हिन्दी भाषा का महत्व पर कविता Hindi bhasha ka mahatva par kavita

Hindi bhasha ka mahatva par kavita

दोस्तों आज की हमारी कविता Hindi bhasha ka mahatva par kavita आप सभी को हिंदी भाषा के महत्व को बताएगी.हमारे भारत में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली मातृभाषा और राष्ट्रभाषा हिंदी सबसे ज्यादा फैली हुई है हर एक हिंदुस्तानी को अपनी मातृभाषा हिंदी पर गर्व होना चाहिए क्योंकि हिंदी भाषा इतनी सरल और सहज है जिसका मुकाबला हम किसी से नहीं कर सकते चलिए पढ़ते हैं हिंदी भाषा के महत्व को बताने वाली हमारी स्वरचित कविता को

Hindi bhasha ka mahatva par kavita
Hindi bhasha ka mahatva par kavita

हिंदी मेरी भाषा है, सबसे प्यारी यह भाषा है                                                                                                                                                   हर एक नौजवान के दिल में यह रहे, यही मेंरी अभिलाषा है                                                                                                                         हिंदी भाषा हम सबकी पहचान है इसके बिना कुछ भी पाना बेकार है                                                                                                           कोई कुछ भी बोले लेकिन विपरीत परिस्थिति में यह सबकी भाषा है

हम जहां पर जिस जगह पर भी बोलें                                                                                                                                                         हिंदी को बड़े गर्व से बोले                                                                                                                                                                           हिंदी हमारी पहचान है                                                                                                                                                                              हिंदी ही हम सबकी शान है

अखबारों में किताबों में, बड़े-बड़े ग्रंथों और पोथी शास्त्रों में                                                                                                                               हर जगह ये बसी है क्योंकि हिंदी ही हमारी पहचान है                                                                                                                               सबसे सरल और सुदृढ़ है, लिखने में भी सरल है                                                                                                                                         सबके दिलों में बसने वाली हैं, हर किसी को गर्व है क्योंकि हिंदी हमारी मातृभाषा है

सेनानियो के गुण गाती है, कवियों के दिल मे समा जाती है                                                                                                                             हिंदी ही है जो हमेशा हमेशा के लिए दिल मे बस जाती है.                                                                                                                           हिंदी जो बोले उसपर गर्व होना चाहिए                                                                                                                                                           हर एक इंसान को उस पर पर फक्र होना चाहिए                                                                                                                                             हर एक किताब ग्रंथ हिंदी में ही होनी चाहिए                                                                                                                                          क्योंकि हिंदी हमारी जान और हिंदी ही हमारी शान है

Related- मातृभाषा हिंदी पर निबंध Rashtrabhasha hindi ka mahatva essay

दोस्तों हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारी स्वरचित कविता Hindi bhasha ka mahatva par kavita कैसी लगी अगर आपको अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों में भी शेयर जरुर करें और हमारा Facebook पेज लाइक जरुर करें और हमारी इसी तरह की नई नई पोस्ट का अपडेट पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *