मेरे प्रिय शिक्षक पर निबंध My favourite teacher essay in hindi

My favourite teacher essay in hindi

mere priya shikshak essay in hindi-शिक्षा मनुष्य को एक अच्छा और सच्चा इंसान बनाती है शिक्षा से ही इंसान उन महान लोगों के बारे में जान पाता है जिन्होंने हमारे देश के लिए,समाज के लिए कुछ अच्छा किया है। शिक्षा का ज्ञान कराने वाले शिक्षक वास्तव में हमारे जीवन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हैं शिक्षक ही हर एक छात्र को अच्छी शिक्षा प्रदान करते हैं और उनका मार्गदर्शन करते हैं।

शिक्षक हर एक छात्र के लिए एक कुम्हार की तरह होता है जिस तरह से एक कुमार मिट्टी से मटके का निर्माण करता हूं जिससे वह मटका उपयोग में आता है उसी तरह एक शिक्षक भी अपने विद्यार्थियों को गुणवान, ज्ञानी,महान बनाता है वास्तव में शिक्षक की हमारे जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका है।

My favourite teacher essay in hindi
My favourite teacher essay in hindi

मेरे विद्यालय में हर एक विषय के अलग-अलग शिक्षक हैं विज्ञान, गणित, इंग्लिश ,हिंदी, सामाजिक विज्ञान इन सभी विषय के शिक्षक बहुत ही अच्छी तरह से अपने अपने विषय को पढ़ाते हैं। हमारा विद्यालय हमारे शहर का एक प्रतिष्ठित विद्यालय है हमारे सभी शिक्षक बड़ी ही गहराई से अपने-अपने विषय को पढ़ाते हैं मुझे बहुत ही अच्छा लगता है जब मैं सोचता हूं कि मैं इस विद्यालय का छात्र बना और इतने अच्छे शिक्षको के द्वारा मैं पढ़ रहा हूं लेकिन अगर कोई मुझसे पूछे कि आपके सबसे प्रिय शिक्षक कौन हैं तो मैं यही कहूंगा कि सभी मेरे प्रिय शिक्षक ही है मैं सभी का आदर करता हूं लेकिन सबसे प्रिय शिक्षक मेरे विज्ञान विषय पढ़ाने वाले श्री राजपाल यादव जी हैं।

वह अपने विषय में महारत हासिल किए हुए हैं वह अपने विषय को बहुत ही गहराई से पढ़ाते हैं पढ़ाने के साथ में उनकी नजर हर एक विद्यार्थी पर रहती है अगर कोई विद्यार्थी उन्हें ऐसा लगता है कि वह पढ़ने पर विशेष ध्यान नहीं दे रहा है तो वह उसको आगे बिठाते हैं और उसको अच्छी तरह से समझाते हैं वो बार बार पूछते हैं की क्या आपको यह समझ में आया उनके पढ़ाने की अदा मुझे बहुत ही अच्छी लगती है।

राजपाल यादव जी हमारे शहर के नजदीक के ही गांव के रहने वाले हैं वो रोजाना अपनी मोटर बाइक से हमें पढ़ाने के लिए आते हैं वह सादा सिंपल रहते हैं वह पढ़ाने के साथ में प्रमुख रूप से विद्यार्थियों को अच्छे गुण अपनाने की प्रेरणा देते हैं। वह भी एक अच्छे इंसान हैं वह हमेशा सत्य के मार्ग पर चलते हैं हमेशा इमानदारी से अपना कार्य करते हैं। आज हम देखें तो शिक्षक स्कूल के अलावा ट्यूशन भी पढ़ाते हैं और अलग से पैसे भी कमाते हैं लेकिन हमारे राजपाल यादव जी ऐसे नहीं हैं वह सिर्फ स्कूल में पढ़ाते हैं और अगर किसी को अलग से कुछ सीखना है तो वह रविवार के दिन फ्री में ही स्कूल में अलग से पढ़ाते हैं वास्तव में वह बहुत ही ईमानदार हैं और सत्य के मार्ग पर चलने वाले हैं।

उन्होंने एमएससी किया है वह आगे भी पढ़ाई कर रहे हैं हमें गर्व है कि हमें राजपाल यादव जी जैसे शिक्षक मिले। वह स्कूल में अपने विज्ञान विषय को बहुत ही गहराई से समझाते हैं वह आराम-आराम से हर एक विषय को बेहतरीन ढंग से सिखाते हैं और हर 7 दिन में वह टेक्स्ट लेते हैं और अगर कोई विद्यार्थी उनके टेस्ट में फेल हो जाता है तो वह उसको और भी अच्छी तरह से समझाते हैं.

वह हर एक विद्यार्थी को समान समझते हैं और अच्छी तरह से पढ़ने वाले विद्यार्थियों और फेल होने वाले विद्यार्थियों को वह समान शिक्षा प्रदान करते हैं ऐसा नहीं कि वह पढ़ाते वक्त केवल अच्छी तरह पढ़ने वाले विद्यार्थियों पर ही ध्यान दें वह जानते हैं कि अच्छी तरह पढ़ने वाले विद्यार्थी तो समझ ही जाएंगे इसलिए उनका विशेष ध्यान सभी पर ही रहता है। वह हमेशा हमसे कहते हैं कि पढ़ाई से ज्यादा जरूरी है की आप एक अच्छे और सच्चे ईमानदार इंसान बने।

आप हमेशा सत्य के मार्ग पर चलें और ईमानदारी अपनाएं,कभी भी अपने काम के साथ बेईमानी मत करना इस तरह की उनकी सोच विद्यार्थियों को बहुत ही प्रभावित करती है। हमारे क्लास का हर एक विद्यार्थी उनका सम्मान करता हैं समय-समय पर हम हमारे सभी शिक्षकों के चरण भी स्पर्श करते हैं। हमारे ज्यादातर विद्यार्थियों के पसंदीदा शिक्षक राजपाल यादव जी हैं।

हमारे राजपाल यादव जी हमेशा प्रेम पूर्वक हमें शिक्षा प्रदान करते हैं वह ज्यादातर दाटते नहीं हैं वो विद्यार्थियों को समझाने का प्रयत्न करते हैं अगर कोई भी चीज विद्यार्थियों को समझ नहीं आती तो वह दोबारा उस विषय को समझाते हैं लेकिन अगर कोई विद्यार्थी जानबूझकर बार-बार वह गलती करता है तो वह डाट भी लगाते हैं सच बताऊं तो राजपाल यादव जी बहुत ही अच्छे हैं और बहुत ही कम डाट लगाते हैं लेकिन जब कोई उनकी बात को बार-बार भी नहीं मानता या अच्छी तरह से तैयारी नहीं करता तो वह गुस्सा भी बहुत हो जाते हैं।

स्कूल के सभी विद्यार्थी उन से डरते भी हैं क्योंकि वह अनुशासनप्रिय हैं अगर कोई विद्यार्थी अनुशासन तोड़े तो उन्हें बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता वह उसको समझाते हैं डाटते भी हैं और अगर कोई विद्यार्थी नहीं माने तो विद्यार्थियों के मां-बाप को स्कूल में बुलवाकर उन्हें उनके बच्चे के बारे में बताते हैं वास्तव में राजपाल यादव जी एक अनुशासनप्रिय, ज्ञानवान, सत्य और ईमानदारी के रास्ते पर चलने वाले एक महान शिक्षक हैं हम यही चाहते हैं कि हमें राजपाल यादव जी जैसे ही शिक्षक हमेशा मिले क्योंकि राजपाल यादव जी एक बहुत ही अच्छे शिक्षक हैं जो शिक्षा पैसे के लिए नहीं बच्चों के भविष्य के लिए करवाते हैं।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया है ये आर्टिकल My favourite teacher essay in hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल My favourite teacher essay in hindi कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *