती है । वहां पर पुलिस चौकन्नी  रहती है कि कोई किसी तरह का कोई भी गलत काम ना करें । यदि कोई गलत काम करते हुए पकड़ा जाता है तो उसे थाने में बंद कर दिया जाता है । जब किसी फैक्ट्री या कोई सरकारी वर्कर हड़ताल पर बैठते हैं तब पुलिस वहां पर जाकर शांति बनाए रखने की अपील करती हैं । यदि कोई हड़ताल पर बैठा हुआ व्यक्ति कोई ऐसा काम करता है जिससे कि वहां के आसपास रहने वाले लोगों को नुकसान होता है तो पुलिस उन पर कार्यवाही करती है और नागरिकों की सुरक्षा करती है ।

जब किसी समाज का जुलूस निकलता है तब उस जुलूस में पुलिस की तैनाती की जाती है । जिससे की कोई चिल्ला चोट ना करें और लड़ाई झगड़ा ना हो । इससे समाज में शांति फैलती है ।यदि कोई लड़ाई करता है तो उसे पुलिस के द्वारा थाने में बंद कर दिया जाता है । जनता की सेवा करना पुलिस का परम कर्तव्य है । वह पब्लिक सर्वेंट होते हैं । जब किसी व्यक्ति को किसी के द्वारा परेशान किया जाता है या उस पर अत्याचार किया जाता है तब पुलिस उस व्यक्ति पर कार्यवाही करती है । पुलिस की ताकत बहुत मजबूत होती है । उनको अपराधियों के ऊपर कार्यवाही  करने का पूरा हक होता है ।

आम नागरिकों के साथ-साथ राजनीति के लोगों की भी सुरक्षा करने में पुलिस की महत्वपूर्ण भूमिका होती है – पुलिस आम नागरिकों की रक्षा तो करती ही है इसके साथ साथ जो राजनीति में सक्रिय होते हैं उनकी भी रक्षा , सुरक्षा पुलिस करती है । जब चुनाव आते हैं तब बड़े-बड़े नेता हर जिलों में जनता को संबोधित करने के लिए जाते हैं । जब पुलिस उन नेताओं की सुरक्षा के कड़े इंतजाम करती है तब बहा पर नेता जनता को संबोधित कर पाते हैं । पुलिस सभा बाली जगह की पूरी तरह से जांच करती है और जनता को पूरी सुरक्षा के साथ  संबोधन में बैठाती है ।पुलिस सुरक्षा के कड़े इंतजाम करने के लिए जानी जाती है ।

पुलिस के द्वारा सुरक्षा के इंतजाम बहुत बारीकी से किया जाता है । पुलिस देश के प्रधानमंत्री , विधायक , राष्ट्रपति , मुख्यमंत्री के पद पर विराजमान उन सभी लोगों की सुरक्षा करती है । यदि इन पर कोई हमला करता है तो पुलिस उस हमले को नाकामयाब कर देती है । चुनावों के समय पुलिस पूरे देश की सुरक्षा बनाए रखती है और दंगा फसाद होने से रोकती है । यदि कोई बड़ा नेता आचार संहिता का उल्लंघन करता है तो उस पर भी पुलिस के द्वारा कड़ी कार्यवाही की जाती है ।

एक्सीडेंट होने पर पुलिस की भूमिका – जब किसी का एक्सीडेंट हो जाता है तब 100 नंबर पर फोन लगाने पर पुलिस एक्सीडेंट वाले स्थान पर पहुंच जाती है और एक्सीडेंट में घायल होने वाले व्यक्ति को तुरंत अस्पताल में एडमिट करवाती है जिससे कि उसकी जान बचाई जा सके । कई लोगों को पुलिस के द्वारा सही समय पर हॉस्पिटल पर पहुंचा दिया जाता है जिससे उसकी जान बच जाती है ।

किसी फैक्ट्री या घर में आगजनी जैसी घटना होने पर उसमें फंसे नागरिकों को बचाने में पुलिस की महत्वपूर्ण भूमिका – जब किसी व्यक्ति या घर में आग लग जाती है और उस आग में कई लोगों की जान फस जाती है तब पुलिस वहां पर जाकर अपनी जान पर खेलकर उन लोगों को बचाती है । कई ऐसे बड़े-बड़े आगजनी हादसे हो जाते हैं जिसमें कई लोग झुलस जाते हैं । तो कई लोग उसमें फंस जाते हैं । जो लोग आग में फंसे हुए होते हैं उनको पुलिस अपनी जान पर खेलकर बचा कर लाती है और जो लोग आग में झुलस जाते हैं उनको जल्दी से हॉस्पिटल में पहुंचाया जाता है  जिससे कि उसका इलाज किया जा सके और उसकी जान बच सके ।

बाढ़ की चपेट में आने वाले लोगों की सुरक्षा करने में पुलिस का महत्वपूर्ण योगदान – जब किसी गांव या शहर में बरसात के समय बाढ़ आती है और उस बाढ़ में कई लोग फंस जाते हैं तब पुलिस वहां पर जाकर उन लोगों की जान बचाती है । हम न्यूज़ पर भी देखते हैं कि पुलिस बाढ़ में फंसे हुए लोगों को किस तरह से बचाती है । पुलिस हर तरह से नागरिकों की सुरक्षा करती है । इसलिए हम सभी नागरिकों का यह फर्ज बनता है कि पुलिस का सम्मान करें । हमें संविधान में लिखे हुए नियम कानून को मानना चाहिए , नियम कानून का सम्मान करना चाहिए । क्योंकि जब तक देश में सभी संविधान को मानेंगे तब तक हम सभी सुरक्षित हैं ।

किसी को भी संविधान में लिखे नियमो को तोड़ने का अधिकार नहीं होता है । जब कोई संविधान में लिखित नियमों को तोड़ता है तब उसको भारतीय कानून के हिसाब से सजा दी जाती है । हम सभी संविधान में बंधे हुए हैं और हमारा कर्तव्य है कि हम भारतीय संविधान का सम्मान करें और संविधान के नियमों पर चलें । जो व्यक्ति नियम तोड़ता है उसको भी हम यह समझाएं कि हमें भारतीय संविधान का सम्मान करना चाहिए ।

राष्ट्रीय धरोहर की सुरक्षा करने में पुलिस का महत्वपूर्ण योगदान – सरकारी संपत्ति की सुरक्षा करने में पुलिस अपना महत्वपूर्ण योगदान देती है । जब कोई व्यक्ति सरकारी धरोहरों को नुकसान पहुंचाने की कोशिश करता है तब पुलिस के द्वारा उस व्यक्ति पर कार्यवाही की जाती है । क्योंकि यह हमारे देश की धरोहर है । किसी भी व्यक्ति को सरकारी धरोहर को नुकसान पहुंचाने का अधिकार नहीं होता है ।

जब कोई सरकारी धरोहर रेल की पटरियों को नुकसान पहुंचाने की कोशिश करता है तब पुलिस वहां पर जाकर उन लोगों को रोकती है और यह समझाती है कि यह देश की धरोहर है इस को नुकसान ना पहुंचाए । क्योंकि यह रेल की पटरी हम सभी नागरिकों के लिए ही बनाई गई है । इस पर जब रेल चलती है तब हम यात्रा करते हैं और एक शहर से दूसरे शहर पहुंचते हैं ।

जब कोई सरकारी पार्क , सरकारी भवन में गंदगी फैलाता है या वहां पर तोड़फोड़ करता है तब सरकार पुलिस वालों को यह आदेश देती है कि वहां पर जाकर वहां पर सभी लोगों को तोड़फोड़ करने से रोके । पुलिस पूरी तैयारी के साथ बहा पर जाती है और लोगों को तोड़फोड़ करने से रोकती है ।सरकारी बैंक की हिफाजत भी पुलिस के द्वारा की जाती है । सरकारी कॉलेज में यदि कोई तोड़फोड़ करता है या अशांति फैलाता है तब पुलिस वहां पर जाकर उपद्रवियों को गिरफ्तार करती है ।

पुलिस सभी से शांति बनाए रखने की अपील करती है । जब कोई तोड़फोड़ करने से बाज नहीं आता है तब उसे पुलिस के द्वारा लाठी चार्ज करके गिरफ्तार कर लिया जाता है और थाने में बंद कर दिया जाता है ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह जबरदस्त आर्टिकल पुलिस समाज के रक्षक पर निबंध Police samaj ke rakshak essay in hindi यदि आपको पसंद आए तो सबसे पहले आप सब्सक्राइब करें इसके बाद अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को शेयर अवश्य करें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *