हिमाचल प्रदेश का दिवस पर स्पीच या भाषण Himachal statehood day speech in hindi

Himachal statehood day speech in hindi

Himachal – नमस्कार दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से हिमाचल प्रदेश की दिवस पर स्पीच सुनाने जा रहे हैं । तो चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और इस आर्टिकल को पढ़कर हिमाचल प्रदेश दिवस पर स्पीच के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं ।

Himachal statehood day speech in hindi
Himachal statehood day speech in hindi

नमस्कार दोस्तों मैं अरुण नामदेव आप सभी लोगों का हिमाचल प्रदेश दिवस के शुभ अवसर पर इस कार्यक्रम में स्वागत , वंदन अभिनंदन करता हूं । जैसा कि हम सभी जानते हैं कि 25 जनवरी 1971 को हमारा हिमाचल प्रदेश पूर्ण राज्य बना था । इसी कारण हम प्रतिवर्ष 25 जनवरी को हिमाचल प्रदेश दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं ।  हम हमारे स्कूल में प्रतिवर्ष एक कार्यक्रम आयोजित करते हैं जिस कार्यक्रम में गणमान्य लोगों को बुलाया जाता है और मुख्य अतिथि के तौर पर भी यहां पर हमारे सम्मानीय लोग उपस्थित होते हैं ।

अब हम इस कार्यक्रम की बेला को आगे बढ़ाते हैं । मैं आपको बता देना चाहता हूं कि हमारे इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि माननीय कलेक्टर महोदय जी हैं । जो कुछ ही क्षणों में हमारे बीच उपस्थित होंगे ।माननीय कलेक्टर महोदय के आने से पहले मैं आपको हिमाचल प्रदेश दिवस के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी देना चाहता हूं । दोस्तों यहां पर बैठे सभी विद्यार्थियों शिक्षक गण आज हमारे लिए बड़ी खुशी का दिन है क्योंकि 25 जनवरी को हमारे राज्य को पूर्ण राज्य का दर्जा प्राप्त हुआ था ।

आज 25 जनवरी है और पूरे राज्य में हिमाचल प्रदेश दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है । जब हमारा देश अंग्रेजों की गुलामी से आजाद हुआ तब 15 अप्रैल 1948 को हिमाचल प्रदेश अस्तित्व में लाया गया था और हिमाचल प्रदेश को एक सुंदर राज्य बनाने की ओर भारत सरकार ने कदम आगे बढ़ाए थे । जब हिमाचल प्रदेश अस्तित्व में आया तब 1950 को हिमाचल प्रदेश पार्ट सी के दर्जे में आ गया था । इसके बाद भारत सरकार ने हिमाचल प्रदेश को पूर्ण दर्जा देने का कार्य प्रारंभ किया और इस कार्य को पूरा करने के बाद 25 जनवरी 1971 को हिमाचल प्रदेश को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की घोषणा करने के लिए पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने तैयारी की थीब ।

जब पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी जी शिमला के रिज मैदान में एक जनसभा आयोजित कर रही थी तब माननीय पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी जी ने हिमाचल प्रदेश को 18 वे राज्य के तौर पर घोषित किया था । इससे पहले भारत देश का हिमाचल प्रदेश केंद्र शासित प्रदेश हुआ करता था । यहां पर उपस्थित सभी  लोगों को मैं यह बता देना चाहता हूं कि हमारे इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मान्य कलेक्टर  महोदय पधार चुके हैं । मैं स्कूल के ट्रस्टी महोदय और माननीय प्रिंसिपल महोदय से निवेदन करता हूं कि वह माननीय कलेक्टर महोदय को सम्मान पूर्वक यहां पर लाएं और यथावत स्थान पर बैठाएं ।

अब मैं माननीय कलेक्टर महोदय से निवेदन करता हूं कि वह स्टेज पर आकर मां सरस्वती की प्रतिमा पर फूलमाला चढ़ाकर इस कार्यक्रम की बेला को आगे बढ़ाएं । अब मैं माने कलेक्टर महोदय से निवेदन करता हूं कि वह हिमाचल प्रदेश दिवस के शुभ अवसर पर दो शब्द कहें । मैं यहां पर उपस्थित सभी लोगों से निवेदन करता हूं कि वह माननीय कलेक्टर महोदय के आगमन पर तालियां बजाकर उनका उत्साहवर्धन करें ।

 नमस्कार विद्यार्थियों यहां पर उपस्थित सभी शिक्षक गण और सम्मानीय यहां पर उपस्थित सभी लोग मैं आप सभी लोगों को हिमाचल प्रदेश दिवस की शुभकामनाएं देता हूं और आशा करता हूं आप सभी लोगों का जीवन सुखमय हो । हमारा हिमाचल प्रदेश राज्य दिन प्रतिदिन तरक्की की ओर बढ़े । जैसा कि हम सभी जानते हैं कि 25 जनवरी 1971 को हमारे राज्य को पूर्ण राज्य का दर्जा प्राप्त हुआ था और उसी दिन से प्रतिवर्ष 25 जनवरी को पूरे राज्य में हिमाचल प्रदेश दिवस हर्षोल्लास के साथ आयोजित किया जाता था ।

आज हिमाचल प्रदेश एक पूर्ण विकसित राज्य है । जब हिमाचल प्रदेश राज्य का गठन किया गया और हिमाचल प्रदेश को पूर्ण राज्य का दर्जा मिला तब से लेकर आज तक हिमाचल प्रदेश का काफी विकास हुआ है । हिमाचल प्रदेश देवताओं की भूमि के नाम से भी पहचाना जाता है ।  यहां पर कई देवी-देवताओं ने अवतार लिया है । इसीलिए यह देवभूमि भी है । आज हिमाचल प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था से लेकर हिमाचल प्रदेश की आर्थिक स्थिति भी काफी मजबूत है । यह हिमाचल प्रदेश के  नागरिकों के अथक प्रयासों के कारण ही संभव हो पाया है ।

आज यहां पर बैठे सभी विद्यार्थी पढ़ लिख कर उचित शिक्षा प्राप्त करके हिमाचल प्रदेश के विकास के लिए कार्य करेंगे और हिमाचल प्रदेश के विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान देकर हिमाचल प्रदेश को विकसित राज्य बनाने में अपना योगदान देंगे   इसी बात के साथ मैं अपनी वाणी को विराम देता हूं जय हिंद जय भारत ।

 मैं यहां पर उपस्थित सभी लोगों से निवेदन करता हूं कि माननीय कलेक्टर महोदय की सुंदर स्पीच के लिए तालियां बजाकर उनका उत्साहवर्धन करें । इसी के साथ हम इस कार्यक्रम की बेला को समाप्ति की ओर ले जाते हैं । मैं यहां पर उपस्थित सभी लोगों से आशा करता हूं कि आप सभी लोगों को यह कार्यक्रम पसंद आया होगा । इसी के साथ मैं अपनी वाणी को विराम देता हूं और हम इस कार्यक्रम को समाप्त करते हैं जय हिंद जय भारत ।

 दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह बेहतरीन लेख हिमाचल प्रदेश के  दिवस पर स्पीच या भाषण Himachal statehood day speech in hindi यदि आपको पसंद आए तो सबसे पहले आप सब्सक्राइब करें इसके बाद अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों में शेयर करना ना भूलें । दोस्तों यदि आपको इस आर्टिकल में कुछ कमी या गलती नजर आए तो कृपया कर आप हमें उस गलती के बारे मे अवश्य बताए धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *