विदाई समारोह पर कविता Hindi poem on vidai samaroh

Hindi poem on vidai samaroh

दोस्तों कैसे हैं आप सभी, दोस्तों अक्सर जब किसी की विदाई होती है यानी कोई भी व्यक्ति जो किसी ऑफिस या किसी स्कूल में कार्यरत होता है तो उसका ट्रांसफर  या रिटायरमेंट होता है तो अक्सर उस ऑफिस या स्कूल में एक विदाई समारोह रखा जाता है इस विदाई समारोह में उस ऑफिस या स्कूल के सभी लोग उपस्थित होते हैं और उस व्यक्ति को रिटायरमेंट के लिए बधाइयां देते हैं.

कुछ व्यक्ति अपने मित्र के दूर जाने की वजह से थोड़े उदास भी होते हैं वास्तव में विदाई समारोह हर किसी के जीवन के लिए एक यादगार साबित हो सकता है आज हम आपके लिए लाए हैं विदाई समारोह पर हमारे द्वारा लिखित एक कविता आप इस कविता को जरूर पढ़ें तो चलिए पढ़ते हैं हमारी आज की इस बेहतरीन कविता को

Hindi poem on vidai samaroh
Hindi poem on vidai samaroh

मिले थे हम कभी अब बिछुड़ जाएंगे
इस समारोह से हम विदा हो जाएंगे
गम में भी हम आगे बढ़ते जाएंगे
ये पल विदाई के याद करते जाएंगे

खुश रहो आप सब ये कामना है हमारी
बस इस दिल में यही भावना है हमारी
मिले थे हम कभी अब बिछुड़ जाएंगे
इस समारोह से हम विदा हो जाएंगे

आप सबकी हमें याद बहुत आएगी
आपसे मिलने की उमंग दिल में छाएगी
मिले थे हम कभी अब बिछुड़ जाएंगे
इस समारोह से हम विदा हो जाएंगे

काश कुछ दिन और साथ रहने को होते
खुशी के कुछ दिन देखने को होते
मिले थे हम कभी अब बिछुड़ जाएंगे
इस समारोह से हम विदा हो जाएंगे

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल Hindi poem on vidai samaroh पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *