नारी और नौकरी पर निबंध Nari aur naukri essay in hindi

Nari aur naukri essay in hindi

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज का हमारा आर्टिकल nari aur naukri essay in hindi आप सभी के लिए बहुत ही प्रेरणादायक साबित होगा दोस्तों आज हमारे समाज में नारी की महत्वता को समझना बहुत ही जरूरी है.नारी हमारे समाज का एक ऐसा हिस्सा है जिसके बिना समाज की कल्पना नहीं की जा सकती.

Nari aur naukri essay in hindi
Nari aur naukri essay in hindi

हमारे समाज में नारी की स्थिति पुराने जमाने से ही दयनीय रही है यानी पहले के जमाने से ही आज के जमाने में भी नारी के ऊपर अत्याचार किया जाता है और नारी घरेलू हिंसा की शिकार भी होती है इन सबको ख़त्म करने की बहुत जरुरत है क्योकि नारी आज हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही है.आजकल के आधुनिक युग में नारी में बड़ा ही बदलाव आया है पुराने जमाने में जहां ज्यादातर महिलाएं घर पर रहती थी वही आजकल के इस आधुनिक जमाने में नारी नौकरी करने लगी है जिसकी कई वजह हो सकती हैं

जैसे आज हमारे देश में महंगाई बहुत ही तेजी से बढ़ रही है जिसके चलते सिर्फ आदमी के द्वारा पूरी जरूरत हो पाना संभव नहीं है जिसके चलते आज ज्यादातर महिलाएं भी नौकरी करने के लिए आगे बढ़ी है जिससे हमारे समाज की स्थिति थोड़ी ठीक होती दिखती है क्योकि महंगाई ज्यादा हैं.हमारे देश में बहुत सारे बदलाव आ रहे हैं.आजकल नारी शिक्षा पर भी जोर दिया जाता है

क्योंकि हर मां बाप,हर भाई समझता है कि नारी शिक्षित होगी तो कहीं ना कहीं जीवन में उसको किसी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा और शिक्षित नारी अपनी परेशानी को दूर कर सकेगी और जरूरत पड़ने पर अपना खुद का खर्चा चला सकेगी और नौकरी कर सकेगी.नारी के नौकरी करने से पुरुष और महिलाएं समाज में अच्छी स्थिति में रह पाते हैं,उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत होती है जिसके कारण महिलाएं नौकरी करती हैं.

हमारे देश में शुरू से ही पुरुष अपने आपको महिलाओं से ऊंचा समझते हैं और महिलाओं के साथ कुछ पुरुष बुरा व्यवहार भी करते हैं वह उन्हें तरह तरह से प्रताड़ित भी करते हैं लेकिन अगर महिला नौकरी करती है तो पुरुष उससे ज्यादा कुछ नहीं कह पाते और महिला और पुरुष जीवन यापन अच्छी तरह से करते हैं और जीवन में खुश रहते हैं.महिलाओं के नोकरी करने से महिलाए अपने जरूरतों की चीजे खुद ला सकती है जिससे उनको पुरुषो से मांगने की जरुरत नहीं हैं और पुरुष उनपर किसी भी तरह का दवाब भी नहीं डाल पाता जिससे पारिवारिक रिश्ते थोड़े मजबूत होते है.

Related-नारी का महत्व पर निबंध essay on nari ka mahatva in hindi

वैसे देखा जाए तो महिलाओं के नौकरी करने से एक तरफ फायदा भी है वहीं दूसरी ओर नुकसान भी है.महिलाओं के नौकरी करने से बच्चों पर बुरा असर पड़ता है.महिला और पुरुष बाहर नौकरी करते हैं और वह अपने बच्चों को आस पड़ोस में या फिर नौकरानी के पास छोड़ देते हैं लेकिन मां बाप तो मां बाप ही होते हैं उनकी जगह कोई नहीं ले सकता इसके चलते नौकर नौकरानी बच्चों की सही से देख रेख नहीं कर पाते,बच्चा किधर जाता है उस ओर ध्यान नहीं देते और बच्चे बिगड़ सकते हैं जिससे हमारे समाज में,हमारे परिवार में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है महिलाएं नौकरी करती हैं तो इससे बहुत बड़ा नुकसान हो सकता है.

आजकल के इस जमाने में हमें चाहिए कि हम अपने बच्चों की देखभाल करें और वह किसके साथ रहता है,उसकी कैसी संगत है इस ओर ध्यान दें लेकिन महिलाओं की नौकरी करने के कारण वह इस ओर ध्यान नहीं दे पाती जिस वजह से बच्चों के बिगड़ने के भी बहुत ज्यादा चांस होते हैं.हम सभी को चाहिए कि महिला और नौकरी के विषय पर विचार करें.नोकरी के विषय में महिलाओं को सोच समझ कर निर्णय लेने की जरुरत है क्योकि वास्तव में हर किसी के लिए ही बच्चे सबसे बड़ी दोलत होते है.महिलाओं को चाहिए की नोकरी करे या ना करे ये तोह अपना खुद फैसला है लेकिन इससे बच्चो की परवरिश पर बुरा असर नहीं पड़ना चाहिए क्योकि आपके बच्चे सबसे बढ़कर हैं.

अगर घर के हालातो को मजबूत करने के लिए महिला नौकरी करती है तो पुरुष को चाहिए की उसपर घर के कामकाज के लिए ज्यादा दबाव ना डाला जाए ऐसी स्थिति में दोनों को मिलकर घर की जिम्मेदारी लेनी चाहिए तभी हमारे समाज का विकास हो सकता है.पुरुष को महिला की इज्जत करना चाहिए और अगर कोई महिला पुरुषों के साथ कदम से कदम मिलाकर चलना चाहे या नौकरी करना चाहे तो पुरुष को चाहिए कि उसकी इज्जत करें और उस पर दबाव न डाले.

पुरुषों को चाहिए कि महिलाओं को अपने खुद के फैसले लेने दे या परस्पर सहमती से फैसले लेने की आदत डाले क्योंकि जब आप सही फेसले लेंगे तभी हमारे देश का विकास हो सकेगा इस तरह से हम कह सकते हैं कि महिला और नौकरी यानी महिलाओं के नौकरी करने से जहां हमें एक और कुछ फायदे दिखते हैं वही दूसरी ओर इसका नुकसान भी दिखता है

इसलिए हमारे समाज के पुरुष और नारी को इस पर विशेष ध्यान देना चाहिए और इस बात को समझना चाहिए की जो भी करे अपने parivar की खुशहाली के लिए करे.हम सभी के लिए पैसा बहुत जरुरी हैं लेकिन कभी कभी पैसा ख़ुशी नहीं दे पाता इसलिए महिला और पुरुषो को चाहिए की नोकरी के साथ में अपने बच्चो की उचित देखभाल जरुर करे तभी हम और हमारा पूरा परिवार khush रह सकता हैं.

दोस्तों अगर आपको हमारा ये आर्टिकल Nari aur naukri essay in hindi पसंद आए तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा फेसबुक पेज लाइक करना न भूले और हमें कमेंट्स के जरिए बताएं कि आपको हमारा ये आर्टिकल Nari aur naukri essay in hindi कैसा लगा.अगर आप चाहें हमारी अगली पोस्ट को सीधे अपने ईमेल पर पाना तो हमें सब्सक्राइब जरूर करें.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *