आलस्य पर अनुच्छेद Paragraph on laziness in hindi

Paragraph on laziness in hindi

कहते हैं कि आलस्य मनुष्य का सबसे बड़ा शत्रु है यह बात बिल्कुल सही है जो भी व्यक्ति आलस्य करता है वह जीवन में कुछ भी खास प्राप्त नहीं कर पाता। आज हमारे देश में काफी समस्याएं हैं कुछ लोग गरीब हैं तो कुछ लोग अमीर हैं कुछ लोगों ने जीवन में बहुत कुछ किया है परिश्रम करके उन्होंने बहुत कुछ प्राप्त भी किया है लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने जीवन में कुछ भी प्राप्त नहीं किया उन्होंने सिर्फ गवाया है वास्तव में कुछ लोग इतने आलसी होते हैं जो जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए कोई भी कार्य नहीं करते।

Paragraph on laziness in hindi
Paragraph on laziness in hindi

कुछ लोग तो सिर्फ भाग्य के भरोसे ही अपने जीवन को जीना चाहते हैं उनका मानना होता है कि जो भाग्य में होगा हमें वही मिलेगा उससे ज्यादा तो वैसे भी नहीं मिलेगा तो फिर कर्म करने से क्या फायदा यही सोच आलसी लोगों को जीवन में पीछे रख देती है वास्तव में आलस्य ही मनुष्य को आगे नहीं बढ़ने देता और इस तरह की विचारधाराएं मनुष्य के मन में आती हैं।

कुछ लोग आलस्य इसलिए करते हैं क्योंकि वह यह समझते हैं कि हम जो भी करेंगे उसमें हम असफल जरूर होंगे हमें सफलता नहीं मिलेगी इस तरह की नकारात्मक धारणा उन्हें आलस्य की ओर ले जाती है। कुछ लोग आलसी लोगों के साथ रहते हैं तो वह भी आलसी हो जाते हैं क्योंकि संगति का बुरा असर पड़ता है जब एक इंसान आलसी होता है तो वह एक नहीं कई सारी समस्याओं को जन्मता है।

आलसी व्यक्ति रोग ग्रस्त भी जल्दी हो जाता है जिस वजह से कई सारी समस्याएं उसको होने लगती हैं। आलसी व्यक्तियों को कितना भी अच्छा क्यों ना बताया जाए वह उस और पहल नहीं करते क्योंकि आलस्य रूप शत्रु उनको वह नहीं करने देता। कुछ लोग इतने आलसी होते हैं जो दिन दिन भर सिर्फ घर में ही फालतू बैठकर अपना कीमती समय बिताते जाते हैं। आलसी लोगों के जीवन में कभी भी बदलाव नहीं होता आलसी व्यक्ति अपना सब कुछ गवा देता है या कुछ भी प्राप्त नहीं कर पाता। हमें जीवन में कुछ प्राप्त करने के लिए अपने आलस्य को दूर करना चाहिए और जीवन में परिश्रम करने से बिल्कुल भी नहीं डरना चाहिए।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल Paragraph on laziness in hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

3 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *