लरंग साय का जीवन परिचय Larang sai biography in hindi

Larang sai biography in hindi

Larang sai – दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से भारत देश के लोकसभा के अध्यक्ष लरंग साय  के जीवन परिचय के बारे में बताने जा रहे हैं । तो चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और इस आर्टिकल को पढ़कर लरंग साय के जीवन परिचय के बारे मे विस्तृत जानकारी  प्राप्त करते हैं ।

Larang sai biography in hindi
Larang sai biography in hindi

Image source – http://loksabhaph.nic.in/writereaddata/biodata_1_12/2558.htm

लरंग साय के जन्म स्थान व्  परिवार के बारे में – लरंग साय भारतीय जनता पार्टी के एक महान राजनीतिज्ञ रहे हैं । भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ राजनेता लरंग साय का जन्म 28 अक्टूबर 1938 को भारत देेश के मध्यप्रदेश राज्य के  जिला सरगुजा के जसवंतपुर गांव में हुआ था ।लरंग साय  का विवाह लोयरी देवी  से हुआ था ।

लरंग साय  की प्रारंभिक शिक्षा के बारे में – लरंग साय बचपन से ही पढ़ने लिखने मे रुचि रखते थे । जब इनके माता पिता इनकी रुचि पढ़ाई में लगाते हुए देखते थे  तब इनके माता पिता की द्वारा  इनका मार्गदर्शन शिक्षा की ओर किया गया था । जब लरंग साय  की उम्र स्कूल जाने की हुई तब इनके माता पिता ने  इनको जसवंतपुर गांव के एक स्कूल में भर्ती करा दिया था । जहां से इन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त की थी । परंतु स्कूल में उचित सुविधाएं उपलब्ध नहीं थी जिसके कारण इनके माता-पिता के द्वारा इनको उचित शिक्षा  दिलाने के उद्देश्य से लरंग साय को अंबिकापुर भेज दिया गया था ।

इसके बाद इनके पिता ने अंबिकापुर के 1 हाई स्कूल ने इनका  एडमिशन करवा दिया था । जहां से यह अपनी आगेे की पढ़ाई करने लगे थे । इसके बाद वह निरंतर शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ते गए और उन्होंने अपनी मेहनत और लगन के साथ पूरी पढ़ाई की थी । पढ़ाई करने के दौरान वह  कई सामाजिक क्षेत्र मे  अपना महत्वपूर्ण योगदान देते थे ।अपनी प्रारंभिक शिक्षा के दौरान से ही  वह एक राजनेता के रूप में अपने देश के विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान देना चाहते थे ।

लरंग साय के राजनीति केरियर के बारे में – लरंग साय एक ऐसे राजनेता रहे है जिन्होंने भारतीय जनता पार्टी की ओर से  कार्य करते हुए देश के विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है । राजनीतिक कैरियर में लरंग साय  के द्वारा अपने कैरियर की धमाकेदार शुरुआत 1967 को की गई थी  जब उनको भारत देश केे  मध्य प्रदेश राज्य के विधानसभा में  सदस्य के रूप में चयनित किया गया था ।मध्य प्रदेश राज्य के विधानसभा अध्यक्ष के रूप में उन्होंने मध्य प्रदेश के विकास के लिए  अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है ।

मध्यप्रदेश विधानसभा अध्यक्ष के रूप में लरंग साय ने  अपना महत्वपूर्ण योगदान 1977 तक दिया था । उनकी मेहनत और कार्यशैली को देखते हुए  भारतीय जनता पार्टी ने उनकी काफी प्रशंसा की जाने लगी थी क्योंकि वह सभी कार्यों को समझदारी से किया करते थे । इसके बाद लरंग साय को , उनकी काबिलियत को देखते हुए 1968 में मध्य प्रदेश का राज्य मंत्री बना दिया गया था । राज्य मंत्री पद पर रहते हुए उन्होंने जनता के विकास के लिए  कार्य किए थे  जिस कार्य की प्रशंसा आज भी की जाती है । वह अपनी पार्टी और राज्य के विकास के लिए निरंतर कार्यशील रहते थे ।

जब भी जनता को उनकी  सहायता की आवश्यकता पड़ती थी तब वह जनता की मदद के लिए हमेशा तत्पर रहते थे । जब 1977 में उनको पहली बार छठवीं लोकसभा के चुनाव में चुनाव लड़ने के लिए कहा गया तब वह चुनाव लड़ने के लिए तैयार हो गए थे और भारी मतों से जीत कर 1977 में लोकसभा के सांसद चुने गए थे । जनता के बीच में उनकी लोकप्रियता काफी अधिक थी क्योंकि वह जमीनी स्तर से कार्य कराने में सक्षम थे । जब वह छठ वी लोकसभा में एक सांसद के रूप में जनता के द्वारा चुने गए तब केंद्र सरकार ने उनको 1977 में केंद्रीय मंत्री बनाने का फैसला किया था ।

केंद्रीय मंत्री का पद उन्होंने 1977 को ग्रहण किया था । यह पद उन्होंने 1979 तक संभाला था । केंद्रीय मंत्री के तौर पर वह श्रम विभाग और संसदीय कार्यालय को देख रहे थे ।यही दो  विभाग उनके अंडर में था । इसके बाद 1980 में उनको मध्यप्रदेश विधानसभा का अध्यक्ष घोषित किया गया था । इसके बाद जब भारत देश मे 9 वी लोकसभा के चुनाव आयोजित किए जा रहे थे तब भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में 1989 में सरकार बनाई गई थी और इनको लोकसभा के लिए निर्वाचित किया गया था ।

1990 में इनको लोकसभा का अध्यक्ष चुना गया था । लोकसभा का सदस्य होने के साथ-साथ इनके ऊपर मंत्रालय , ऊर्जा मंत्रालय परामर्श दात्री समिति का कार्यभार भी सौंपा गया था । जब 1998 में 12 वीं लोकसभा के लिए इनको एक बार फिर से निर्वाचित किया गया तब इन्होंने बारहवीं लोकसभा में अध्यक्ष रहते हुए अपना कार्यभार संभाला था । इस तरह से लरंग साय ने राजनीति के कैरियर में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह बेहतरीन लेख लरंग साय  का जीवन परिचय Larang sai biography in hindi यदि आपको पसंद आए तो सबसेेेेेेे पहले आप सब्सक्राइब करें इसके बाद अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों में शेयर करना ना भूले । दोस्तों यदि आपको इस आर्टिकल में कुछ कमी नजर आए तो आप हमें  उस कमी के बारे में अवश्य बताएं धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *