मत्स्य पालन पर निबंध Hindi Essay on Matsya Palan

Hindi Essay on Matsya Palan

आज हमारे देश में कई लोग मत्स्य पालन कर अपने और अपने परिवार का जीवन यापन कर रहे हैं क्योंकि मत्स्य पालन के माध्यम से धन कमाकर अपना और अपने परिवार का जीवन चला सकते हैं । कई लोग हमारे देश के चारों तरफ कई समुद्रों के तट पर मत्स्य पालन कर अपना जीवन यापन कर रहे हैं। मत्स्य पालन करने के लिए जरूरी नहीं कि समुद्र से ही आप मछ्ली पालन करें बल्कि अपने ही गांव के तालाब में मत्स्य पालन कर आप बहुत सारा धन कमा सकते हैं ।

Hindi Essay on Matsya Palan
Hindi Essay on Matsya Palan

सरकार भी कई योजना के माध्यम से मत्स्य पालन करने के लिए लोन दे रही है। मत्स्य पालन करने के लिए तालाब में बीज डालकर मछलियों के जन्म को बढ़ा सकते हैं । कई तरह की देसी मछलियां हम उस तालाब में डालकर पैदावार बड़ा सकते हैं जैसे कि सिल्वर कॉर्प , ग्रॉस कॉर्प , कॉमन कॉर्प मछलियों का मत्स्य पालन करके हम बहुत धन कमा सकते हैं ।

देसी मछलियों के साथ साथ हम विदेशी मछलियों को पालकर भी पैदावार बढ़ा सकते हैं हमको मत्स्य पालन करने के लिए ऐसी मछली का प्रयोग करना चाहिए जो जल्दी से जल्दी बड़ी हो सके और पानी को हमेशा साफ रखना चाहिए और मछली को ठीक तरह से भोजन की व्यवस्था भी वहां पर होना चाहिए । मछली अपना भोजन पानी के अंदर रहने बाले जंतुओ से पाती है । मत्स्य पालन के माध्यम से हमकों रोजगार मिलता है और देश के कई लोग यह व्यवसाय कर भी रहे हैं ।

अब तो सरकार भी यह करने के लिए लोगों को सहायता प्रदान कर रही है और लोग आगे बढ़ रहे हैं मछली जब बड़ी हो जाती है तो उसको सुखाकर मछली का तेल एक औषधि के रूप में उपयोग किया जाता है । लोग मछली का उपयोग मछली को सुखाकर उसका तेल बनाकर बहुत सारी जड़ी-बूटियों को बनाकर फिर उसको बाजार में अच्छे दाम पर बेचकर अपना जीवन यापन करते हैं । मत्स्य पालन के माध्यम से लोग जिंदगी में अपनी रोजी रोटी पा रहे हैं ।

मत्स्य पालन करने के लिए हमारे देश मैं प्रशिक्षण भी दिया जाता है और लोग मत्स्य पालन के बारे में जानकर मत्स्य पालन करके अपना जीवन यापन कर सकते है। दोस्तों जब हम मत्स्य पालन करते हैं तो हमको प्रशिक्षण लेने के बाद एक अच्छी जगह का चुनाव करना चाहिए हम जहां मत्स्य पालन करने जा रहे हैं वहां का जल कैसा है यह भी हमको मालूम होना चाहिए और वहां की मिट्टी किस तरह की है । जब हम प्रशिक्षण लेते हैं तो वहां पर हमको इन सभी की जानकारियां दे दी जाती हैं ।

अगर हम बिना शिक्षा के मत्स्य पालन करते हैं तो हम जो लागत लगाते हैं उसका नुकसान भी हो सकता है अगर हम शिक्षा लेकर मत्स्य पालन करते हैं तो कितनी लागत लगाना है किस तरह से लगाना है और किस जगह पर मत्स्य पालन करना है इन सबकी जानकारी हमको मिल जाती है ।

कोन सी मछलि को किस नदी, तलाब मे डालना है वहां का पानी किस तरह का होना चाहिए इन सभी बातों का हमको ध्यान रखना चाहिए। अगर हम मत्स्य पालन करते हैं और हमको इसकी जानकारी नही है तो जानकारी के लिए सरकारी सहायता भी दी जाती है आप जिला पंचायत में जाकर वहां के अधिकारी के माध्यम से उसकी जानकारी ले सकते हैं । आप तालाबों मे मत्स्य पालन करके बहुत सा धन कमाकर अपना और अपने परिवार का जीवन निर्वाह आसानी से कर सकते हैं। कई राज्यों में मत्स्य पालन के लिए लोगों को आगे बढ़ाया जा रहा है और लोग आगे बढ़ कर मत्स्य पालन के माध्यम से अपना और अपने परिवार का जीवन यापन कर रहे हैं।

ये लेख Hindi Essay on Matsya Palan पसंद हो तो इसे शेयर करे.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *