कमलनाथ का जीवन परिचय Kamal nath biography in hindi

Kamal nath biography in hindi

आज हम ऐसे व्यक्ति के बारे में जानने वाले हैं जिसने अपनी मेहनत से राजनीति में ऐसा मुकाम हासिल किया जो कि हर कोई नहीं कर सकता। उन्होंने अपनी मेहनत के दम पर यह कर दिखाया, अगर कोई व्यक्ति कुछ करने की ठान ले तो वह कुछ भी कर सकता है ,हम बात कर रहे हैं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ जी के बारे में.

Kamal nath biography in hindi
Kamal nath biography in hindi

कमलनाथ जी का जन्म 18 नवंबर 1946 को उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में हुआ, जन्म से ही उनका स्वभाव अच्छा रहा, वे अपने माता पिता से बहुत प्यार करते थे । इन्होने अपने माता पिता की बातों को मानकर जिंदगी मैं आगे की ओर चलना प्रारंभ किया, उनके पिता महेंद्र नाथ और उनकी माता लीला नाथ उनको बहुत प्यार करते थे।

उन्होंने पढ़ाई के क्षेत्र में भी बहुत मेहनत की और कई मेडल हासिल किए. कोलकाता के कॉलेज से उन्होंने बी.कॉम कर स्नातक की पढ़ाई को पूरा कर आगे की जिंदगी बनाने की ओर कदम बढ़ाए. कमल नाथ जी कॉलेज के दिनों से ही लोगों की मदद करने में अपना विश्वास रखते थे। जब वह कॉलेज में पढ़ाई करते थे तब कोई व्यक्ति परेशान होता था ,तो वो उनकी मदद करते थे । उन्होंने कई सारे अवॉर्ड जीतकर अपने और अपने परिवार का नाम रोशन किया और अपने देश का नाम भी रोशन किया ।

धीरे – धीरे समय निकल जाने के बाद 27 जनवरी 1973 को उनका विवाह अल्का जी के साथ में हुआ जहां से उन्होंने अल्का जी का साथ लेकर आगे की जिंदगी जीना प्रारंभ कर दिया और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस मैं कार्यकर्ता के रूप में शामिल हुए और राजनीति करने लगे, लोगों की समस्या पर बातचीत करना, उनकी मदद करना यह सब वह करने लगे. कमलनाथ जी के दो बच्चे हैं एक बच्चे का नाम नकुल नाथ और दूसरे बच्चे का नाम बकुल नाथ है।

अब बात करते हैं उनकी राजनीति के कैरियर के बारे में राजनीति का जो हुनर होता है वह कॉलेज के दिनों से ही उनमें दिखने लगा था । उन्होंने धीरे-धीरे कांग्रेस के साथ मिलकर एक अच्छे कार्यकर्ता के रूप में राजनीति की शुरुआत की वो कई सालों से मेहनत करते रहे और धीरे-धीरे राजनीति में आगे बढ़ने लगे.

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष ने जब उनकी मेहनत को देखते हुए उनको पहली बार 1980 में छिंदवाड़ा के सांसद सीट से लड़ाया ,यहां से उनका राजनीतिक कैरियर शुरू हुआ और उन्होंने बहुत मेहनत की और वह चुनाव जीते. बह पहली बार 1980 छिंदवाड़ा के सांसद सीट से लोकसभा के लिए चयनित हुए, फिर उन्होंने जनता के लिए अच्छे कार्य करना प्रारंभ कर दिया, फिर दूसरी बार 1985 में संसदीय क्षेत्र से लोकसभा के लिए चुने गए दूसरी बार भी उन्होंने अपनी मेहनत के बल पर चुनाव जीता।

तीसरी बार 1989 मैं तीसरी बार लोकसभा के लिए चुने गए 1991 में चौथी बार लोकसभा के लिए चुने गए इस तरह से बे धीरे – धीरे राजनीति मैं आगे बढ़ने लगे फिर 2018 में मध्यप्रदेश मैं विधानसभा चुनाव होने थे जिसके लिए प्रदेश अध्यक्ष चुनने के लिए उनका नाम आगे किया गया और राहुल गांधी जी ने उनको मध्य प्रदेश का प्रदेश अध्यक्ष चुना. जहां पर उन्होंने अपना कार्य बहुत अच्छी तरह से निभाया जिसकी बदौलत कांग्रेस ने जीत हासिल की और 17 दिसंबर 2018 को कमलनाथ जी को मध्यप्रदेश का 18 मुख्यमंत्री चुना गया और 17 दिसंबर को उन्होंने 18वे  मुख्यमंत्री की शपथ ली।

हमे सब्सक्राइब जरुर करे और कमेंट्स के द्वारा बताये की ये आर्टिकल Kamal nath biography in hindi केसा लगा.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *