मेरा पसंदीदा त्योहार दिवाली पर निबंध Mera priya tyohar diwali essay in hindi

Mera priya tyohar diwali essay in hindi

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज इस दीपावली के दिन हम आपके लिए लाए हैं Mera priya tyohar diwali essay in hindi दोस्तों यह निबंध स्कूल,कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए एवं आपकी जानकारी के लिए लिखा गया है इससे आपको निबंध लिखने में मदद मिलेगी चलिए पढ़ते हैं हमारे आज के निबंध को

Mera priya tyohar diwali essay in hindi
Mera priya tyohar diwali essay in hindi

हमारे भारत देश में बहुत सारे धर्म,जाति के लोग रहते हैं जो तरह तरह के त्यौहार मनाते हैं जैसे कि दशहरा होली दीपावली रक्षाबंधन यह सभी बहुत ही प्रमुख त्यौहार है इनके अलावा भी कुछ त्यौहार है जो लोग मनाते हैं लेकिन इन सभी त्योहारों में से जो सबसे प्रमुख त्यौहार माना जाता है वह है दीपावली.दीपावली एक ऐसा त्यौहार है जिसके आने के महीने पहले से ही घरों में इस त्योहार को मनाने की तैयारी की जाती है इस त्यौहार के आने से पहले ही बाजार चारों ओर से सजा होता है .

बाजार में तरह-तरह की तस्वीर तरह-तरह की सामग्री चारों ओर सजी होती है लोग अपने परिवार के साथ उन सामग्रियों को खरीदने के लिए जाते हैं दीपावली आने से पहले परिवार के लोग अपने लिए नए-नए कपडे खरीदते हैं और परिवार से दूर रह रहे परिवार के सदस्यों को दीपावली पर बुलवाया जाता है वह मिल-जुलकर दीपावली की तैयारी करते हैं.कुछ मान्यताओं के अनुसार यह त्यौहार भगवान श्री राम के 14 वर्ष के बनवास से बापस आने के कारण मनाया जाता है दरअसल भगवान श्री राम को 14 वर्ष का बनवास मिला था और उन्होंने लंकापति रावण का संहार कर दिया और फिर वह अयोध्या वापस आए.

अयोध्या वासियों ने श्री राम के बनवास से वापस आने की खुशी में घी के दीपक जलाए खुशियां मनाई और तरह-तरह से जाहिर किया तभी से दीपावली का त्यौहार मनाया जाता है कहते हैं दीपावली के त्योहार आने से पहले हमें अपने घरों की साफ सफाई करनी चाहिए जिससे हमारे घर में लक्ष्मी का आगमन हो.दीपावली का त्यौहार एक बहुत ही बेहतरीन त्यौहार है इसमें सबसे पहले धनतेरस आती है जिसमें लोग धन की पूजा करते है साथ में लोग बाजार से बर्तन आदि खरीदने के लिए जाते हैं .

उनकी पूजा करते हैं इसके बाद छोटी दिवाली आती है फिर अमावस्या की रात में दीपावली के दिन लक्ष्मी जी की पूजा की जाती है इसमें पूरा परिवार मिल-जुलकर लक्ष्मी जी की पूजा करते हैं और अपने दरवाजे पर दीपक रखते हैं साथ में पटाखे आदि चलाकर अपनी खुशी जाहिर करते हैं इसी के साथ में गाय माता की पूजा भी की जाती है जिसमें गाय माता को तिलक लगाया जाता है माला पहनाई जाती है इसके बाद पूरा परिवार मिल-जुलकर एक साथ खाना खाता है जिसमें तरह-तरह के पकवान बनाए जाते हैं बच्चे बूढ़े और नौजवान इस दिन बहुत ही खुशी का अनुभव करते हैं.

Related-बदलता भारत पर निबंध Badalta bharat essay in hindi

यह दिन हर किसी के लिए खुशी देने वाला होता है.दीपावली का त्यौहार वाकई में एक बहुत ही विशेष त्यौहार है इसको मनाने में लोगों को बहुत ही खुशी का अनुभव होता है इसके बाद अगले दिन गोवर्धन की पूजा की जाती है जिसमें पूरा परिवार मिलकर गोवर्धन की पूजा करते हैं और परिक्रमा करते हैं इसके अगले दिन भाई दूज आता है भाई दूज में भाई बहन के घर जाता हैं,बहने अपने भाई को खाना खिलाने के लिए बुलावा देती है और बहन अपने भाई को खाना खिलाती है .

वाकई में इस त्यौहार का हर किसी के जीवन में बहुत ही महत्व है आज के इस आधुनिक युग में लोग इतने बिजी हैं कि वह अपने परिवार वालों को समय नहीं दे पाते हैं लेकिन इस त्यौहार की वजह से लोग बाहर से मिलने के लिए अपने परिवार के पास आते हैं और कुछ दिनों तक अपने परिवार के साथ रहते हैं जिससे परिवार में प्रेम उत्पन्न होता है उनके संबंध अच्छे रहते हैं दीपावली के त्यौहार आने से पहले लोगों को बहुत ही खुशी होती है.

इस त्यौहार से हम सभी को ज्यादातर लाभ ही लाभ हैं लेकिन आधुनिक जमाने में इससे कुछ नुकसान देखने को भी मिलते हैं क्योंकि आज दीपावली के इस त्यौहार के दिन लोग बहुत सारे तरह तरह के आतिशबाजी चलते है जिसके कारण प्रदूषण होता है और बहुत सी जगह दुर्घटनाएं भी हो जाती हैं इसलिए इस त्यौहार को मनाने के साथ में हर किसी को विशेष रुप से सावधानी रखना चाहिए जिससे हम हमारे भविष्य को सुरक्षित रख सकें..

हमें त्यौहार में कम से कम पटाखों का उपयोग करना चाहिए और सावधानी पूर्वक उपयोग करना चाहिए और बच्चों को इन पटाखों का उपयोग करने से रोकना चाहिए क्योंकि थोड़ी सी असावधानी उनका जीवन खतरे में डाल सकती है इसके अलावा दीपावली पर आतिशबाजी का ज्यादा उपयोग करने से वायु प्रदूषण भी होता है हम सभी को कम से कम आतिश्जिवायो का उपयोग करना चाहिए जिससे दीपावली के इस पावन त्योहार में हमारे वातावरण को किसी भी तरह से नुकसान ना पहुचे.

अगर हम सभी दीपावली के दिन इन आतिशबाजी का सही तरह से उपयोग करें तो दीपावली का त्योहार हमारे लिए,हर किसी के लिए बहुत ही अच्छा साबित होता है दीपावली का त्यौहार आता है और चला जाता है और हर किसी के होंठों पर मुस्कान छोड़ जाता है.

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल Mera priya tyohar diwali essay in hindi पसंद आया हो तो इसे शेयर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना न भूले और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा ये आर्टिकल Mera priya tyohar diwali essay in hindi कैसा लगा. अगर आप चाहे हमारे अगले आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाना तो हमें सब्सक्राइब जरूर करें अगर आपको हमारे द्वारा लिखित इस आर्टिकल में कुछ भी गलत लगे तो हमें कृपया कर कमेंट के जरिए बताएं जिससे हम इसे पुनः अपडेट कर सकें.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *