असहिष्णुता पर निबंध Intolerance essay in hindi

Intolerance essay in hindi

दोस्तों कैसे हैं आप सभी, दोस्तों आज हम आपके साथ असहिष्णुता पर निबंध शेयर करने वाले हैं विद्यार्थी अपने ज्ञान को बढ़ाने के लिए हमारे द्वारा लिखे असहिष्णुता पर निबंध पढ़ सकते हैं तो चलिए पढ़ते हैं आज के इस आर्टिकल को

Intolerance essay in hindi
Intolerance essay in hindi

असहिष्णुता समाज के कुछ लोगो द्वारा अपनाई गई एक ऐसी नीति या व्यवहार होता है जिसका उद्देश्य अलग अलग धर्मों, जातियों, समुदाय के लोगों की नीतियों, उनकी प्रथाओं,मान्यताओ आदि का उल्लंघन करना होता है या इसके खिलाफ आवाज उठाना होता है उसे असहिष्णुता कहते हैं। ऐसे लोगों को हम असहिष्णु कहते हैं।

असहिष्णुता हमारे समाज, देश और इस सारी दुनिया के लिए एक सबसे बड़ी बाधा है जिसकी वजह से आए दिन दंगे फसाद होते रहते हैं। अगर देश में सहिष्णुता हो तो देश विकास की ऊंचाइयों तक पहुंच सकता है और कई क्षेत्रों में देश विकास कर सकता है। सामाजिक, राजनीतिक और धार्मिक क्षेत्रों में देश दिन प्रतिदिन उन्नति करता है लेकिन असहिष्णुता की यह भावना अपने आपको श्रेष्ठ समझने देती है और किसी दूसरे धर्म, जाति या समुदाय की प्रथा, नीतियों को गलत समझती है जिस वजह से देश दुनिया में कई तरह की समस्याएं खड़ी हो जाती हैं।

आज हम देखें तो हमारा भारत देश अनेकता में एकता प्रदर्शित करता है देश में अलग-अलग जाति, धर्म, समुदाय के लोग एक ही समाज में मिलजुलकर रहते हैं लेकिन असहिष्णुता की वजह से देश में एक नहीं कई सारी समस्याएं पैदा होती हैं।

असहिष्णुता के कारण

समाज में असहिष्णुता होने के कई कारण है असहिष्णुता समाज के ऐसे लोगों द्वारा फैलाई जाती है जो सिर्फ अपने बारे में सोचते हैं ऐसे लोग असहिष्णुता फैलाने के प्रमुख जिम्मेदार होते हैं। जो लोग अपने आप को जिम्मेदार नागरिक समझते हैं लेकिन अंदर ही अंदर किसी दूसरे की उन्नति से जलते हैं ऐसे लोग असहिष्णुता का वातावरण देश में फैलाते हैं। कई प्रथाएं जो लोगों को पसंद नहीं होती है उन प्रथाओं का उल्लंघन करते हैं यह कई तरह की नीतियों को मानने से इनकार करते हैं इस वजह से असहिष्णुता की स्थिति हमारे समाज में मंडराती रहती है असहिष्णुता फैलने के यही प्रमुख कारण होते हैं।

असहिष्णुता के प्रभाव

असहिष्णुता देश में होने की वजह से इसके कई तरह के प्रभाव हमें देखने को मिलते हैं असहिष्णु व्यक्ति की वजह से देश में लड़ाई दंगो का वातावरण होता है और स्थिति खराब होती है। असहिष्णुता की वजह से ही इंसान इंसान को इंसान न समझकर अपना दुश्मन समझता है और उसके अंदर द्वेष, जलन जैसी भावना उत्पन्न होती है वह दूसरे व्यक्तियों को नुकसान पहुंचाने के बारे में सोचता है। असहिष्णुता की वजह से ही हिंदू, मुस्लिम जैसे कई अन्य धर्मों में, कई जातियों में, समुदायों में दंगे फसाद होते रहते हैं जिसकी वजह से समाज को, देश को, राष्ट्र को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है और देश में जन धन की हानि होती है।

वास्तव में इसके कई हानिकारक प्रभाव होते हैं जहां एक और सहिष्णुता हमारे देश को विकास की राह पर तेजी से बढ़ाती है वही असहिष्णुता देश के विघटन में भूमिका निभाती है और देश में एक ऐसी स्थिति बना देती है जिससे नुकसान के सिवा हमें कुछ भी नहीं मिलता। हमें हमारे भारत देश में एकजुट होकर मिल जुलकर एक दूसरे की भावनाओं की इज्जत करके रहना चाहिए तभी हमारे देश का विकास संभव है।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल Intolerance essay in hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *