वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) पर निबंध GST Essay in Hindi language

GST Essay in Hindi language

GST Essay in Hindi language-दोस्तों आज का हमारा आर्टिकल जीएसटी पर निबंध आपको गुड्स एंड सर्विस टैक्स के बारे में जानकारी देगा.दोस्तों जब से मोदी सरकार आई है वह देश को बदलने के लिए बहुत से नए-नए फैसले ले रही है.पहले विमुद्रीकरण जैसा फैसला लेकर नरेंद्र मोदी जी ने हर किसी को चकित कर दिया उन्होंने काले धन के खिलाफ अपने इस प्रयत्न से हर किसी को सोचने के लिए मजबूर कर दिया.

बहुत से लोगों ने उनके इस फैसले की तारीफ की वहीं दूसरी ओर कुछ लोगों ने उनके इस फैसले की बुराई भी की इसके बाद उन्होंने 1 जुलाई 2017 से पूरे भारत देश में जीएसटी लागू करके एक बार फिर से अपने देश को बदलने का प्रयत्न किया.आज हम इसी जीएसटी के बारे में जानेंगे हमारे इस निबंध का उपयोग कोई भी विद्यार्थी अपने स्कूल,कॉलेज में निबंध लिखने के लिए यहां से जानकारी ले सकता है साथ में अपनी जानकारी बढ़ाने के लिए आप इस निबंध को पढ़ सकते हैं.

GST Essay in Hindi language
GST Essay in Hindi language

जीएसटी जिसका फुल फॉर्म होता है गुड्स एंड सर्विस टैक्स.जब कोई भी सामान जैसे कि कपड़े,गाड़ियां,खाने पीने की सामग्री,मोबाइल फोन आदि खरीदते है यानी हम किसी भी तरह की सर्विस लेते हैं और उसके बदले में पैसे देते हैं तो हमें टैक्स देना पड़ता है
जीएसटी के 1 जुलाई 2017 को लागू होने के बाद बहुत सारे लाभ हमको देखने को मिल सकते हैं आज हम देखें तो पूरी दुनिया में कई देशों में जीएसटी लागू किया गया है और हर किसी देश को जीएसटी लागू होने के बाद फायदा ही मिला है.

नरेंद्र मोदी जी के जीएसटी के फैसले के बाद जरूर ही हमारा देश प्रगति करेगा क्योंकि आज हम देखें तो जीएसटी से पहले हमारे भारत देश के व्यापारी वर्ग के लोगों को बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता था उन्हें कई तरह के टैक्स चुकाने पड़ते थे उन्हें राज्य सरकार और केंद्र सरकार को टैक्स चुकाने पड़ते थे लेकिन जीएसटी लागू होने के बाद उन्हें एक ही टैक्स देना पड़ता है जीएसटी.जिस वजह से उन्हें बहुत फायदा होने वाला है.

पहले लगभग 30 से 35% तक टैक्स देना पड़ता था.प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष में तो कभी-कभी और भी ज्यादा टैक्स हो जाता था लेकिन जीएसटी लागू होने के बाद ये कर बहुत ही कम हो गया है जिस वजह से सभी को बहुत कुछ फायदा होने वाला है.यह टैक्स 0 परसेंट,5 परसेंट,12 परसेंट,18 परसेंट और 28% तक लगाया जाएगा.लोकसभा में जब ये बिल पारित किया गया था तभी निर्णय लिया गया कि पेट्रोल,डीजल, कच्चा तेल आदि पर जीएसटी लागू नहीं होगा.

जीएसटी लागू होने के बाद जीएसटी रेट अलग अलग प्रोडक्ट पर अलग अलग निर्धारित की गई है इसमें सबसे पहले की चीजें जैसे कि नमक, अनाज,चावल,किताबें,फल,सब्जियां आदि पर बिल्कुल भी टैक्स नहीं लगेगा और पांच परसेंट टेक्स घर में उपयोग की जाने वाली सामग्री जैसे कि चाय,कॉफी,कोयला,काजू,किशमिश,अगरबत्ती,तांबे के बर्तन,लोहे के बर्तन,मीठा तेल आदि पर लगाया जाएगा और 12 फ़ीसदी टेक्स मोमबत्ती,नमकीन,मक्खन,घी,दंत मंजन,साइकिल,मोबाइल आदि पर लगाया जाएगा

Related- मोबाइल फोन पर भाषण व स्लोगन Mobile phone speech, slogan in hindi

इसके बाद 18 परसेंट टैक्स बालों का तेल,हेलमेट,साबुन,नोटबुक,कंप्यूटर,प्रिंटर आदि पर लगाया जाएगा इसके बाद 28 परसेंट टैक्स बहुत सारे लग्जरी सामान जैसे कि फ्रिज, मोटरसाइकिल,कार,परफ्यूम,टूथपेस्ट,शेविंग क्रीम आदि पर लगाया जाएगा तो इस तरह से हम देखें तो कुछ प्रोडक्ट सस्ता होगा और कुछ प्रोडक्ट महंगा होगा.

जीएसटी एक तरह से इनडायरेक्ट टैक्स यानी अप्रत्यक्ष टेक्स से बचने के लिये लागु किया गया है अब हम समझते हैं कि अप्रत्यक्ष टेक्स्ट क्या होता है दरअसल जैसे कि यदि कोई नौकरी करता है और उसको अकाउंट में सैलरी मिलती है तो सैलरी आने के साथ ही सरकार को टेक्स् कट जाता है ये प्रत्यक्ष टैक्स होता है लेकिन अप्रत्यक्ष टैक्स वो होता है जिसमें हम किसी दुकान से कुछ खरीदते हैं तो उसमें लिखा होता है कि इंक्लूड सर्विस टेक्स यानी उसमें जो MRP लिखी होती है उसमें टैक्स सहित mRP होती है जिसे अब लगभग खत्म कर दिया गया है.जीएसटी के लागू होने के बाद वास्तव में व्यापारी वर्ग के लोगों को बहुत फायदा होने वाला है चलिए हम जानते हैं जीएसटी से होने वाले लाभों के बारे में.

जैसे कि मैंने आपको बताया कि सबसे पहले व्यापारी वर्ग के लोगों को इससे सबसे बड़ा फायदा होगा.यदि आप व्यापार करते है तो उन्हें सिर्फ जीएसटी देना पड़ेगा. इसके अलावा जीएसटी के लागू होने से सरकार का फायदा होगा उनको भी अच्छा टेक्स् मिलेगा इसी के साथ में बहुत से लोग ऐसे होते थे जो टैक्स की चोरी करते थे लेकिन जीएसटी के लागू होने के बाद टैक्स चोरी की समस्या बहुत ही कम होगी और जब टैक्स सरकार के पास आएगा तो टैक्स के रूप में जमा होने वाले पैसों से हमारे देश का विकास होगा.वह पैसा हमारे देश के विकास के काम में लिया जाएगा.जो काम हमारे देश में अभी तक रुके हुए हैं उनकी तरफ सरकार ध्यान देगी और हमारे देश में विकास होगा.

इसी के साथ में वस्तुओं के मूल्य में कमी होगी इस तरह से हम देखें तो जीएसटी के लागू होते ही हमारा देश भी विदेशों की तरह लगातार प्रगति करेगा और जब हमारे देश का विकास होगा तो हमारा भी विकास होगा लेकिन जीएसटी के लागू होने के बाद यह भी देखा गया है कि कुछ प्रोडक्ट की कीमत बढ़ी है जिस वजह से लोगों का मानना है कि जीएसटी से हानि भी है लेकिन जिन देशों में जीएसटी लागू हुआ है उन देशों की प्रगति देखते हुए हम उम्मीद कर सकते हैं कि जीएसटी के लागू होने से हम सभी को जरूर ही लाभ मिलेगा और हमारे देश का विकास जरूर होगा.

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह आर्टिकल GST Essay in Hindi language पसंद आया हो तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल GST Essay in Hindi language कैसा लगा इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारी नई पोस्ट का अपडेट आपको मिल सके.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *