विश्व बंधुत्व पर निबंध Essay on vishwa bandhutva in hindi

Essay on vishwa bandhutva in hindi

दोस्तों आज हम सभी को विश्व बंधुत्व के विषय में जानने की जरूरत है क्योंकि यह सबसे बड़ा मुद्दा है, विश्व के हम सभी नागरिकों के लिए इसको समझना जरूरी है। जब तक हम किसी चीज को समझ नहीं लेते, जान नहीं लेते तब तक हमारा विकास नहीं हो सकता ।

विश्व बंधुत्व की हम सभी को बहुत आवश्यकता है और हम सभी को मिलकर एक साथ इस बात को आगे बढ़ाना चाहिए जिससे हम सभी मिलकर विश्व का विकास कर सके क्योंकि हम सभी मिलकर नया विश्व बना सकते हैं । विश्व में जनसंख्या का घनत्व बढ़ता जा रहा है ,जनसंख्या के बढ़ते इस समाज को साथ मिलकर भलाई के कार्य करने होंगे।

Essay on vishwa bandhutva in hindi
Essay on vishwa bandhutva in hindi

image source-https://pxhere.com/en/photo/1426923

हमारे देश को ही नहीं बल्कि पूरे विश्व को इसकी आवश्यकता है। सबका साथ सबका विकास हम सभी को इस पर अध्ययन करना चाहिए और हम सभी को मिलकर छोटे बच्चों को बाल्य अवस्था मैं ही सिखाना पड़ेगा की एक साथ चलने से, एक साथ सोचने से इस दुनिया का कितना विकास हो सकता है । जब कोई टीम मिलकर अच्छे कार्य करती है औऱ सभी के विचारों को सुनकर कार्य करती हैं तो वह कार्य हमेशा सफलता की ओर बढ़ता है, वह कार्य कभी असफल नहीं होता।

जब तक हम सभी एकता की ओर नहीं बढ़ेंगे तब तक सभी देशों के बीच की दूरियां कभी खत्म नहीं होंगी बल्कि और दूरियां उत्पन्न होती रहेंगी, जिसके कारण युद्ध का खतरा सभी देशों पर मंडराता रहेगा क्योंकि हम सभी को एकता की ताकत का अंदाज भी नहीं है। एकता में जो ताकत होती है वह इतनी मजबूत होती है, जिससे कि हम कोई भी कार्य आसानी से कर सकते हैं ।

आज पूरे संसार को सत्य अहिंसा के रास्ते पर चलने की आवश्यकता है ,जब तक हम सत्य और अहिंसा के रास्ते पर चलने का प्रयास नहीं करेंगे तब तक शांति का संदेश पूरे विश्व को नहीं दे सकते , तब तक हम पूरे संसार को भी बदल नहीं सकते और तब तक हम अपने आप को भी नहीं बदल सकते।

सबसे बड़ा उदाहरण में आपको बता दूं कुछ देश अपने पड़ोसी देशों से परेशान है और युद्ध करना चाहता हैं।वह देश यह नहीं समझते कि युद्ध किसी समस्या का समाधान नहीं होता । उनके मस्तिष्क में यही बात होती है कि, सामने बाले से युद्ध करके अगर हम जीत गए तो उस देश को हम गुलाम बनाकर उस पर राज कर सकते हैं लेकिन सबसे बड़ी जीत युद्ध को जीतकर नहीं सामने वाले के दिल को जीत कर होती है ।अगर विश्व बंधुत्व का पाठ हम सभी सीखकर इसका प्रचार करे और सभी को सिखाये तो हम इस पर जीत हासिल कर सकते हैं। हम सभी मिलकर पूरे विश्व को एकता के बंधन में बांध सकते हैं।

विश्व बंधुत्व के बारे में आज हम सभी को मिलकर सीखना चाहिए और लोगों को जागरूक करना चाहिए जब हमारे घर में छोटे बच्चे होते हैं उन बच्चों को जो भी हम सिखाते हैं वह बच्चे वही सीखकर अपने जीवन में आगे बढ़कर उन आदर्शों का पालन करते हैं या फिर हम सभी अपने बच्चों को बचपन से ही विश्व बंधुत्व के बारे में और एकता के बारे में समझाएं तो बच्चे बचपन से ही विश्व शांति के बारे में जानेंगे , जिससे वह देश के हित में और विश्व के हित में अच्छे कार्य करेंगे । जिससे पूरा विश्व शांति की ओर बढ़ेगा और हमारे देश का भी नाम रोशन होगा.

महात्मा गांधी भी कहते थे की सत्य अहिंसा परमो धर्म व्यक्ति को हमेशा सत्य के रास्ते पर चलते रहना चाहिए, अहिंसा के रास्ते पर भी चलना चाहिए।

जिस प्रकार सभी देशों ने मिलकर संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना की ,उसी प्रकार हम सभी को एक साथ मिलकर संयुक्त राष्ट्र संघ का साथ देना चाहिए जिससे विश्व में शांति का विकास हो और पूरा संसार सुख का अनुभव कर सके। संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना करने का उद्देश्य था विश्व में शांति बनी रहे और युद्ध जैसे फैसलों पर विचार विमर्श किए जा सके और युद्ध को रोककर शांति से जो विवाद है उसका शांतिपूर्वक फैसला लिया जा सके ।

vishwa bandhuta vartman yug ki mang hindi nibandh

वर्तमान में विश्व बंधुत्व को समझना आवश्यकता है क्योंकि ज्यादातर लोग अपनी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए दूसरे का फायदा उठाकर उसको नुकसान पहुंचा कर अपना भला करते हैं। कई देश अपने देश की भलाई के लिए दूसरे देश पर आक्रमण कर देते हैं जिससे कई जिंदगी बर्बाद हो जाती हैं ।अपनी खुशी के लिए किसी को दुख देना अच्छी बात नहीं है ।

जो व्यक्ति अपनी खुशी के लिए दूसरे को नुकसान पहुंचा कर अपने परिवार को खुश रखता है वह गलत है और जो व्यक्ति अपने साथ साथ दूसरों को भी खुशी देता है वह व्यक्ति इंसान होता है क्योंकि जब तक हर व्यक्ति के अंदर इंसानियत नहीं जन्म लेगी तब तक इस संसार का उद्धार नहीं हो सकता।

वर्तमान में हम सभी को एक साथ आगे बढ़ना होगा क्योंकि जनसंख्या बहुत ज्यादा बढ़ रही है। इस बढ़ती आबादी के कारण हम सभी को मिलकर साथ में अच्छे काम करने होंगे । जिससे हम सभी मिलकर इस संसार का भला कर सके और हम सभी मिलकर एक अच्छी जिंदगी जी सकें, हमको विश्व के विकास के लिए एक जैसी ही मानसिकता रखनी होगी एक साथ चलना होगा । जिससे पूरे संसार का भला हो सके और हमारे बच्चे अच्छी जिंदगी जी सकें और संसार में विश्व वन्धुत्व की भावना बनी रहे.

हमे बताये की ये पोस्ट Essay on vishwa bandhutva in hindi आपको केसी लगी.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *