गर्मी का मौसम कविता Poem on summer season in hindi

Hindi poem on garmi ka mausam

दोस्तों कैसे हैं आप सभी, दोस्तों गर्मियों का मौसम एक ऐसा मौसम है जिसमें हम सभी पसीना-पसीना हो जाते हैं गर्मी के मौसम में लोग खुली हवा में रहना, छत पर सोना पसंद करते हैं क्योंकि गर्मियों के मौसम में गर्मी बहुत लगती है। गर्मियों में लोग अपने घर के खिड़की दरवाजे खोलकर रहते हैं और ठंड एवं बरसात के मौसम को याद करने लगते हैं।

Poem on summer season in hindi
Poem on summer season in hindi

ग्रामीण इलाकों में जहां पर पेड़ पौधे होते हैं या शहरों में गार्डन, स्वतंत्रता पार्क आदि होते है वहा पर गर्मियों के दिनों में घूमने में बहुत ही अच्छा लगता है यह बहुत ही आरामदायक होता है। गर्मियों के दिन वास्तव में कुछ लोगों को ऐसी यादें छोड़ जाते हैं जो उन्हें हमेशा याद रहते है गर्मियों में अगर लाइट चली जाए तो और बड़ी समस्या होती हैं घर में रहना भी बहुत मुश्किल हो जाता है आज हम गर्मी के मौसम पर एक कविता लेकर आये है आप इसे जरूर पढ़े हैं तो चलिए पढ़ते है इस कविता को

आया रे आया गर्मी का मौसम

चारों तरफ छाया है गर्मी का मौसम

इस मौसम में सिर से पानी गिरता जाए

ऐसा लगे मानो हर जगह वर्षा ही वर्षा आये

 

अब तो ठंड की याद बहुत सताए

एक पल भी गुजारना मुश्किल अब लग जाए

लाइट जब एक पल के लिए भी चली जाए

पानी की बरसात सिर से गिरना शुरू हो जाए

 

हवा ना चले तो जी मचलाएं

यह गर्मी का मौसम मुझे बहुत सताए

आया रे आया गर्मी का मौसम

चारों तरफ छाया है गर्मी का मौसम

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल Poem on summer season in hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *