जोग जलप्रपात पर निबंध Jog falls essay in hindi

Jog falls essay in hindi

Jog falls – दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से जोग जलप्रपात पर लिखे निबंध के बारे में बताने जा रहे हैं । तो चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और इस आर्टिकल को पढ़कर जोग जलप्रपात पर लिखे निबंध के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करते हैं ।

Jog falls essay in hindi
Jog falls essay in hindi

जोग जलप्रपात के बारे में – जोग जलप्रपात भारत देश के कर्नाटक राज्य के शरावती नदी पर स्थित है । जिसकी सुंदरता वाकई में देखने के लायक है । जो पर्यटक जोग जलप्रपात को देखनेेे के लिए  कर्नाटक राज्य के शरावती नदी पर जाता है वह जोग जलप्रपात को देखकर अपने जीवन में आनंद , खुशी प्राप्त करता है । जोग जलप्रपात चार छोटे छोटे प्रपातो से मिलकर बना हुआ है । जोग जलप्रपात  राजा , राकेट , रोरट , दाम ब्लाचें  से मिलकर बना है । जिसकी सुंदरता देखने के लिए दूर-दूर से लोग जोग जलप्रपात को देखने के लिए जाते है और अपने जीवन में आनंद प्राप्त करते हैं । जोग जलप्रपात का जल 253 मीटर की ऊंचााई से गिरता है ।

जब कोई पर्यटन ईतनी  ऊंचाई से गिरते हुए जल के दृश्य को देखता है तब वह अपने जीवन में खुशी आनंद प्राप्त करता है । इस जोग जलप्रपात को जेरसप्पा  भी कहा जाता है । यह जोग जलप्रपात भारत देश के उत्तर कन्नड़ जिले के सिद्धापुरा में स्थित है जिसकी सुंदरता के चर्चे दूर-दूर तक किए जाते हैं । जोग जलप्रपात की  ऊंचाई 253 मीटर यानी 829 फुट है जिसकी सुंदरता देखने के लायक है । जोग जलप्रपात की चौड़ाई 472 मीटर यानी 1550 फुट है । जिसकी सुंदरता वहां के आसपास की सुंदरता में चार चांद लगा देती है ।

जोग जलप्रपात के माध्यम से विद्युत उत्पादन के लिए महाराष्ट्र और कर्नाटक दोनों राज्यों के द्वारा जल शक्ति से विद्युत उत्पादन करने के उद्देश्य बड़े-बड़े  सयंत्र इस जोग जलप्रपात पर स्थापित किए गए हैं । भारत देश के इस सुंदर जोग जलप्रपात का नाम जोग प्रपात जुगाड़ गुंडी के अंग्रेजी कृत नाम से रखा गया है जिसकी सुंदरता के चर्चे विदेशों में भी किए जाते हैं । 2011 में समुद्र की गहराई से एक एस एस जेरसप्पा जहाज मिला था । इस जहाज की छानबीन की गई तब यह पता चला कि इस जहाज का नाम जेरसप्पा  के नाम पर रखा गया था और इस जहाज का नाम जोग जलप्रपात के नाम पर रखा गया था ।

इस जहाज के बारे में ऐसा भी कहा जाता है की इस जहाज को द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान भारत में लाया गया था । इस जहाज से  विश्व युद्ध की लड़ाई लड़ी गई थी । परंतु जब यह जहाज 1941 के समय में  आयरलैंड वापस जा रहा था तब समुद्र की भयानक लहरों में यह जहाज डूब गया था । इस जहाज में चांदी आयरलैंड मे ले जाई जा रही थी । चलिए अब हम बात करते हैं जोग जलप्रपात की तो यह भारत का सबसे सुंदर अद्भुत चमत्कारी जोग जलप्रपात है ।

जो भारत देश का एक ऐसा दूसरा जोग जलप्रपात है जो सबसे अधिक ऊंचाई से डुबकी लगाता है । जब ऊंचाई से पानी नीचे की तरफ गिरता है तब एक सुंदर दृश्य बनता है । यह दृश्य देखने के बाद ऐसा महसूस होता है कि यहां जन्नत है और लोग उस दृश्य को देखकर अपने जीवन में खुशी आनंद प्राप्त करते हैं । यदि हम जल जोग प्रपात की सुंदरता को वाकई में देखना चाहते हैं तो हमें कर्नाटक राज्य के शरावती नदी पर अवश्य जाना चाहिए और इस दृश्य को देखकर अपने जीवन में खुशी आनंद अवश्य प्राप्त करना चाहिए ।

जब हम अपनी आंखों से जोग जलप्रपात की सुंदरता को देखेंगे तब हमें पता चलेगा कि वाकई में भारत देश के इस जोग जलप्रपात की सुंदरता इतनी अधिक सुंदर है । जोग जलप्रपात की सुंदरता को देखने के लिए विदेश से भी पर्यटक आते हैं और इस  जोग जलप्रपात की सुंदरता को देखकर अपने जीवन में खुशी आनंद प्राप्त करते हैं । जोग जलप्रपात के माध्यम से विद्युत सनयंत्रों के माध्यम से विद्युत बनाई जाती है और आसपास के एरिया को विद्युत के माध्यम से रोशन किया जाता है ।

जब जोग जलप्रपात से जल 253 मीटर की ऊंचाई से नीचे गिरता है तब वहां पर जो भी व्यक्ति होता है वह इस दृश्य को अपने कैमरे में कैद कर लेता है । जो व्यक्ति एक बार जोग जलप्रपात की सुंदरता को देखने के लिए कर्नाटक राज्य जाता है वह बार-बार अपने परिवार के साथ उस दृश्य को देखने के लिए जाता है । भारत सरकार के द्वारा जोग जलप्रपात की सुंदरता को और भी सुंदर बनाने के लिए काफी पैसा खर्च किया जाता है ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह बेहतरीन लेख जोग जलप्रपात पर निबंध Jog falls essay in hindi यदि आपको पसंद आए तो सबसे पहले आप सब्सक्राइब करें इसके बाद अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों में शेयर करना ना भूले । दोस्तों यदि आपको इस आर्टिकल में कुछ कमी नजर आए तो आप हमें उस कमी के बारे में जरूर बताएं जिससे कि हम उस कमी को पूरा कर सकें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *