मेरा शहर मुंबई पर निबंध mera shehar mumbai essay in hindi

mera shehar mumbai essay in hindi

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से मुंबई शहर के बारे में बताने जा रहे हैं । चलिए अब हम आगे बढ़ते है और मुंबई शहर के बारे में गहराई से पढ़ते हैं ।

mera shehar mumbai essay in hindi
mera shehar mumbai essay in hindi

image source –https://hindi.indiatvnews.com/paisa/

मुंबई शहर का इतिहास काफी प्राचीन समय से रहा है ।मुंबई एक ऐसा महानगर है जहां पर कई उद्योगपति अपना मुख्यालय बनाकर पूरे देश में बिजनेस करते हैं । मुंबई को पूर्व में बॉम्बे एवं बंबई के नाम से सभी जानते थे । यह मुंबई के प्राचीन नाम है । मुंबई शहर भारत का सबसे सुंदर एवं सबसे अच्छा शहर है । मुंबई महाराष्ट्र राज्य की राजधानी है । यहां का जो इतिहास है वह बहुत ही दिलचस्पी बाला है । अब हम आपको यह बताने वाले हैं कि मुंबई का  मुंबई नाम कैसे पड़ा ।

मुंबई शब्द दो शब्दों से मिलाकर बना है । हिंदुओं की मां दुर्गा देवी को मुंबा देवी कहा जाता है और आई को मराठी भाषा में मां कहा जाता है । इन्हीं दोनों शब्द से मुंबई नाम की उत्पत्ति हुई थी । मुंबई शहर भारत का सबसे अच्छा एवं कारोबारी शहर है । मुंबई में हर तरह के कारोबार किए जाते हैं । बड़े-बड़े उद्योगपतियों के यहां पर कार्यालय हैं । देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में मुंबई शहर का सबसे बड़ा योगदान है । मुंबई को पैसों वालों की नगरी भी कहा जाता है ।

मुंबई शहर से भारत की आर्थिक स्थिति मजबूत होती है । मुंबई शहर फिल्म इंडस्ट्रीज के साथ साथ उद्योग केंद्र के लिए भी जाना जाता है । ऐसा कोई भी बिजनेस नहीं है जो मुंबई में नहीं किया जाता हो । मुंबई में दूरदर्शन केंद्र का सबसे बड़ा ऑफिस स्थित है जिसे फिल्म केंद्र भी कहा जाता है । मुंबई शहर एक बहुत ही सुंदर दीप समूह है । मुंबई की सड़कें एवं मुंबई के आस पास का स्थान बहुत ही सुंदर है । मुंबई शहर फिल्म इंडस्ट्रीज के लिए जाना जाता है ।

यहां पर फिल्म डायरेक्टर एवं फिल्म अभिनेता रहते हैं । यहां पर फिल्मों की शूटिंग की जाती है । फिल्म का प्रमोशन भी मुंबई से किया जाता है । मुंबई के किनारे समुद्री जाल बिछा हुआ है । यदि हम पर्यटक की बात करें तो विदेशों से जो भी पर्यटक भारत में घूमने के लिए आता है वह सबसे पहले मुंबई में जाता है और मुंबई शहर को देखता है । इसलिए मुंबई को भारत देश का प्रवेश द्वार कहा जाता है । मुंबई के समुद्री इलाके से जहाजों के माध्यम से  विदेशों में आयात एवं निर्यात किया जाता है जिससे भारत की आर्थिक स्थिति मजबूत होती है ।

मुंबई में सबसे बड़े एवं सबसे अच्छे होटल मौजूद है । मुंबई शहर मे हर धर्म एवं जाति के लोग निवास करते हैं । मुंबई शहर की आबादी तकरीबन 3 करोड़ से ऊपर की है । यदि हम इतिहास की बात करें तो मुंबई शहर का इतिहास काफी पुराना रहा है । पहले यहां पर बहुत से छोटे एवं बड़े दीप समूह हुआ करते थे । इन छोटे एवं बड़े दीप समूह को मिलाकर मुंबई शहर की उत्पत्ति हुई थी । 3 शताब्दी के समय यहां पर मौर्य साम्राज्य का शासन स्थापित हुआ था जो कि बहुत समय तक चला था।

इस दीप समूह के बारे में ऐसा कहा जाता है कि यह दीप समूह पाषाण युग में बसा हुआ था । समय बीतता गया सन 1343 को मुंबई शहर पर हिंदू सिलहारा वंश का शासन स्थापित हुआ और हिंदू सिलहारा वंश के राजाओं ने यहां पर अपना शासन चलाया था । इसके बाद गुजरात के राजाओं ने मुंबई पर अपना शासन स्थापित किया था । गुजरात के राजाओं के बाद यहां पर पुर्तगाली राजाओं का शासन चला था । मुंबई के इतिहास के बारे में ऐसा कहा जाता है कि 16 शताब्दी में मुंबई पर पुर्तगाली का शासन चलता था ।

इसके बाद 17 शताब्दी के दौरान यहां पर ब्रिटिश शासन प्रारंभ हुआ और ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने सूरत से औद्योगिक केंद्र को मुंबई में स्थापित कर दिया था । मुंबई शहर बहुत ही सुंदर महानगर है । मुंबई शहर की पुरानी एलीफेंटा गुफाएं एवं वालकेश्वर मंदिर दार्शनिक हैं ।यहां पर कई पर्यटक आकर इन गुफाओं को देखते हैं ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह जबरदस्त आर्टिकल मुंबई पर निबंध mera shehar mumbai essay in hindi यदि पसंद आए तो सब्सक्राइब अवश्य करें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *