कचरे का दुष्प्रभाव पर निबंध Garbage problem essay in hindi

Garbage problem essay in hindi

कचरे का दुष्प्रभाव हमें आजकल के इस आधुनिक युग में देखने को मिल रहा है। आज के इस आधुनिक युग में भले ही मनुष्य ने प्रगति की हो लेकिन कई क्षेत्रों में मनुष्य पीछे रहा है। आजकल हम देखें तो कचरे की वजह से कई दुष्प्रभाव हमें चारों ओर देखने को मिलते हैं।

हम अपने घर का कचरा, कई तरह की धूल, सब्जियों का कचरा, कई तरह की पॉलिथीन, कागज का कचरा अपने घर के बाहर डाल देते हैं जिसकी वजह से कई दुष्प्रभाव हमें देखने को मिलते हैं। कचरे को हमेशा हमें कूड़ेदान में ही डालना चाहिए।

कचरा प्रबंधक की जो गाड़ी आती है उसमें ही कचरा डालना चाहिए तभी हम कचरे से होने वाले दुष्प्रभावों से बच सकते हैं। कचरे को व्यर्थ में इधर-उधर डालने से या पॉलिथीन को जलाने से बहुत सी बीमारियों का खतरा होता है। जब हम कचरे को व्यर्थ में इधर-उधर डाल देते हैं तो कचरे से निकलने वाले कई तरह के बैक्टीरिया की वजह से हमें कई तरह की बीमारियां होने का खतरा होता है।

इसके अलावा यदि हम पॉलिथीन के कचरे को जला देते हैं तो भी उससे निकलने वाली हानिकारक गैस हमारे लिए, इस पृथ्वी पर उपस्थित जीव जंतुओं के लिए, सभी के लिए काफी खतरनाक साबित हो सकती है इसलिए आजकल पॉलिथीन बैग पर भी सरकार के द्वारा बैन लगा दी गई है।

हम सभी को कचरे से होने वाले नुकसान के बारे में जानना चाहिए। जब कचरा घर में या घर के बाहर एकत्रित रहता है तो जाहिर सी बात है हमारा किसी भी कामकाज में मन भी नहीं लगता और दुर्गंध भी उस कचरे से आती रहती है और हम अपने कार्यों को ठीक तरह से नहीं कर पाते।

आजकल हम देखें तो कोरोनावायरस तेजी से फैला हुआ है, कोरोनावायरस की वजह से कुछ महीने तो हम सबके घर में ही बीते हैं कोरोनावायरस से बचने की बहुत ज्यादा जरूरत है और सावधानी भी रखने की जरूरत है। कोरोनावायरस एक तरह से कई तरह के हानिकारक पदार्थ या अस्वच्छता की वजह से ही फेल रहा रहा है।

यदि हम स्वच्छता की ओर ध्यान दें और अपने आसपास कचरा ना एकत्रित करें, अपने हाथों की सफाई भी रखें तो वास्तव में हम कई तरह के दुष्प्रभावों से बच सकते हैं और अपने जीवन को बेहतरीन ढंग से यापन कर सकते हैं।

दोस्तों मेरे द्वारा लिखा यह आर्टिकल Garbage problem essay in hindi आप अपने दोस्तों में शेयर करें और हमें सब्सक्राइब करें धन्यवाद।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *