यदि मैं जादूगर होता निबंध If i was a magician essay in hindi

Yadi main jadugar hota essay in hindi

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से यदि मैं जादूगर होता पर लिखे निबंध के बारे में बताने जा रहे हैं । चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और यदि मैं जादूगर होता निबंध के बारे में पढ़ते हैं ।

If i was a magician essay in hindi
If i was a magician essay in hindi

Image sorce – https://en.m.wikipedia.org/wiki/The_Magician_(U.S._TV_series)

यदि मैं जादूगर होता निबंध के बारे में – मैं बचपन से ही एक जादूगर की कला से बहुत ही प्रसन्न था । मैं अक्सर एक जादूगर बनने की चाहत रखता हूं । कई बार मैं यह सोचता हूं कि यदि मैैं जादूगर होता तो मैं अपने कई सारे काम जादू के माध्यम से कर लेता । जब मैं एक बार  सर्कस में जादू देेेखने गया था तब मैंने एक जादूगर की कला को देखा था तभी से मेरे मन में जादू सीखने की चाहत उत्पन्न हुई और मैं यह सोचने लगा कि यदि मैं एक जादूगर होता तो मैं भी सर्कस में अपने माध्यम से लोगों को जादू दिखाता ।

मैं कई बार सर्कस देखने के लिए गया हूं और सर्कस में जादू खत्म होने के बाद में उस कलाकार से अवश्य मिलता हूं क्योंकि मेरे दिमाग में एक जादूगर बनने के खयाल अक्सर आते रहते हैं । मैं कई बार अपने माता पिता से भी करता रहता हूं कि यदि मैं एक अच्छा जादूगर बन जाऊं तो मैं लोगों को गायब करके जादू दिखाऊंगा और जो भी मेरे जादू को देखेगा वह तालियां बजाकर मेरा उत्साहवर्धन करेगा । यदि मैं जादूगर होता तो दुनिया में हर जगह , हर स्थान पर जाकर लोगों को जादू दिखाता और उनको खुश करता ।

यदि मैं जादूगर होता तो मैं अपने जादू के माध्यम से पढ़ाई में अच्छे अंक प्राप्त करता । यदि मैं जादूगर होता तो यह कोशिश करता कि दुनिया में कोई भी दुखी ना हो और सभी हंसी खुशी से अपना जीवन व्यतीत करें । यदि मैं जादूगर होता तो अपने परिवार को जादू की छड़ी से हमेशा हर तरह की खुशी देता क्योंकि जादूगर ही है जो अपने जादू के माध्यम से लोगों के चेहरे पर मुस्कान लाने का काम करता है । यदि मैं जादूगर होता तो एक जादूगर की ही तरह में नए-नए जादू करके सभी लोगो को दिखाता ।

यदि मैं एक अच्छा और बेहतर जादूगर होता तो मैं अपने जादू के माध्यम से सबसे पहले मैं अपने दोस्तों की सभी ख्वाहिशें पूरी करता  जिससे मैं अपने सभी दोस्तों की नजरों में सबसे बड़ा हीरो बन जाता । यदि मैं जादूगर होता और मेरे पास एक जादू की छड़ी होती तो मैं  जादू की छड़ी से अपने दोस्तों को एग्जाम के क्वेश्चन पेपर जादू के माध्यम से अपने पास ले आता और सभी दोस्तों को दे देता जिससे कि मेरे सभी दोस्त एग्जाम की तैयारी करके अच्छे अंक प्राप्त कर लेते और  सभी दोस्त खुश  होते । जिसके बाद मेरे सभी दोस्त मेरा सम्मान करते ।

यदि मैं जादूगर होता तो मैं हमारे पड़ोस में रहने वाले सभी पड़ोसियों को अपनी जादू की छड़ी से नए-नए जादू दिखाता और उनको यदि किसी तरह की कोई समस्या होती तो मैं अपनी जादू की छड़ी से उनकी सभी समस्याओं का समाधान कर देता । जब भी मैं कोई अखबार पढ़ता हूं और उस अखबार में आतंकवादियों के द्वारा किए गए हमले की खबर को पढ़ता हूं तब मैं यह सोचता हूं कि यदि मैं जादूगर होता तो अपनी जादू की छड़ी से सभी आतंकवादियों को पकड़ कर आर्मी के हबाले कर देता और आर्मी के जवान आतंकवादियों को सजा देते ।

यदि मैंं एक अच्छा और बेहतर जादूगर होता और मेरे पास एक जादू की छड़ी होती तो मैं सबसे पहले अपने शरीर को सबसे सुंदर और फुर्तीला बनाता और मैं फिल्मों की दुनिया में काम करने के लिए जाता । यदि मैं जादूगर होता तो अपनी जादू की छड़ी से जो लोग बीमार , दुखी परेशान हैं उन सभी को अपनी जादू की छड़ी से ठीक करता और उनके चेहरे पर मुस्कान ले आता । यदि मैं एक जादूगर होता तो अपनी जादू की छड़ी के माध्यम से देश के हर कोने में जाकर सभी लोगों को जादू की छड़ी के माध्यम से जादू दिखाता । एक बार मैं ट्रेन के माध्यम से दिल्ली जा रहा था तभी ब्रिज टूट गया था जिसके कारण हमारी ट्रेन रास्ते में ही रोक दी गई थी ।

जब हम लोगों को पता चला की ट्रेन तकरीबन 5 से 6 घंटे वहीं पर रुकेगी तब हम सभी काफी परेशान हो गए थे क्योंकि आगे रास्ता खराब था । जब मैंने यह सुना तो मैं सोचने लगा कि यदि मैं जादूगर होता तो अपनी जादू की छड़ी से उस ब्रिज को 1 सेकंड में बनाकर तैयार कर देता और यह ट्रेन चलने लगती । जब मैं ट्रेन में सफर करता हूं तब मुझे यह ख्याल आते हैं कि यदि मैं जादूगर होता तो ट्रेन की रफ्तार से दौड़ लगाता । एक बार मैं  ट्रेन के माध्यम से मुंबई जाने के लिए स्टेशन पर गया था । जब मैंने टिकट लेकर ट्रेन की ओर बढ़ना चालू किया तब ट्रेन चलने लगी थी ।

फिर मैंने ट्रेन की ओर भागना प्रारंभ किया था । परंतु मैं उस ट्रेन को नहीं पकड़ पाया था । जब ट्रेन वहां से निकल गई थी तब मैं यह सोच रहा था कि यदि मैं जादूगर होता और मेरे पास एक जादू की छड़ी होती तो मैं जादू की छड़ी घुमा कर उस ट्रेन को रोक देता । कभी-कभी मैं यह सोचता हूं कि यदि मेरे पास कहीं से जादू की छड़ी आ जाए और मैं जादू करने लगू तो सबसे पहले मैं सुंदर परियों  के साथ जाकर खेलूंगा क्योंकि मुझे बचपन से ही परियों की कहानी पढ़ना , परियों की फिल्में देखना बहुत पसंद है क्योंकि परियों की कहानि और फिल्मों में उनकी सुंदरता के बारे में बताया गया है और मैं परियों की सुंदरता को देखना चाहता हूं ।

इसलिए अक्सर मैं यह सोचता रहता हूं कि यदि मैं जादूगर होता तो जादू की छड़ी से परी को देखता और उनके पास खेलने के लिए जाता । जब मैं छोटा था और मेरी मां मुझे जादू और जादूगर की कहानियां सुनाती थी तब मैं यह सोचता था कि यदि मैं भी एक जादूगर बन गया तो मैं जादू की छड़ी से गायब हो जाता और लोगों को गायब होकर डराता । जादूगर की कला और जादूगर की मेहनत के कारण ही कई लोगों का दुख दर्द दूर होता है क्योंकि जादूगर का एक ही उद्देश्य होता है कि वह लोगों को बेहतर से बेहतर जादू दिखा कर उनके चेहरे पर मुस्कान ला सके । दुनिया में कई बड़े से बड़े जादूगर हैं ।

जो अपने जादू के माध्यम से खेल दिखाते हैं और सभी लोगों को जादू दिखाते हैं । जब मैं छोटा था तब मैं अपने दोस्तों के साथ में फुटबॉल खेलने के लिए जाता था और मैं फुटबॉल खेल को बड़ी मेहनत के साथ खेलता था । जब मेरे मित्र मुझे फुटबॉल के खेल में हरा देते थे तब मैं यह सोचता था कि यदि मैं जादूगर होता और मेरे पास जादू की छड़ी होती तो मैं सभी दोस्तो को हरा देता और खेल के मैदान का सबसे बड़ा हीरो बन जाता । यदि जादूगर के जादू से लोगों को खुशी प्राप्त होती है तो जादूगर के खेल का सम्मान हम सभी को करना चाहिए ।

मैं अक्सर एक जादूगर बनने के बारे में सोचता रहता हूं क्योंकि जादूगर अपने लिए जादू नहीं दिखाता है बल्कि दूसरों के चेहरे पर खुशी लाने के लिए जादू दिखाता है । मैं जब भी जादूगर को जादू करते हुए देखता हूं तब मैं उस जादूगर की तरह बनना चाहता हूं और जादूगर की तरह ही में कपड़े पहनना चाहता हूं । जब मैं जादू देखता हूं तब मैं यह सोचता हूं कि यह जादूगर कैसे इतनी अच्छी तरह से जादू दिखा देता है । उस समय मैं यह सोचता था की अवश्य इन जादूगरों को भगवान ने जादू की छड़ी दी है ।

इसीलिए यह सभी लोगों को खुश करने के लिए जादू दिखाते हैं क्योंकि जादूगर ऐसे ऐसे जादू दिखाता है जिसकी कल्पना भी किसी ने नहीं की होगी । जादूगर हम आम लोगों की तरह ही होता है वह जादू सीखने के लिए मेहनत करता है । जब वह जादू की कला सीख लेता है तब वह जादूगर उस कला का उपयोग करके अलग-अलग स्थानों पर जाकर जादू दिखाता है । मैं भी एक जादूगर बनना चाहता हूं और अक्सर जादूगर बनने की बारे में सोचता रहता हूं । कई तरह के ख्याल मेरे दिमाग में आते हैं ।

एक बार में हॉस्पिटल में अपना इलाज कराने के लिए गया था और वहां पर एक मरीज ने अपना दम तोड़ दिया था और उसका निधन हो गया था । उस समय उसके परिवार वाले रोने लगे थे । जब मैंने उस मरीज के परिवार वालों को रोते हुए दिखा तब मैं वहीं पर उसी समय यह सोचने लगा कि यदि मेरे पास जादू की छड़ी होती और मैं एक जादूगर होता तो मैं अपनी जादू की छड़ी के माध्यम से उस मरे हुए व्यक्ति को जीवित कर देता ।

जब मैं छोटा था तो मैं अक्सर मंदिर जाया करता था एक बार मैं अपने माता-पिता के साथ मंदिर में भगवान के दर्शन करने के लिए गया और हाथ जोड़कर भगवान से यह प्रार्थना करने लगा कि हे भगवान मुझे जादू की छड़ी दे दो और मेरे अंदर जादू की शक्तियां समाहित कर दो जिससे कि मैं जादू की छड़ी के माध्यम से लोगों को जादू दिखाऊ क्योंकि जादू की छड़ी से ही कई हफ्तों , महीनों , घंटों के कामों को जादू की छड़ी के माध्यम से थोड़ी ही देर में कर लेने की सोच रखता था ।

कई बार मैं यह सोचता रहता हूं कि यदि मैं एक जादूगर होता और मेरे पास जादू की छड़ी होती तो मैं छोटे-छोटे बच्चों को जादू की छड़ी के माध्यम से जादू दिखाता और उनके साथ खेलता क्योंकि मुझे बच्चों के साथ में खेलना बहुत ही पसंद है और सभी बच्चे  मुझसे जादू दिखाने के लिए कहते हैं और मैं अपनी जादू की छड़ी के माध्यम से गायब हो जाता और दोबारा उनके सामने आ जाता , फिर गायब हो जाता और दोबारा उनके सामने आ जाता । यह देखकर बच्चे बहुत खुश होते ।

एक बार मैं कुछ लड़कों के साथ में खेल रहा था और मेरी एक लड़के से झड़प हो गई थी और उसने मुझे पटक पटक कर मारा था । जब उसने मुझे मारा और मैं रोते हुए घर पर पहुंच गया और मैं अपनी मां से कहने लगा कि मैं एक जादूगर बनना चाहता हूं और मुझे एक जादू की छड़ी चाहिए । जब मेरे पास जादू की छड़ी आ जाएगी तक मैं उस लड़के को बहुत मारूंगा क्योंकि उसने मुझे भी मारा है । यह सुनकर मां मुझसे कहने लगी कि हर व्यक्ति जादू नहीं कर सकता है ।

जादूगर बनने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ती है । इस तरह से जादूगर बनने के बाद मैं अपनी सभी ख्वाहिशों को पूरा करना चाहता हूं और लोगों को खुशियां देना चाहता हूं । एक बार मैं गहरी नींद में सो रहा था और मुझे एक सपना आया कि मैं बहुत बड़ा जादूगर बन गया हूं और भगवान ने मुझे एक जादू की छड़ी दी है और मैं उस जादू की छड़ी से सभी बीमार दुखी लोगों को ठीक कर रहा हूं और काफी भीड़ मेरे पास पास जमा हुई है । मैं जादू की छड़ी से सभी लोगों के चेहरे को सुंदर बना रहा हूं ।

इस तरह से मैं सपना देख रहा था । उसी समय मेरे बड़े भाई ने मुझे उठा दिया और मैं यह सोचने लगा कि यदि सच में मुझे जादू की छड़ी मिल जाए तो मैं कितने अच्छे अच्छे काम कर सकता हूं और अपना और अपने परिवार का नाम रोशन कर सकता हूं । एक बार हमारे घर में बहुत बड़ा प्रोग्राम था और उस प्रोग्राम में काफी मेहमानों को बुलाया गया था । जब मेहमानों की भीड़ एकदम से पड़ने लगी तब हलवाई खाने की पूर्ति नहीं कर पा रहा था जिसके कारण सभी लोगों को खाने का इंतजार करना पड़ा ।

उस समय में यह सोच रहा था कि यदि मैं एक जादूगर होता तो मैं अपनी जादू की छड़ी के माध्यम से सभी लोगों का भोजन थोड़ी ही देर में बना देता और सभी लोग भोजन करते । एक बार मैं अपने परिवार के साथ में दिल्ली से इंदौर जाने के लिए रेलवे प्लेटफार्म पर ट्रेन का इंतजार कर रहा था और वह ट्रेन तकरीबन 1 घंटे लेट  आने वाली थी । उसी समय मैंने अपनी मां से कहा कि यदि मैं जादूगर बन जाऊं और मेरे पास जादू की छड़ी आ जाए तो हम सभी एक सेकंड में दिल्ली से इंदौर पहुंच जाएंगे । जब मैंने अपनी मां से ऐसा कहा तो मां मुस्कुराने लगी क्योंकि हकीकत में यह होना संभव नहीं था ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह जबरदस्त आर्टिकल यदि मैं जादूगर होता निबंध If i was a magician essay in hindi यदि आपको पसंद आए तो सबसे पहले आप सब्सक्राइब करें उसके बाद अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों में शेयर करना ना भूलें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *