मेरा प्रिय खेल तैराकी पर निबंध mera priya khel swimming essay in hindi

Mera priya khel swimming essay in hindi

दुनिया में कई तरह के गेम्स होते हैं जिन गेमों को हम खेलकर स्वस्थ रहते हैं और हमारे शरीर के अंग मजबूत होते हैं । आज मैं आपको मेरा प्रिय खेल स्विमिंग के बारे में बताने जा रहा हूं । दोस्तों मुझे बचपन से ही तैरने का बड़ा शौक था और जब मैं ओलंपिक गेम्स में कई तेराकी करने वालो को तेरेते हुए देखता था तो मुझे ऐसा प्रतीत होता था कि मैं भी तालाब में तेरु और ओलंपिक्स मैं हिस्सा लेकर अपना और अपने देश का नाम रोशन करूं फिर मैंने तैरने के बारे में जानकारी ली कि तैरने के लिए क्या-क्या करना चाहिए।

mera priya khel swimming essay in hindi
mera priya khel swimming essay in hindi

मुझे पता चला की तैरने के लिए पहले मुझे सीखना पड़ेगी । फिर मैं तालाबों में सीखने के लिए जाने लगा. धीरे-धीरे में तैरना भी सीख गया सीखने के बाद मेरी इच्छा थी कि मैं ओलंपिक गेम में जाऊं और वहां से गोल्ड मेडल जीत कर लाऊं । फिर मैं राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय तैराकी प्रतियोगिता के बारे में जानकारी लेने लगा । फिर मुझे मालूम हुआ कि ओलंपिक्स गेमों में 4 तरह के स्विमिंग गेम्स होते हैं जैसे कि फ्रीस्टाइल, बैकस्ट्रोक, ब्रेस्टस्ट्रोक , बटरफ्लाई आदि ।

इसके बाद मैंने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय तालाबों की क्या लंबाई होती है और कितना हमको तैरना होता है कितनी गहराई होती है इसके बारे में जानकारी ली तब मुझे पता चला कि राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय तालाबों की लंबाई और गहराई अलग-अलग जगह की अलग-अलग होती है । जो कि 25 मीटर लंबाई ,18 मीटर चौड़ाई और1.2 मीटर गहराई होती है जहां पर हम सभी को तैरना होता है। तैरने के लिए सबसे पहले हमें हमारा शरीर तंदुरुस्त रखना होता है क्योंकि तैरने के लिए जितने हाथ पेर हमारे मजबूत रहेंगे उतने ही ज्यादा हम तैरने में सक्षम होंगे।

ओलंपिक गेम्स जिन तालाबों में कराये जाते है वहां की तालाबों की लंबाई 50 मीटर, चौड़ाई 23 मीटर, गहराई 2 मीटर होती है जहां पर हमको तेरना होता है। अच्छी स्विमिंग सीखने के लिए हमारे मन में जज्बा होना चाहिए और पूरी लगन के साथ हमें स्विमिंग सीखना चाहिए।

स्विमिंग के खिलाड़ी तंदुरुस्त होते हैं वह हर काम को फुर्ती से करते हैं । अब मैं आपको इस खेल के बारे में बताना चाहता हूं कि यह गेंम कहा से शुरू हुआ । स्विमिंग गेम्स जापान से शुरू किया गया और जापान में इसकी एक प्रतियोगिता रखी गई और वहां पर कई सारे लोग इस प्रतियोगिता में शामिल हुए । आज भी वहां पर इस तरह की प्रतियोगिताएं कराई जाती हैं और वहां के स्कूलों में आज भी स्विमिंग सिखाई जाती है । कई देश के लोगों ने स्विमिंग पर जोर भी दिया है.

पहले के जो जहाज होते थे जहाज में जो व्यक्ति काम करते थे उनको स्विमिंग सिखाई जाती थी क्योंकि जब समुद्र में जहाज पर नियंत्रण खो जाए तो वह अपनी जान बचा सकें । आज यह गेम ओलंपिक्स में खेला जाने लगा है और कई देश के तैराकी इस गेम्स को खेलकर गोल्ड मेडल हासिल करके अपना और अपने देश का नाम रोशन करते हैं। यह बड़ा ही जबरदस्त गेम है यह मेरा सबसे प्रिय खेल है और इस खेल के माध्यम से मैं ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतना चाहता हूं।

हमे बताये कि ये आर्टिकल mera priya khel swimming essay in hindi आपको केसा लगा.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *