सास बहू की अजब कहानी Hindi story on behaviour in hindi

Hindi story on behaviour in hindi

हेलो फ्रेंड्स केसे है आप सभी,दोस्तों आज की हमारी कहानी Hindi story on behaviour in hindi जिंदगी में बदलाव लाने वाली है हम सभी के परिवार में बदलाव लाने वाली कहानी है चलिए पढ़ते हैं इस बहुत ही बेहतरीन मोटिवेशन कहानी को.

Hindi story on behaviour in hindi
Hindi story on behaviour in hindi

एक बार काफी समय पहले एक परिवार में सास और बहू रहते थे,सास और बहू में निरंतर झगड़ा होता रहता था,बहु बहुत ही तेज थी वह सोचती थी क्यों ना किसी तरह से मैं अपनी सास को मार डालू,उसने कई तरह के उपाय सोचे,एक दिन उसको पता चला कि पास में ही एक महात्मा जी रहते हैं,वह हर एक इंसान की प्रॉब्लम का सॉल्यूशन कर देते हैं तो वह अकेली ही अपने घर से उन महात्मा जी से मिलने के लिए निकल पड़ी और महात्मा जी से कहने लगी कि महात्मा मैं जिंदगी में वैसे तो बहुत खुश हूं लेकिन मेरी सास मुझे बहुत परेशान करती है,मैं
उससे बहुत तंग आ गई हूं.

आप मुझे कुछ ऐसा उपाय बताइए जिससे मेरी सास को मार मर जाए,उस लड़की की बात सुनकर महात्मा जी बोले कि बच्ची मैं तुझे बहुत सालों पहले से जानता हूं तेरे पापा जी मेरे करीबी दोस्त है तुझे मैं तेरी परेशानी का हल बताऊंगा,तू एक काम कर उनको जहर देकर मार डाल लेकिन अगर तू बाजार में मिलने वाला जहर खिलाएगी तो वह कुछ ही मिनटों में मर जाएंगी और सभी को पता लग जाएगा कि तूने उसे जहर खाया है तो तेरा नाम आएगा इसलिए मैं तुझे एक ऐसा जहर देता हूं जिसे तू रोजाना अपनी सास के खाने में मिला दिया कर,वोह रोजाना खाएगी तो 7 महीने में वह इस दुनिया से चली जायगी.

इसी के साथ में महात्मा जी ने उस औरत से आगे कहा कि एक बात का ख्याल रखना क्योंकि तुम्हारी सास 7 महीने में इस दुनिया से चली जायेंगी,धीमी गति से काम करने वाले जहर के कारण मर जाएगी इसलिए तू अपनी सास से अच्छा व्यवहार करना क्योंकि अगर तू अपनी सास से बुरा व्यवहार करेगी तो आस पड़ोस वाले रिश्तेदार सभी तुझपर इल्जाम लगाएंगे और अगर तू अच्छा व्यवहार रखेगी तो कोई शक नहीं करेगा,इतना कहकर महात्मा जी ने अपनी बात पूरी की और वह अपने घर की ओर चल पड़ी.

अगले दिन से बहू के स्वभाव में बहुत बदलाव आया अगले दिन से बहू के स्वभाव में बहुत बड़ा बदलाव आया,वह सुबह श्याम अपने सास की सेवा करती जो बहू अपनी सास से सही से बातचीत भी नहीं करती थी,वह अब सास से बड़े प्यार से बात करती और उसकी सेवा करती उसके हाथ पैर दबाती, उसको खाना खिलाती,चार महीने तक उसने ऐसा किया. 6 महीने बाद एक दिन वह उसी महात्मा के पास पहुंची महात्मा जी से बोली महात्मा आप कुछ ऐसी दवाई दीजिए कि मेरी सांस को जहर आप ने दिया था उसका जहर का असर कम कम हो जाए क्योंकि मैं अपनी सांस को नहीं मारना चाहती मेरी सासू मां तो बहुत अच्छी है,इसपर महात्मा ने बोला क्यों?

बहु बोली-कुछ नहीं अभी कुछ पिछले 6 महीने से मेरी सासु मां मेरे साथ बहुत ही अच्छे से प्यार से बर्ताव करने लगी है तो महात्मा बोले बेटा हम जैसा बर्ताव जिस इंसान के साथ करते हैं वही बर्ताव दूसरे हमारे साथ करते हैं,शुरुआत में तुम उनसे अच्छे से बात चीत नहीं करती थी तो वह भी तेरे साथ ऐसे ही पेश आती थी,मैंने तुझे छः महीने का जहर के बारे में बताया दरअसल मैंने तुझे कोई जहर नहीं दिया था मैं तो तेरी जिंदगी को सुधारना चाहता था तुझे सही मार्ग पर पहुंचाना चाहता था

इसलिए मैंने तुझ से 6 महीने का कहा और 6 महीने तक तू ने जब उनसे अच्छा व्यवहार किया तोह तुम्हारी सास ने भी तुमसे अच्छा व्यवहार करना शुरु कर दिया जिससे तुम्हारी जिंदगी प्यार और प्यार से भरी हुई हो गई और तुम्हारे रिश्ते बहुत ही मजबूत हो गए इसलिए हम जैसा व्यवहार जिस सामने वाले के साथ करेंगे वही व्यवहार सामने वाला हमारे साथ करेगा इसलिए जिंदगी में सबसे पहले अपने आपको बदलिए आप देखोगे सामने वाला अपने आप बदल रहा है.

अगर आपको हमारी ये कहानी hindi story on behaviour in hindi पसंद आए तो फेसबुक पर लाइक कीजिए और इसे शेयर करना ना भूलें और हमें कमेंट के जरिए बताएं कि आप को हमारी ये कहानी कैसी लगी.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *