लाल बहादुर शास्त्री पर निबंध Lal bahadur shastri essay in hindi

Lal bahadur shastri essay in hindi

दोस्तों अक्सर स्कूलों की परीक्षाओं में कई महापुरुषों पर निबंध लिखने को दिया जाता है इसलिए आज हम आपके लिए लाए हैं हमारे देश के स्वतंत्रता सेनानी और एक महापुरुष लाल बहादुर शास्त्री के बारे में निबंध आप इसे जरूर पढ़ें तो चलिए पढ़ते हैं आज के इस निबंध को।

Lal bahadur shastri essay in hindi
Lal bahadur shastri essay in hindi

image source- https://www.dnaindia.com/

प्रस्तावना

लाल बहादुर शास्त्री एक ऐसे महापुरुष थे जिन्होंने अपना सारा जीवन देश के लिए समर्पित कर दिया उन्होंने देश को आजादी दिलाने के लिए काफी संघर्ष किया। वह कई बार जेल गए और कई सारी परेशानियों का सामना उन्होंने किया। यह हमारे देश के प्रधानमंत्री भी रहे। लाल बहादुर शास्त्री का जन्मदिन महात्मा गांधी जी के जन्मदिन यानी 2 अक्टूबर को साथ में ही मनाया जाता है।

जन्म और परिवार

लाल बहादुर शास्त्री जी का जन्म 2 अक्टूबर सन 1904 को मुगलसराय में हुआ था लाल बहादुर शास्त्री जी ने बचपन से ही अपने जीवन में काफी परेशानी का सामना किया था जब ये बच्चे थे तभी इनके पिता का देहांत हो गया था। जिस वजह से इन्हें काफी परेशानी झेलनी पड़ी थी इनकी मां इनके साथ अपने पिता के यहां जाकर रहने लगी लेकिन कुछ समय बाद ही इनकी मां के पिता यानी इनके नाना का भी देहांत हो गया उसके बाद लाल बहादुर शास्त्री जी के मौसा जी ने इनका काफी सहयोग किया। बचपन में काफी परेशानियों का सामना करते हुए यह बड़े हुए इन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा प्राप्त की।

इनके कार्य

इन्होंने अपना सारा जीवन देश के लिए समर्पित कर दिया उस समय देश अंग्रेजों का गुलाम था। भारतीयों पर कई तरह के अत्याचार किए जा रहे थे जिस वजह से लाल बहादुर शास्त्री जी ने अपने देश को आजादी दिलाने के लिए दिल से ठान ली और महात्मा गांधी जी के साथ कई आंदोलनों में उनका सहयोग किया। महात्मा गांधी जी के साथ उन्होंने असहयोग आंदोलन में सहयोग प्रदान किया। इस असहयोग आंदोलन के जरिए महात्मा गांधी जी के साथ लाल बहादुर शास्त्री जी ने भारतीयों को जागरूक किया जिससे वह अंग्रेजों के शासनकाल में की जा रही सरकारी नौकरियों का विरोध करें। जिस से प्रेरित होकर कई उच्च पदों पर आश्रित लोगों ने अपने इस्तीफे तक दे दिए।

लोगों ने विदेशी उत्पादों का बहिष्कार किया। स्वदेशी अपनाने के प्रति सभी लोग जागरूक रहे। असहयोग आंदोलन के बाद लाल बहादुर शास्त्री जी जेल भी गए उन्हें कई तरह की प्रताड़ना भी दी गई। इसके बाद महात्मा गांधी जी की दांडी यात्रा में भी लाल बहादुर शास्त्री जी ने सहयोग प्रदान किया।

इसके बाद लाल बहादुर शास्त्री जी ने 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन में भी काफी सहयोग प्रदान किया और इस आंदोलन के बाद उन्होंने अंग्रेजों को भारत छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया। लाल बहादुर शास्त्री जैसे अनेक स्वतंत्रता सेनानियों के किए गए प्रयत्न की वजह से 15 अगस्त सन 1947 को हमारा भारत देश आजाद हो गया। वास्तव में लाल बहादुर शास्त्री जी ने हमारे भारत देश को आजादी दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

लाल बहादुर शास्त्री देश के प्रधानमंत्री

लाल बहादुर शास्त्री जी ने राजनीति में कई राजनीतिक पदों को संभाला और पूर्णता ईमानदारी के साथ अपने कर्तव्य को निभाया। कुछ समय बाद जब पंडित जवाहरलाल नेहरू की अकस्मात मृत्यु हो गई तब 1964 में लाल बहादुर शास्त्री जी को देश का प्रधानमंत्री नियुक्त कर दिया गया। उन्होंने 1966 तक देश के प्रधानमंत्री के पद पर कार्य किया। 1966 में लाल बहादुर शास्त्री जी की मृत्यु हो गई मृत्यु के उपरांत भारत रत्न से भी सम्मानित किया गया। लाल बहादुर शास्त्री जी ने अपना कार्य पूरी ईमानदारी और कर्तव्यनिष्ठा से किया।

उपसंहार

लाल बहादुर शास्त्री वास्तव में हमारे देश के एक ईमानदार नेता, देश प्रेमी और एक स्वतंत्रता सेनानी थे। जिन्होंने अपना पूरा जीवन देश के लिए समर्पित कर दिया था लाल बहादुर शास्त्री जी ने अपने जीवन में जो भी किया वास्तव में वह काबिले तारीफ है। हम लोग हमेशा लाल बहादुर शास्त्री जी को याद करते रहेंगे।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल Lal bahadur shastri essay in hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *