मंगल पांडे के विचार, कविता व् नारे mangal pandey quotes, poem, slogan in hindi

mangal pandey slogan, quotes in hindi

दोस्तों कैसे हैं आप सभी आज हम आपके लिए लाएं हैं एक महान क्रांतिकारी मंगल पांडे के अनमोल वचन। मंगल पांडे जिन्होंने अपने देश को स्वतंत्र कराने के लिए काफी प्रयास किया था और अंग्रेजों से युद्ध किया था। मंगल पांडे जी का भारत की पहली क्रांति 1857 की क्रांति में महत्वपूर्ण योगदान था इनका जन्म नगवा नामक गांव में हुआ था ये लगभग 22 साल की उम्र में ही ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना में भर्ती हुए थे। ये ब्राह्मण जाति के थे उन्होंने अपने जीवन में कई तरह की समस्याओं का सामना किया और जब उन्हें पता लगा कि अंग्रेज हमारे धर्म को भ्रष्ट कर रहे हैं तभी से उन्होंने अंग्रेजों के खिलाफ आवाज उठाई और उनके विरुद्ध क्रांति छेड़ दी।

mangal pandey quotes, poem, slogan in hindi
mangal pandey quotes, poem, slogan in hindi

उन्होंने अपने देश को आजाद कराने के लिए काफी कोशिश की लेकिन अंत में अंग्रेजो के द्वारा उन्हें फांसी दे दी गई लेकिन क्रांति की लहर भारत के लोगों में ये फेला गये थे और कुछ ही समय बाद हमारा देश आजाद हो गया वास्तव में हम इस महान स्वतंत्रता सेनानी के बलिदान को कभी नहीं भूल पाएंगे चलिए पढ़ते हैं उनके विचारों को

  1. यह आजादी की लड़ाई है गुजरे हुए कल से आजादी, आने वाले कल के लिए
  2. आज तक आपने हमारी वफादारी देखी थी अब आप हमारा क्रोध देखिए
  3. मारो फिरंगी को
  4. बंदूक बड़ी बेवफा माशूका होती है वह कब किधर मुंह मोड़ ले इसका कोई भरोसा नहीं
  5. जब आप अपने देश की रक्षा करते हैं तो धर्म की रक्षा स्वयं ही हो जाती है
  6. हमारी स्वतंत्रता के लिए लड़ाई एक चिंगारी है जो पूरे विश्व में विकराल रूप लेगी
  7. हर इंसान को अपने धर्म की रक्षा जरुर करनी चाहिए

mangal pandey poem in hindi

जिसने धर्म की रक्षा के लिए लड़ाई की
अपनी जान की ना उसने परवाह की
अंग्रेजों के आगे सिर न झुकाया
देश के लिए जान कुर्बान की

खुद ही अकेले विरोध छेड़ दिया
सभी साथियों को इकट्ठा करके युद्ध किया
मंगल पांडे ने अंग्रेजों का विरोध किया
देश के लिए उन्होंने संघर्ष किया

गाय सूअर की चर्बी का इस्तेमाल ना करो
हमारा धर्म तुम नष्ट ना करो
खुद ही अकेले विरोध छेड़ दिया
सभी साथियों को इकट्ठा करके युद्ध किया

जिसने धर्म की रक्षा के लिए लड़ाई की
अपनी जान की ना उसने परवाह की
अंग्रेजों के आगे सिर न झुकाया
देश के लिए जान कुर्बान की

दोस्तों हमें बताएं कि हमारे द्वारा मंगल पांडे के लिखे विचार, नारे एवं कविता mangal pandey quotes, poem, slogan in hindi आपको कैसे लगे इसी तरह के नए-नए आर्टिकल के लिए हमारे इस आर्टिकल को शेयर करना ना भूलें धन्यवाद।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *