गांधी परिवार का इतिहास history of gandhi family in hindi

gandhi parivar history in hindi

दोस्तों आज हम आपको इस लेख के माध्यम से गांधी परिवार के इतिहास के बारे में बताने जा रहे हैं . चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और बड़े ही ध्यान से इस लेख को पढ़ते हैं . भारत की राजनीति में गांधी परिवार का बड़ा ही महत्व रहा है . भारत की स्वतंत्रता के बाद भारत में  नेहरू गांधी परिवार का विशेष महत्व रहा है .

history of gandhi family in hindi
history of gandhi family in hindi

image source – https://en.wikipedia.org/wiki/Nehr

नेहरू गांधी परिवार के प्रमुख तीन लोग देश के प्रधानमंत्री रह चुके हैं . नेहरू परिवार से जवाहरलाल नेहरू स्वतंत्र भारत के पहले प्रधानमंत्री बने थे . इसके बाद उनकी बेटी इंदिरा गांधी भी भारत देश की प्रधानमंत्री बनी थी . इंदिरा गांधी के 2 पुत्र थे राजीव गांधी और संजय गांधी . राजीव गांधी इस परिवार से भारत के तीसरे प्रधानमंत्री बने थे . सबसे बड़ी बात यह है कि नेहरू परिवार के तीन लोग  जो प्रधानमंत्री बने थे उनमे से 2 लोगो  की हत्या कर दी गई थी . जिनमें  इंदिरा गांधी की हत्या की गई थी .

इसके बाद इंदिरा गांधी के पुत्र राजीव गांधी की भी प्रधानमंत्री बनने के बाद हत्या की गई थी . नेहरू परिवार का गांधी सरनेम फिरोज गांधी से पड़ा था . जब इंदिरा गांधी जी का विवाह फिरोज गांधी से हुआ था तब नेहरू परिवार को गांधी परिवार के नाम से जाना जाने  लगा  था . जवाहरलाल नेहरू का कोई भी पुत्र नहीं था . उनकी सिर्फ एक ही पुत्री थी . फिरोज गांधी के वंश से ही उनका वंश चल रहा है . जवाहरलाल नेहरू के पिता मोतीलाल नेहरू भी  एक स्वतंत्रता सेनानी थे . नेहरु परिबार का सबंध जम्मू कश्मीर से है .

जवाहरलाल नेहरू ने अपने एक लेख में कहा है कि सन 1716 को फर्रूखसियर ने उनके पूर्वजों को दिल्ली लेकर आए थे और पूर्वज दिल्ली के चांदनी चौक में रहते थे . वहीं पर एक मकान बनाया था और वही रहते थे . उस समय दिल्ली के चांदनी चौक से एक नहर बहती थी . नहर के किनारे  मकान  होने के कारण यह परिवार नेहरू नाम से जाना जाने लगा था , नेहरू नाम से मशहूर हो गया था . जवाहरलाल नेहरू के दादा गंगाधर थे . ऐसा कहा जाता है कि 1857 की क्रांति में उनके दादा गंगाधर नेहरू दिल्ली के  कोतवाल थे .

उनके दादा बकौल नेहरू की मौत के 3 महीने बाद उनके पिता मोतीलाल नेहरू का जन्म 1861 में हुआ था . इनका जन्म आगरा में हुआ था . ऐसा कहा जाता है कि 1857 की क्रांति में जब अकाल पड़ा था तब दिल्ली से आगरा की ओर उनके परिवार ने पलायन किया था और तभी से वह आगरा में बस गए थे . मोतीलाल नेहरू का जन्म भी आगरा में हुआ था . मोतीलाल नेहरू ने आगरा से पढ़ाई की और लॉ की डिग्री प्राप्त की थी और  वह एक अच्छे वकील बन गए थे .

वकील बनने के बाद वह इलाहाबाद चले गए थे और वहां पर सुप्रीम कोर्ट में वकालत किया करते थे . वकालत में मोतीलाल नेहरू के पास पैसा पानी की तरह बरस रहा था . इसके बाद मोतीलाल नेहरू के  घर एक बच्चे ने जन्म लिया था जिसका नाम जवाहरलाल नेहरू था जवाहरलाल नेहरू का  जन्म इलाहाबाद में ही हुआ था . मोतीलाल नेहरू के मुंशी मुबारक अली उनको कई पुरानी कहानियां सुनाया करते थे .

मोतीलाल नेहरू को मुंशी मुबारक अली कहा करते थे कि 1857 की गदर में यदि मुसलमानों ने तुम्हारे परिवार को नहीं बचाया होता तो नेहरू परिवार का एक भी वंश जीवित नहीं रहता . नेहरू गांधी परिवार का राजनीति से संबंध मोतीलाल नेहरू से प्रारंभ हुआ था . मोतीलाल नेहरू भी एक अच्छे वकील एवं स्वतंत्रता सेनानी थे . मोतीलाल नेहरू के पिता का नाम गंगाधर नेहरू एवं माता जीवरानी था . मोतीलाल नेहरू के पुत्र का नाम जवाहरलाल नेहरू था जो एक स्वतंत्रता सेनानी थे .

देश को आजादी दिलाने में जवाहरलाल नेहरू का  योगदान रहा था . वह राजनीति में  सर्वश्रेष्ठ स्थान प्राप्त कर चुके थे . इसलिए जवाहरलाल नेहरू को 1929 को कांग्रेस का अध्यक्ष चुना गया था . जब जवाहरलाल नेहरू की पुत्री का विवाह फिरोज गांधी से हुआ तब नेहरू परिवार गांधी परिवार में बदल गया था . इंदिरा गांधी के बाद राजीव गांधी ने गांधी परिवार की राजनीतिक बेला को आगे बढ़ाया था . राजीव गांधी की मौत के बाद उनकी पत्नी सोनिया गांधी  राजनीति में आई थी और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की अध्यक्ष बनी  थी .

सोनिया गांधी के द्वारा राजीव गांधी का एक पुत्र एवं एक पुत्री है जिसका नाम राहुल गांधी एवं प्रियंका वाड्रा है . इंदिरा गांधी का एक और बेटा था जिसका नाम संजय गांधी था . गांधी परिवार से संजय गांधी के परिवार को अलग कर दिया गया था . संजय गांधी को किसी भी तरह की कोई भी प्रॉपर्टी नहीं दी गई थी और संजय गांधी की मौत के बाद उनकी विधवा पत्नी भारतीय जनता पार्टी में  अपनी सेवाएं दे रही है .

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह जबरदस्त आर्टिकल नेहरू परिवार का इतिहास history of gandhi family in hindi आपको पसंद आए तो सब्सक्राइब अवश्य करें धन्यवाद .

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *