नीमराना किले का इतिहास neemrana fort history in hindi

neemrana fort history in hindi

दोस्तों आज हम आपको इस  लेख के माध्यम से नीमराना किले के बारे में बताने जा रहे हैं . चलिए अब हम इस आर्टिकल के माध्यम से राजस्थान में स्थित नीमराना किले के बारे में जानेगे . नीमराना किला राजस्थान के अलवर शहर में स्थित है . यह किला सबसे पुराना किला है . यह कहा जाता है कि यह कला 555 साल पुराना है . इस किले का निर्माण 1464 ईस्वी में कराया गया था . भारत सरकार ने इस  किले को सन 1986 में हेरीटेज रिजॉर्ट के रूप में तब्दील कर दिया था .

neemrana fort history in hindi
neemrana fort history in hindi

यह किला सबसे सुंदर और अद्भुत दिखाई देता है . इस किले को देखने के लिए देश-विदेश से लोग आते हैं . यह किला 10 मंजिलों का बना हुआ है , इस किले में कुल 50 कमरे हैं . हर कमरों की अपनी एक बालकनी है उस बालकनी से जब हम आसपास की सुंदरता को देखते हैं तब  हमें बड़ा ही आनंद आता है . गर्मियों के समय में देश-विदेश से लोग यहा पर  घूमने के लिए आते हैं . यह किला 3 एकड़ भूमि में बना हुआ है . यह किला अरावली पहाड़ों के काट  कर बनाया गया है .

यह किला पहाड़ियों पर स्थित होने के कारण और भी सुंदर दिखता है . इस किले की जितनी भी हम तारीफ करें उतनी ही कम है . यह किला मिनोला बहादुर शासक के द्वारा बनाया गया था . जब पृथ्वीराज चौहान ने मिनोला  शासक को हराकर इस किले को जीता था तब  पृथ्वीराज चौहान वंश के राजा महाराजाओं ने इस किले पर अपनी हुकूमत चलाई थी . जब पृथ्वीराज चौहान ने इस जिले को जीता था तब मिनोला  बहादुर शासक ने पृथ्वीराज चौहान से आग्रह किया था कि वह इस किले का  नाम  ना बदले .

यह किला इसी नाम से फेमस रहे और पृथ्वीराज चौहान ने उसकी बात स्वीकार कर ली थी . एक समय था जब यह किला खंडर होता जा रहा था तब भारत सरकार ने इस किले को सुंदरता देने के लिए काम प्रारंभ किया और इसकी सुंदरता बनाने के लिए अच्छे कारीगरों से काम प्रारंभ कराया था क्योंकि इस किले को देखने के लिए देश-विदेश से लोग आते है . यहां पर पर्यटको की भीड़ हमेशा लगी रहती है क्योंकि यह किला  सबसे सुंदर और अद्भुत दिखाई देता है .इस किले  की सुंदरता बहुत ही सुंदर है .

इस किले के चारों तरफ हरियाली ही हरियाली दिखाई देती है . इस किले के   बाहर गार्डन है , गार्डन में हरी घास एवं रंग-बिरंगे फूल  लगे हुए हैं . जब हम किले के कमरों से बाहर का नजारा देखते हैं तब हमें बड़ा ही आनंद महसूस होता है . चारों तरफ से इस किले में ठंडी ठंडी हवा आती है . पहाड़ी पर होने के कारण यह किला और भी सुन्दर  दिखाई देता है . जब रात के समय इस किले की लाइट चालू की जाती है तब यह किला और भी चमकदार दिखाई देता है .

इस किले को बनाने के लिए कारीगरों ने बहुत  मेहनत की होगी क्योंकि जब हम इस किले को देखते हैं तब हमें कारीगरों की मेहनत दिखाई देती है . इस किले को जब हम देखते हैं तब हमें वस्तु कला शैली का मिश्रण देखने को मिलता है . इस किले को पैलेस भी कहा  जाता है . यह किला बहरोड और शाहजहांपुर के बीच में बनाया  गया है .

इस किले में जितने भी कमरे हैं सभी कमरों के अलग अलग नाम दिए गए हैं . अगर आप इस किले को देखने के लिए जाएं तो इस किले के कमरों में कम से कम 2 घंटे का समय अवश्य बिताएं तब जाकर  आपको इस किले की सुंदरता का एहसास होगा .

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह आर्टिकल नीमराना किले का इतिहास neemrana fort history in hindi आपको पसंद आए तो सब्सक्राइब अवश्य करें धन्यवाद .

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *