महिला सशक्तिकरण पर भाषण Nari sashaktikaran speech in hindi

Nari sashaktikaran speech in hindi

हेलो फ्रेंड्स कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज हम आपके लिए लाए हैं Nari sashaktikaran speech in hindi दोस्तों चलिए पड़ते हैं नारी सशक्तिकरण पर स्पीच दोस्तो नमस्कार मेरा नाम कमलेश कुशवाह है मैं गुना का रहने वाला  हूं,दोस्तों सबसे पहले इस प्रोग्राम मैं आप सभी का स्वागत करना चाहूंगा जैसे की हम सभी जानते हैं कि आज नारी की स्थिति बहुत ही गंभीर होती जा रही है इस ओर विशेष रुप से ध्यान देने की जरूरत है इसलिए नारी सशक्तिकरण बेहद जरूरी है.

Nari sashaktikaran speech in hindi
Nari sashaktikaran speech in hindi

नारी सशक्तिकरण से हमारा तात्पर्य होता है कि नारी को अपनी सोच और अपने खुद के फैसले लेने देना ही नारी सशक्तिकरण कहलाता है
दोस्तों नारी सशक्तिकरण हमारे भारत देश के लिए बेहद जरूरी है जैसे की हम चारों ओर देखते हैं कि आज नारी की स्थिति हमारे समाज में दिना दिन बढ़ती जा रही है जिस देश में नारी का सम्मान किया जाता था,नारी को एक देवी का अवतार समझा जाता था वही आज के जमाने में कुछ लोग नारी को कुछ भी नहीं समझते हैं,वह नारी पर तरह तरह के अत्याचार करते है,नारी सशक्तिकरण बेहद जरूरी है अगर हमने नारी को उसके फैसले लेने का अधिकार दे दिया तो हमारे समाज में प्रगति होगी और हमारा समाज देश दुनिया भर में बहुत आगे बढ़ेगा.

दोस्तों आज हम सभी जानते हैं कि हमारे पूरे देश में बहुत सारी परेशानियों से नारी को जूझना पड़ता है दहेज प्रथा एक ऐसी प्रथा है जो प्राचीन काल से अभी तक चली आ रही है,लड़के वाले लड़की वालों से दहेज मांगते हैं,इंसान कैसे होते है मानो लड़की की शादी नहीं कर रहे हैं बल्कि उसको बेचने और खरीदने का काम कर रहे हैं दोस्तों आजकल के जमाने में नारी को दहेज से नहीं आकना चाहिए बल्कि दहेज प्रथा को हमेशा हमेशा के लिए खत्म कर देना चाहिए क्योंकि नारी का अधिकार भी होता है कि वह अपनी इच्छा से किसी को अपने लिए सिलेक्ट कर सकें.

आज हमारे देश में नारी की स्थिति बेहद गंभीर हो गई है नारी को कहीं घूमने का अधिकार नहीं है परिवार वाले नारी को कहीं आजादी के साथ घूमने नहीं देते ऐसा क्यों? क्योंकि बहुत सारे बाहर के लोग नारी पर नजर गडाए रहते हैं वह नारी को स्वतंत्र नहीं घूमने देते हैं इस वजह से नारी स्वतंत्रता से नहीं घूम पाती,आज हमारे देश में बलात्कार जैसे गंभीर दुष्कर्म नारी के साथ हो जाते हैं,हम सभी को नारी को विशेष अधिकार देना चाहिए,नारी स्वतंत्र है हम सभी को यह समझना चाहिए.प्राचीन काल से पुरुष नारी से अपने आपको श्रेष्ठ समझता है उनकी इज्जत नहीं की जाती है

इस वजह से नारियों की स्थिति खराब होती जा रही है हम सभी को इस और सोचने की जरूरत है,आज हमारे देश में नारी को बोझ समझा जाने लगा है हम देखें तो आजकल ज्यादातर लोग लड़का पैदा करना चाहते हैं लेकिन लड़की को बोझ समझा जाता है
दोस्तों नारी को भी अधिकार होता है इस दुनिया में आने का.आप सोचिए कि अगर नारी दुनिया में नहीं होगी तो आप इस दुनिया में कैसे होंगे,हम सभी को नारी के अधिकारों को समझने की जरूरत है उसको कहीं पर आजादी के साथ घूमने का अधिकार देने की जरूरत है

आज हमारे देश में बहुत सारे नियम है लेकिन नियम मानता कौन है हर एक इंसान स्वतंत्रता से घूम सकता है लेकिन नारी स्वतंत्रता से आज भी नहीं घूम पाती है,जब भी कोई मां बाप नारी को घर से जाने देते है तो उनको डर लगता है अपनी बच्ची को घर से बाहर निकालने से क्योंकि नारी हमारे समाज में आज एक जगह सिमट चुकी है,हम सभी को नारी के अधिकार उसको देने की जरूरत है उसको अपने फैसले खुद लेने की जरूरत है.

जब भी किसी लड़की की शादी होती है तो उसके फैसले उसका पति लेता है लेकिन पत्नी को अपने खुद के फैसले लेने का अधिकार नहीं होता क्योंकि हमारे समाज में एक औरत को कुछ भी दर्जा नहीं दिया जाता,दोस्तों हमें औरत को समझने की जरूरत है औरत को पहचानने की जरूरत है और हर एक परिस्थिति में एक पति की तरह पत्नी को भी अपने खुद के फैसले लेने की जरूरत तभी हमारा देश विकास कर सकेगा.

आज हमारे समाज में नारियों की संख्या लगभग आधी है जो हमारे देश को विकास की ऊंचाई तक ले जाने में हमारी मदद कर सकती हैं
लेकिन हमारी नारी जाती को हमारे समाज में कोई भी फैसला लेने का अधिकार नहीं दिया जाता है इसलिए हमको इस और पहल करने की जरूरत है और नारी के महत्व को समझते हुए हमें नारी को अपने अधिकार देने की जरूरत है,हमारे देश में पुरुष और नारी को एक समान समझा जाता है क्योंकि आज की युग में जो एक पुरुष कर सकता है वह महिला भी कर सकती हैं.

इसलिए अगर कोई नारी अपनी इच्छा से कुछ अच्छा बिजनेस या जॉब करना चाहे तो उसको खुद के फैसले लेने की आजादी देना होगी क्योंकि अगर वह नारी अपनी इच्छा से आगे बढ़ना चाहें तो वह बड सकती है,इससे हमारा भी विकास है परिवार का विकास है और हमारे
देश का भी विकास होगा इसलिए हमें नारी को सिर्फ खाना बनाने के लिए नहीं बल्कि उसकी इच्छा से कुछ बड़ा कुछ अच्छा करने के अधिकार भी देने की जरूरत है तभी हमारा देश आगे बढ़ सकता है और अगर हमारे देश में नारी सशक्तिकरण पर पर जोर दिया जाए तो हमारा देश वाकई में बहुत आगे बढ़ सकता है और हम सभी जिंदगी में खुश रह सकते हैं.

दोस्तों अगर आपको हमारी पोस्ट Nari sashaktikaran speech in hindi पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा फेसबुक पेज लाइक करना न भूले और हमें कमेंट्स के जरिए बताएं कि आपको हमारी पोस्ट कैसी लगी,अगर आप चाहते हैं हमारी अगली पोस्ट को
अपने सीधे ईमेल पर पाना तो हमें सबस्क्राइब जरूर करें.

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *